ब्रेकिंग न्यूज़
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान जैश का आतंकी ढेर
  • Delhi Air Pollution: दिल्ली में वायु प्रदूषण से मिली थोड़ी राहत, AQI में आई थोड़ी सी गिरावट
  • Breaking: गोवा में MiG-29K फाइटर एयरक्राफ्ट क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
  • भीमा कोरेगांव विवाद: पुणे कोर्ट से सभी आरोपियों को दिया बड़ा झटका, जमानत याचिका की खारिज
  • भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

मध्य प्रदेश

  • अब बंद नहीं होगी मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना : मंत्री पीसी शर्मा

    अब बंद नहीं होगी मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना : मंत्री पीसी शर्मा

    भोपाल। जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने तीर्थ दर्शन योजना को लेकर स्थिति की साफ कर दी है। तीर्थ दर्शन योजना को लेकर सियासत बढ़ने के बाद मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना बन्द नही होगी, यह योजना यथावत चलेगी। वहीं पूर्व सीएम शिवराज सिंह के योजना के बन्द होने के बयान पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा कि - मंत्री मैं हूँ या वो?

    हालांकि पीसी शर्मा ने यह भी बताया कि बच्चों के एग्जाम के चलते यह थोड़े दिनों के लिए स्थगित किया गया है। परीक्षा के बाद तीर्थ दर्शन योजना पहले की तरह चलेगी। बता दें कि बीते दिन मंत्री गोविंद सिंह ने कहा था कि तीर्थ दर्शन योजना बंद करके इसका पैसा अन्य कल्याणकारी योजनाओं में लगाया जाना चाहिए। जिसके बाद योजना को लेकर सियासत शुरू हो गई।

    और भी...

  • आखिर हैं कौन BJP मध्यप्रदेश के नए मुखिया वीडी शर्मा, पढ़िए उनसे जुड़ी 10 खास बातें...

    आखिर हैं कौन BJP मध्यप्रदेश के नए मुखिया वीडी शर्मा, पढ़िए उनसे जुड़ी 10 खास बातें...

    भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय नेतृत्व ने बिजेपी मध्यप्रदेश के मुखिया के रूप में सांसद वीडी शर्मा के नाम पर मुहर लगा दी है। वीडी शर्मा को ना केवल उनकी पार्टी के नेता बधाई दे रहे हैं, बल्कि अन्य पार्टियों के नेता भी उन्हें शुभकामनाएं दे रहे हैं। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत कई बड़े नेताओं ने शर्मा की नई जिम्मेदारी पाने के बाद उनके प्रति शुभकामनाएं व्यक्त की हैं।

    वीडी शर्मा से जुड़ी एसी 10 बातें, जिन्हें शायद कम लोग जानते होंगे, पढ़िए-

    • वीडी शर्मा का पूरा नाम विष्णुदत्त शर्मा है। उनके पिता का नाम अमर सिंह शर्मा है। उनका जन्म 1 अक्टूबर 1070 को हुआ था। वे मुरैना जिले के सुरजनपुर गांव के रहने वाले हैं।
    • वीडी शर्मा की प्रारंभिक शिक्षा सुरजनपुर गांव में हुई। हायर सेकंडरी एजुकेशन के लिए वे भोपाल पहुंचे। उच्च शिक्षा उन्होंने ग्वालियर और जबलपुर में पूरी की।
    • वीडी शर्मा खेल के प्रति गहरी रूचि रखते हैं। वेस्ट जोन इंटर यूनवर्सिटी वॉलीबॉल टूर्नामेंट में उन्होंने जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय का प्रतिनिधित्व किया। वे एनसीसी में सी तथा एनएसएस में बी सर्टीफिकेट प्राप्त हैं।
    • छात्र जीