ब्रेकिंग न्यूज़
  • गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में सख्त पहरा, बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था
  • 10वीं की परीक्षाएं 15 अप्रैल और 12वीं की 3 मई से, पहली बार अपने ही स्कूल में पर्चे हल करेंगे छात्र
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मना रहा देश, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने किया याद

खबरें अब तक

  • सिरफिरे आशिक ने प्रेमिका से शादी करने के लिए किया ये काम

    सिरफिरे आशिक ने प्रेमिका से शादी करने के लिए किया ये काम

    उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में एक सिरफिरे आशिक ने छह साल की बच्ची का इसलिए अपहरण कर लिया ताकि परिवार पर उनकी बड़ी बेटी से शादी करने का दबाव डाल सके। सिरफिरे ने जिस अंदाज में धमकी दी है, उससे परिजनों के साथ ही पुलिस को भी बच्ची की जिंदगी खतरे में लग रही है। पीड़ित परिजनों की शिकायत पर अपहरण का मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी गई है।

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शिकोहाबाद थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले नगला सेंदलाल गांव में मंगलवार को 6 साल की हिमांशी अपनी बड़ी बहन के साथ गांव के बाहर बने मकान में गई थी। रास्ते से हिमांशी संदिग्ध हालात में लापता हो गई। परिजनों को इसका पता तब लगा, जब उन्होंने घर के बाहर अपहरणकर्ता की ओर से लगाया गया पोस्टर देखा। पोस्टर में धमकी दी गई थी कि बच्ची को सुरक्षित चाहते हो तो घर की बड़ी बेटी से शादी करानी होगी।

    पोस्टर देख सकते में आए परिजनों ने जब बच्ची की तलाश की तो कहीं नहीं मिली। इस पर तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जानने का प्रयास किया कि क्या बच्ची के परिजनों में से कोई जानता है कि यह वारदात किसने अंजाम दी होगी। बहरहाल अभी तक एकतरफा प्यार का ही मामला बताया जा रहा है। पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर बच्ची की तलाश शुरू कर दी है। संबंधित पुलिस का कहना है कि बच्ची की जल्द सकुशल बरामदगी सुनिश्चित कराई जाएगी।

    और भी...

  • नाबालिग के प्राइवेट पार्ट के जरिए कंप्रेशर से पेट में भरी हवा, जानिए क्या है पुरा मामला

    नाबालिग के प्राइवेट पार्ट के जरिए कंप्रेशर से पेट में भरी हवा, जानिए क्या है पुरा मामला

    देश के अलग-अलग हिस्सों से आये दिन महिलाओं और लड़कियों के साथ बलात्कार की घटनाएं सामने आ रही हैं। सख्त कानून होने के बाद भी अपराध की घटनाएं थम नहीं रही हैं। इसी बीच एक चौकानें वाला भी मामला सामने आया है। उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में एक नाबालिग के प्राइवेट पार्ट में हाव भर दी गई। जिस कारण उसकी मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गांव के ही तीन लोगों ने मजाक-मजाक में कंप्रेशर से नाबालिग के प्राइवेट पार्ट के जरिए पेट में हवा भर दी।

    इसके बाद वे बेहोश हो गया और उसके पेट भी फूल गया। जिसके बाद नाबालिग को कोई देर न करते हुए अस्पताल लेकर जाया गया, जहां आंत फटने से उसकी मौत हो गई। मृतक नाबालिग एक राइस मिल पर काम करता था। इस मामले के संबंध में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जबकि अन्य आरोपी फरार हो गए। पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है। बताया जा रहा है कि यह मामला पीलीभीत जिले के पूरनपुर कोतवाली के गुरुनानक राइस मिल का बताया जा है।

    कक्षा 9 में पढ़ता था छात्र

    रिपोर्ट के अनुसार, 4 मार्च को राइस मिल में कक्षा 9 में पढ़ने वाला नाबालिग छात्र काम करने आया था। वह घर के खर्च में हाथ बंटाने के लिए पिता की जगह राइस मिल पर मजदूरी के लिए गया था।

    इसी मिल में उसके गांव के तीन युवक भी काम करते थे। लंच के बाद इनके बीच हंसी मजाक शुरू हो गया। इसी बीच दो लोगों ने नाबालिग को पकड़ लिया और तीसर ने प्राइवेट पार्ट के जरिए उसके पेट में कंप्रेशर से हवा भर दी। जिसके बाद आंत फटने से नाबालिग की मौत हो गई।

    इसके बाद नाबालिग के पिता पिता घनश्याम ने इस मामले की शिकायत पुलिस में की। पिता की शियाकत के आधार पर पुलिस ने मिल में काम करने वाले अमित, सूरज और कमलेश के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। सोमवार को पुलिस ने एक आरोपी कमलेश को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी दो अन्य आरोपियों की पुलिस के द्वारा तलाश की जा रही है।

    और भी...

  • बाइक सवार को बचाने के लिए जब कार चालक ने लगाया ब्रेक, तब हुआ बड़ा हादसा

    बाइक सवार को बचाने के लिए जब कार चालक ने लगाया ब्रेक, तब हुआ बड़ा हादसा

    भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा के गुलाबपुरा थाना क्षेत्र में सोमवार देर रात एक दर्दनाक हादसे की खबर सामने आई है। यहां देर रात अनियंत्रित हो चुका कंटेनर ट्रक कार में जा घुसा जिसकी वजह से तीन महिलाओं की दर्दनाक मौत हो गई जबकि छह अन्य की घायल होने की खबर है जिन्हें बिजयनगर चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। यह हादसा इतना खतरनाक थी कि इसकी आवाज से आसपास के लोगों में दहशत फैल गई। वहीं कार के परखचे उड़ गए।

    जानकारी के अनुसार भीलवाड़ा-अजमेर जिले की सीमा के मध्य स्थित खारी नदी की पुलिया पर भीलवाड़ा जिले के हिस्से में सोमवार मध्य रात्रि को अजमेर से भीलवाड़ा की तरफ आ रही कार ने बाइक सवार को बचाने के प्रयास में कार को अचानक ब्रेक लगाए, इसी दौरान पीछे से तेज गति में आ रहे कंटेनर ट्रक अपनी गति को नियंत्रित नहीं कर सका और कार को पीछे से टक्कर मार दी। दुर्घटना भीषण होने से कार के पीछे के हिस्से के परखच् चे उड़ गए। घटना में कार में सवार 9 लोगों में से 2 महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि छह अन्य गंभीर घायल हो गए। घटना की सूचना पर गुलाबपुरा पुलिस मौके पर पहुंची। क्षतिग्रस्त कार में फंसे शवों व घायलों को बाहर निकाला। घायलों को उपचार के लिए बिजयनगर चिकित्सालय ले जाया गया, जहां उपचार के दौरान एक और महिला की मौत हो गई। एक पुरुष व दो महिलाएं को गंभीर हालत में भीलवाड़ा रैफर किया गया।

    बाल बाल बचे एक से तीन वर्ष की आयु के बच्चे

    कार में सवार एक वर्ष व तीन वर्ष की आयु के बच्चे बाल बाल बच गए। पुलिस के अनुसार कार सवार सभी मूलत: करेड़ा निवासी है। घटना में मृत महिलाओं का एक शव विजयनगर व दो महिलाओं के शवों को गुलाबपुरा चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया गया है।

    और भी...

  • चलती कार में दर्जनों लोगों ने की दरिंदगी, वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर किया वायरल

    चलती कार में दर्जनों लोगों ने की दरिंदगी, वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर किया वायरल

    जयपुर। बलात्कार जैसी घिनौनी घटना के लिए बदनाम हो चुके राजस्थान से एक और सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां दरिंदगी की ऐसी घटना सामने आई जिसे सुनकर आपके भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे। यहां एक युवती के साथ दर्जनभर लोगों ने गैंगरेप किया। यहीं नहीं इन दरिंदों ने रेप कर इसका वीडिया भी बनाया और वायरल भी कर दिया। दो राज्यों से जुड़े इस मामले में पहले काफी मुश्किलें आईं लेकिन आखिरकार पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को पकड़ लिया।

    पुलिस के मुताबिक पहले वीडियो यूपी में वायरल हुआ और इसके बाद तहकीकात शुरू हुई। फिर जांच में पता चला कि घटना जयपुर की है। अपराधियों और युवती की बोली के जरिए पुलिस मामले को सुलझा पाई। इसके बाद एक विशेष टीम का गठन किया गया। पीड़िता ने जयपुर के मानसरोवर थाने में मुकदमा दर्ज कराया है।

    सोशल मीडिया के जरिए हुई दोस्ती

    पीड़िता ने जो मुकदमा दर्ज किया है उसके अनुसार वह सोशल मीडिया के जरिए एक लड़के के संपर्क में आई थी। उन दोनों में दोस्ती हुई और उसने उसे जयपुर बुला लिया। पीड़िता मानसरोवर के एक होटल में रुकी। इसके बाद युवक ने उसे अजमेर रोड पर बुलाया. यहां से वह उसे अपने साथ ले गया। इस दौरान कार में उसने अन्य लोगों को भी बैठा लिया। अलग-अलग तीन कारों में सवार करीब दर्जनभर लोगों ने इस दौरान पीड़िता के साथ गैंगरेप किया। इसके साथ ही इस घटना का वीडियो भी बना लिया। इसके बाद उसे छोड़ कर सभी फरार हो गए। फिर वीडियो के बल पर उसे धमकी देने लगे।

    गिरोह के तौर पर काम करते हैं अपराधी

    पुलिस का कहना है कि अपराधी गिरोह के तौर पर काम करते हैं। पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इससे पहले इस गैंग ने और किस-किस को शिकार बनाया है। बहरहाल पुलिस ने जयपुर, इंदौर सहित कई स्थानों पर छापे मार कर तीन आरोपियों को पकड़ा है। बाकी के आरोपियों की तलाश चल रही है।

    और भी...

  • अपनी जान की बाजी लगाकर बदमाशों से भिड़ने वाली वसुंधरा चौहान बनेंगी पुलिस उपनिरीक्षक

    अपनी जान की बाजी लगाकर बदमाशों से भिड़ने वाली वसुंधरा चौहान बनेंगी पुलिस उपनिरीक्षक

    जयपुर। देश में अब महिलाएं अपनी रक्षा करने के लिए किसी पर निर्भर नहीं हैं। इसकी जीती जागती मिसाल हम आपको बताने जा रहे हैं। राजस्थान सरकार ने धौलपुर की युवती वसुंधरा चौहान को पुलिस उपनिरीक्षक पद पर सीधी भर्ती देने का निर्णय किया है जो पिछले दिनों अपनी जान की बाजी लगाकर बस में अपराधियों से भिड़ गयी थी। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर वसुंधरा के साहस की प्रशंसा करते हुए उसकी नियुक्ति को मंजूरी दी।

    उल्लेखनीय है कि तीन मार्च को चार पुलिसकर्मियों का एक दल उम्रकैद की सजा भुगत रहे अपराधी धर्मेन्द्र उर्फ लुक्का को धौलपुर में पेशी के बाद रोडवेज बस से भरतपुर की सेवर जेल ले जा रहा था। रास्ते में पांच हथियारबंद बदमाश बस रूकवाकर उसमें सवार हो गए और पुलिसकर्मियों की आंखों में मिर्च पाउडर फेंक कर उनसे हथियार छीनने लगे। इन बदमाशों में से एक ने देशी कट्टे से गोली चलाकर यात्रियों को डरा दिया। इसी दौरान बस में सवार वसुंधरा और आरएसी जवान कमर सिंह जान की परवाह किए बगैर अपराधियों से भिड़ गए। अंत में बस यात्रियों तथा पुलिसकर्मियों की मदद से हालात काबू में आए।

    राज्य सरकार ने आरएसी कांस्टेबल कमर सिंह को हेड कांस्टेबल के पद पर पदोन्नति तथा वसुन्धरा को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित कर चुकी है। धौलपुर की शिवनगर कॉलोनी निवासी 25 वर्षीय वसुन्धरा ने एनसीसी निदेशालय से 'सी' सर्टिफिकेट प्राप्त किया हुआ है और वह क्रिमिनोलॉजी विषय सहित समाज विज्ञान में एमए उत्तीर्ण है। पुलिस अधीनस्थ सेवा नियमों में उप निरीक्षक की सीधी भर्ती के लिए एनसीसी के 'सी' सर्टिफिकेट धारक तथा क्रिमिनोलॉजी में डिग्री प्राप्त अभ्यर्थी को साक्षात्कार में प्राथमिकता देने का प्रावधान है। हालांकि नियुक्ति के लिए उसे राजस्थान पुलिस अधीनस्थ सेवा नियम 1989 के नियम 17 (2) (ए) के तहत आयु, शैक्षणिक योग्यता, शारीरिक दक्षता, मेडिकल फिटनेस एवं चरित्र सत्यापन की अर्हता को पूरा करना होगा।

    और भी...

  • आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 'मैत्री सेतु' का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

    आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 'मैत्री सेतु' का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 'मैत्री सेतु' पुल का उद्घाटन करेंगे। इस बात की जानकारी खुद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर दी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसके अलावा पीएम मोदी त्रिपुरा में कई अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी करेंगे।

    पीएमओ के मुताबिक, पीएम मोदी 9 मार्च (मंगलवार) को दोपहर 12 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारत-बांग्लादेश के बीच बने 'मैत्री सेतु' का उद्घाटन करेंगे। इस सेतु को फेनी नदी पर बनाया गया है। फेनी नदी त्रिपुरा में भारत-बांग्लादेश बॉर्डर पर बहती है। पीएमओ की ओर से जारी बयान के मुताबिक, 'मैत्री सेतु' भारत और बांग्लादेश के बीच बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों और मैत्रीपूर्ण संबंधों का प्रतीक है।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, 'मैत्री सेतु' पुल का निर्माण 133 करोड़ रुपये की लागत से नेशनल हाइवे और बुनियादी ढांचा विकास निगम लिमिटेड द्वारा किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, 1.9 किलोमीटर लंबे इस पुल का निर्माण साल 2017 में शुरू किया गया था और 2020 में पूरा होना था, लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसमें देरी हुई।

    और भी...

  • आज दिल्ली विधानसभा में बजट पेश करेंगे वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया, जानिए कैसा होगा ये बजट

    आज दिल्ली विधानसभा में बजट पेश करेंगे वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया, जानिए कैसा होगा ये बजट

    दिल्ली सरकार के वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने आज विधानसभा में बजट पेश करेंगे। दिल्ली सरकार बजट का ज्यादातर हिस्सा शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था पर खर्च कर रही हैं। सूत्रों के मुताबिक, इस बजट में देशभक्ति को बढ़ावा देने वाले उत्सवों के आयोजन का प्रावधान किया जाएगा। दिल्ली विधानसभा में मंगलवार को पेश किए जाने वाला बजट इस बार खास होगा। सूत्रों का कहना है कि यह दिल्ली का अबतक का सबसे बड़ा बजट होगा और इस बार एक नया कॉन्सेप्ट लागू होगा।

    इस बार के बजट में देशभक्ति की झलक होगी। आपको बता दें कि कोरोना महामारी में दिल्ली में लोगों की आमदनी में काफी गिरावट आई और वित्त वर्ष 2020-21 में प्रति व्यक्ति आय में 35,139 रुपये कटौती का अनुमान है। सोमवार को दिल्ली विधानसभा में पेश इकनॉमिक सर्वे के मुताबिक, 2020-21 में दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय 3,54,004 रुपये रह गई है। वहीं, 2019-20 में यह 3,89,143 रुपये थी।

    बजट को लेकर विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने कहा है कि दिल्ली के युवाओं के लिए फ्री वाई-फाई सुविधा मुहैया कराई जाए। सरकार बेरोजगारी भत्ते की घोषणा करे और युवाओं पर बढ़ते आर्थिक दवाब को कम करने के लिए महंगाई भत्ता दे। पिछले छह साल से पेंडिंग पड़े 11 लाख परिवारों को राशन कार्ड जारी किया जाए और इन्हें मुफ्त राशन मुहैया कराया जाए जिससे महंगाई के इस दौर में ये लोग अपना पेट भर सकें।

    और भी...

  • पुलिस ने किया सेक्स रैकेट के कारोबार का पर्दाफाश, चार महिलाओं को कराया गया मुक्त

    पुलिस ने किया सेक्स रैकेट के कारोबार का पर्दाफाश, चार महिलाओं को कराया गया मुक्त

    बिहार शरीफ के कागजी मोहल्ला में बिहार पुलिस की ओर से बड़ी कार्रवाई की गई है। जिसके तहत पुलिस ने कागजी मोहल्ला में संचालित हो रहे देह व्यापार धंधे का पर्दाफाश किया है। जानकारी के अनुसार इस कार्रवाई के दौरान पुलिस ने इस सेक्स रैकेट के कारोबार में लिप्त चार महिलाओं को भी मुक्त करवाया है। पुलिस ने देह व्यापार धंधा संचालक एवं मकान मालिक उमेश कुमार को मौके पर ही धर दबोचा है। इस जगह से पुलिस ने कई आपत्तिजनक चीजें जब्त की हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सदर डीएसपी डॉ. शिब्ली नोमानी की अगुवाई में पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है।

    पुलिस अधिकारी ने बताया कि एक गुप्त सूचना के आधार पर बिहार शरीफ के कागजी मोहल्ला में यह छापेमारी की काईवाई की गई है। पुलिस ने घटनास्थल पर मिली आपत्तिजनक चीजों को जब्त कर लिया है। कागजी मोहल्ला स्थित एक मकान के दूसरे तल पर सेक्स रैकेट का धंधा संचालित किया जा रहा था। मकान मालिक उमेश कुमार ही इस धंधे का संचालक बताया जा रहा है। उमेश कुमार स्वयं को मेडिकल रिप्रजेंटेटिव एवं मेडिकल सप्लायर बताता है। यहां से अलग-अलग जगहों की रहने वाली 4 महिलाओं को मुक्त कराया गया है। पुलिस इन महिलाओं से भी मामले के संबंध में पूछताछ कर रही है। मकान के जिस दूसरे तल्ले पर यह देह व्यापार धंधा चल रहा था। उस तल्ले को सील कर दिया गया है।

    बताया जा रहा है कि आरोपी उमेश कुमार ने आस पास रहने वाले लोगों पर अपनी धौंस कायम करने के लिए अपने घर के बाहर डॉ. उमेश के नाम की प्‍लेट चस्पा कर रखी थी। पुलिस की ओर से मोरल ट्रैफिकिंग एक्ट के तहत इस दो मंजिला घर को सील करने की कार्यवाही की गई है। पुलिस जानकारी के अनुसार आरोपी उमेश कुमार कई साल बिहार शरीफ के कागजी मोहल्ला में देह व्यापार का धंधा संचालित कर रहा था। उमेश कुमार के घर से पुलिस को सेक्स वर्धक दवाइयां, ग्राहकों के फोन नंबर की लिस्ट समेत कई अन्‍य आपत्तिजनक सामान मिले हैं।

    जानकारी यह भी है कि पुलिस टीम को ग्राहकों की लिस्ट में से कई सफेदपोशों के नंबर भी हासिल हुए हैं। सेक्स रैकेट संचालक के मकान में पांच दरवाजे हैं। जैसे ही वहीं मौजूद कई लोगों को वहां पुलिस आने की भनक लगी तो वे इन्हीं दरवाजों का फायदा उठाकर वहां से फरार हो गए।

    और भी...

  • गृह मंत्री बठेना पहुंचकर एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु की घटना का लिया जायजा

    गृह मंत्री बठेना पहुंचकर एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु की घटना का लिया जायजा

    रायपुर। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू आज सुबह दुर्ग जिले के पाटन थाना क्षेत्र के ग्राम बठेना पहुंचकर एक ही परिवार के पांच लोगों की मृत्यु की घटना का जायजा लिया और पुलिस विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को गंभीरता से घटना की जांच के निर्देश दिए। मंत्री साहू ने घटना वाले मकान के कमरे से लेकर जले हुए पैरावट तक का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ पुलिस अधीक्षक दुर्ग प्रशांत ठाकुर सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

    उन्होंने इंटेलिजेंस टीम बनाकर घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इस संबंध में आई.जी. इंटेलिजेंस से भी बात की है। गृहमंत्री ने एक-एक स्पॉट को ध्यान से देखा और इस संबंध में अधिकारी से बात की। उन्होंने जिस मकान में परिवार रहता था, उसका पूरा जायजा लिया। फिर घटना को लेकर गंभीरता से जांच करने के निर्देश अधिकारियों को दिए और जल्द से जल्द कार्रवाई करने के लिए कहा है।

    और भी...

  • दो दर्जन वारदातों में शामिल रहा बदमाश गिरफ्तार, मुठभेड़ में आरोपी के दोनों पैरों में लगी गोली

    दो दर्जन वारदातों में शामिल रहा बदमाश गिरफ्तार, मुठभेड़ में आरोपी के दोनों पैरों में लगी गोली

    दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मुठभेड़ के बाद दो दर्जन वारदातों में शामिल रहे बदमाश को गिरफ्तार किया है। मुठभेड़ में आरोपी के दोनों पैरों में गोली लगी है। आरोपी पर काबू पाने के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उपचार के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गए आरोपी का नाम आकाश उर्फ चवन्नी (23) है।

    आरोपी सावित्री नगर मालवीय नगर का रहने वाला है। पुलिस की माने तो आरोपी रॉबरी और स्नेचिंग की 25 वारदातों में शामिल रहा है। आरोपी आकाश मालवीय नगर थाने का घोषित बदमाश भी है। पुलिस ने आरोपी के पास से एक पिस्टल और तीन कारतूस और एक बाइक बरामद किए है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

    डीसीपी (स्पेशल सेल) प्रमोद कुश्वाहा ने बताया कि एसीपी अत्तर सिंह की देखरेख में एक टीम बनाई गई। टीम में इंस्पेक्टर शिवकुमार और कर्मवीर सिंह व अन्य पुलिसकर्मी मौजूद रहें। टीम ने दो दर्जन मामलों में शामिल रहे आरोपी आकाश की गतिविधियों पर ध्यान रखा। शनिवार को टीम को गुप्त सूचना मिली कि आरोपी बाइक पर चिल्ड्रन पार्क और लाडो सराय के पास आने वाला है।

    सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अपना जाल बिछा लिया और आरोपी के आने का इंतजार करने लगे। रात करीब 11:20 बजे आरोपी एमजी रोड की ओर से आया और लाडो सराय की तरफ जाने लगा। मुखवीर ने आरोपी की पहचान की। इस पर पुलिस ने आरोपी को रोककर उसे सरेंडर करने के लिए कहा। इतना कहते ही आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जबाबी कार्रवाई में उसके पैर में गोली लगी। इसके बाद पुलिस ने उसे दबोच लिया।

    दोनों ओर से चली चार गोलियां

    डीसीपी ने बताया कि सरेंडर करने की बात कहते ही आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। अपने बचाव के लिए पुलिस ने भी आरोपी पर गोलियां चलाई। दोनों ओर से चार गोलियां चली। पुलिस की गोली आरोपी के दोनों पैरों में लगी। गोली लगते ही वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी पर काबू पा लिया। तलाशी लेने पर पुलिस को आरोपी के पास से एक पिस्टल और तीन कारतूस मिले।

    तीन माह से दे रहा था वारदातों को अंजाम

    पूछताछ के दौरान आरोपी आकाश ने पुलिस को बताया कि वह अपने साथियों के संग मिलकर साउथ और साउथ ईस्ट दिल्ली में झपटमारी की वारदातों को अंजाम देता था। जांच में पुलिस को पता चला कि आरोपी पर पांच रॉबरी और तीन स्नेचिंग एवं दो चोरी, आर्म्स एक्ट व अन्य कई मामले दर्ज है।

    लूटी चेनों को बदरपुर में बेचता था आरोपी

    पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह स्नेचिंग करने के बाद दो लोगों की मदद से लूटी गई चेन को बदरपुर में ठिकाने लगा देता था। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर उसके सहयोगी व चेन ठिकाने लगाने वाले लोगों की तलाश कर रही है।

    लूटी चेनों को बदरपुर में बेचता था आरोपी

    पूछताछ के दौरान आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह स्नेचिंग करने के बाद दो लोगों की मदद से लूटी गई चेन को बदरपुर में ठिकाने लगा देता था। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर उसके सहयोगी व चेन ठिकाने लगाने वाले लोगों की तलाश कर रही है।

    और भी...

  • दो युवकों के झगड़े में बीच-बचाव करना दुकानदार को पड़ा भारी

    दो युवकों के झगड़े में बीच-बचाव करना दुकानदार को पड़ा भारी

    नई दिल्ली के खजूरी खास थाना इलाके में दो युवकों के बीच झगड़े में बीच बचाव कराना एक दुकानदार को भारी पड़ गया। एक युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर दुकानदार पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। गोलियां जमीन व एक ग्राहक की बाइक में लगी।

    वारदात के बाद तीनों आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने पोपींद्र (30) की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

    जानकारी के मुताबिक पोपींद्र शहादतपुर एक्सटेंशन खजूरी खास में सपरिवार रहते हैं। उनकी अपने मकान में भूतल पर किराने की दुकान है। गत चार मार्च को इलाके में रहने वाले ऋषिकेश व मनीष आपस में झगड़ रहे थे। इस पर पोपींद्र ने दोनों को बीच बीच-बचाव करा दिया। इस पर मनीष भड़क गया और वह पोपींद्र से झगड़ा करने लगा।

    शुक्रवार को मनीष अपने साथी राहुल व राही के साथ बाइक पर आया और पोपींद्र की दुकान पर पहुंचा। आते ही उन्होंने पिस्टल निकालकर पोपींद्र पर गोली चला दी। पोपींद्र नीचे झुक गया और गोली एक ग्राहक की बाइक में जाकर लगी। तभी राही भी पिस्टल निकाल कर फायरिंग करने लगा। आवाज सुनकर दुकानदार के परिजन व आसपास के लोग बाहर निकलें तो तीनों बाइक पर बैठकर भाग गए।

    और भी...

  • सिविल डिफेंसकर्मी की हत्या का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, सीसीटीवी फुटेज आया सामने

    सिविल डिफेंसकर्मी की हत्या का अब तक नहीं मिला कोई सुराग, सीसीटीवी फुटेज आया सामने

    नई दिल्ली के बवाना थाना इलाके में सिविल डिफेंसकर्मी शशि कादयान (22) की हत्या को 24 घंटे से अधिक हो चुके है। लेकिन पुलिस को आरोपियों के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है। घटना का सीसीटीवी भी सामने आया है। शुरूआती जांच के बाद पुलिस मामले को आपसी रंजिश मानकर जांच कर रही हैं।

    पुलिस सूत्रों का कहना है कि शशि की हत्या में गांव के ही किसी का हाथ हो सकता है। इसके अलावा यह भी बताया जा रहा है कि जिस तरह से शशि पर गोलियां बरसाई गई हैं। आशंका जताई जा रही है कि वारदात के पिछले आपराधिक गिरोह का हाथ हो सकता है। फिलहाल पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है।

    शशि के पिता राम किशन ने बताया कि शुक्रवार को दो अनजान व्यक्ति घर आए थे। उन्होंने शशि का दोस्त बता कर शशि के बारे में पूछा था। शशि के स्वजन का कहना है कि उनकी किसी के भी साथ दुश्मनी नहीं है।

    बता दें कि शनिवार सुबह कटेवड़ा गांव के जोगी वाला चौक के समीप शशि कादयान का गोली लगा शव पुलिस को मिला था। हमलावरों ने दर्जनभर गोलियां बरसा कर शशि को मौत के घाट उतारा था। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

    और भी...

  • जेल में बंद गैंगस्टरों के नाम पर करते थे जबरदस्ती वसूली, पुलिस ने किया गिरफ्तार

    जेल में बंद गैंगस्टरों के नाम पर करते थे जबरदस्ती वसूली, पुलिस ने किया गिरफ्तार

    नई दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने ऐसे दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है जोकि जेल में बंद बदमाशों के नाम पर रंगदारी मांगते थे। पकड़े गए आरोपियों के नाम आदिल (25) और मो. मोईन (26) है। पुलिस की माने तो आरोपियों ने हालही में दो कारोबारी से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से चार मोबाइल बरामद किए हैं। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही है।

    क्राइम ब्रांच अधिकारी के मुताबिक गत 13 फरवरी को शाहीनबाग थाने में एक बिजनेसमैन ने पुलिस को शिकायत दी। शिकायत में उसने पुलिस को बताया कि गत छह फरवरी को उसके पास एक फोन आया। कॉलर ने खुद को तिहाड़ जेल में बंद नीरज बवानिया गैंगस्टर बताया और उसने आगे कहा कि दो दिन के भीतर 50 लाख रुपए की व्यवस्था कर ले।

    गत 12 फरवरी को एक बार फिर फोन आया और रुपये न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। गत दो मार्च को पीड़ित के भाई के पास रंगदारी के लिए फोन आया। कॉलर ने खुद को तिहाड़ जेल में बंद हाशिम बाबा गैंगस्टर बताया। उनसे भी पचास लाख रुपयों की मांग की गई। बदमाशों के नाम पर मांगी गई रंगदारी से दोनों भाईयों के परिवार बुरी तरह डर गए थे। इसके बाद उन्होंने मामले की सूचना पुलिस को दी।

    यमुना विहार से पकड़े गए दोनों आरोपी पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई। टीम ने टेक्निकल सर्विलांस और मुखबिरों के जरिए आरोपियों के बारे में पता लगाया। इसी बीच पुलिस को पता चला कि दोनों आरोपी यमुना विहार में है। पुलिस ने गुप्त सूचना के बाद दोनों आरोपियों को यमुना विहार से पकड़ लिया। तलाशी लेने पर पुलिस को उनके पास से चार फोन मिले जिससे रंगदारी मांगी गई थी।

    पीड़ित को जानता था आरोपी आदिल पूछताछ के दौरान आरोपी आदिल ने पुलिस को बताया कि वह पीड़ित को पहले से जानता था। आदिल का पीड़ित से कोई पुराना विवाद था जिस कारण उसने बिजनेसमैन को सबक सीखाने के लिए रंगदारी मांगी थी। इस काम में उसने मोहम्मद मोईन को भी शामिल कर लिया। वारदात के लिए उन्होंने नए सिम कार्ड खरीदे। उन्होंने अपने पर्सनल फोन नंबर का प्रयोग नहीं किया।

    पीड़ित ने आदिल हो नहीं दी दिए थे पैसे पीड़ित का जींस बनाने का काम है। पीड़ित आदिल के पास जींस वाशिंग के लिए भेजता था। वॉशिंग के दौरान कुछ जींस आदिल से खराब हो गई थी। जिस कारण पीड़ित ने उसकी पेयमेंट नहीं दी थी। इसी का बदला लेने के लिए उसने वारदात को अंजाम दिया।

    और भी...

  • पेड़ से टकराई कार, सड़क हादसे में कार सवार 2 युवकों की मौत

    पेड़ से टकराई कार, सड़क हादसे में कार सवार 2 युवकों की मौत

    फतेहाबाद। शनिवार देर रात ढाणी छतरियां के पास हुए एक सड़क हादसे में कार सवार 2 युवकों की मौत हो गई, जबकि उनके पांच साथी घायल हो गए। मृतकों में एक युवक जनित खिचड़ इनसो की फतेहाबाद एमएम कॉलेज यूनिट का प्रधान था।

    बताया जा रहा है कि हादसे के शिकार हुए ये सभी युवक एक बारात से वापस लौट रहे थे। अचानक इनकी कार बेकाबू हो पेड़ जा टकराई। जैसे ही हादसे की खबर मिली शादी वाले घर में मातम छा गया। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंच गई और मृतकों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सूचना पाकर पुलिस ने भी आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। मृतकों की पहचान फतेहाबाद की अग्रवाल कॉलोनी निवासी जनित खिचड़ व गांव झलनियां निवासी 25 वर्षीय जतिन के रूप में हुई है।

    मिली जानकारी के अनुसार फतेहाबाद के साथ लगते गांव ढाणी ढाका में एक युवक की शादी थी। झलनियां का 25 वर्षीय जतिन व फतेहाबाद की अग्रवाल कॉलोनी निवासी 19 वर्षीय जनित अपने दोस्तों आकाशदीप, सागर, संजय, साहिल और एक अन्य युवक के साथ इस शादी समारोह में भाग लेने गए थे। बारात में शामिल होने के बाद शनिवार देर रात करीब 1 बजे जब वे कार में सवार होकर ढाणी ढाका से वापस फतेहाबाद शहर आ रहे थे तो रास्ते में ढाणी छतरियां के पास कार चालक कार से नियंत्रण खो बैठा और कार बेकाबू होकर सड़क किनारे पेड़ से जा टकराई और पलट गई। रात का समय होने के कारण कुछ देर बाद इस हादसे की सूचना मिली।

    घटना की सूचना मिलते ही फतेहाबाद से एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और कार में सवार सभी सात युवकों को बाहर निकालकर उन्हें उपचार के लिए नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया। झलनियां निवासी जतिन ने फतेहाबाद में ही दम तोड़ दिया जबकि अग्रवाल कॉलोनी निवासी जनित की गंभीर हालत होने पर चिकित्सकों ने उसे हिसार रेफर कर दिया लेकिन रास्ते में उसकी भी मौत हो गई। हादसे में घायल साहिल को उसके परिजन हिसार के निजी अस्प्ताल में ले गए। इसके अलावा आकाशदीप, सागर, संजय व एक अन्य युवक का फतेहाबाद के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है।

    और भी...

  • गैंगरेप पीड़िता नाबालिग को मिला न्याय, आरोपियों को सुनाई गई 30-30 साल कैद की सजा

    गैंगरेप पीड़िता नाबालिग को मिला न्याय, आरोपियों को सुनाई गई 30-30 साल कैद की सजा

    यूपी के बुलंदशहर में नाबालिग लड़की से गैंगरेप करने के दोनों आरोपियों को दोषी करार देते हुए 30-30 साल कैद की सजा सुनाई गई है। खास बात है कि अदालत ने केस की सुनवाई महज 52 दिन में पूरी कर दोषियों को सजा सुनाई। दोषियों पर 50-50 हजार रुपये की जुर्माना राशि भी लगाई गई है।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रामघाट थाना क्षेत्र के एक गांव में 11 जनवरी की शाम को 13 वर्षीय नाबालिगा के साथ गांव के ही दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया था। पुलिस को दी शिकायत में पीड़िता के पिता ने बताया था कि उनकी बेटी पड़ोस में पशु बंधवाने के लिए गई थी। इस दौरान गांव के ही वीरेश और गौतम ने उसे जबरन उठा लिया और झोपड़ी में ले जाकर उसके साथ गलत काम किया। पुलिस ने पिता की इस शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

    15 जनवरी को दोनों आरोपियों केा गिरफ्तार कर लिया गया और महज पांच दिन बाद 21 जनवरी को कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई। कोर्ट में 25 जनवरी से मामले की सुनवाई शुरू हुई और 52वें दिन कोर्ट ने दोनों आरोपियों को दोषी करार देकर 30-30 साल की सजा सुनाई। दोनों को 50-50 हजार रुपये की जुर्माना राशि भी भरनी होगी।

    बता दें कि करीब सात महीने पहले भी त्वरित न्याय का मामला सामने आया था। डिबाई क्षेत्र में 12 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म मामले में महज 83 दिनों में सुनवाई पूरी करते हुए आरोपी को दोषी पाकर 20 वर्ष सश्रम कारावास और 50 हजार रुपये जुर्माना की सजा सुनाई थी।

    और भी...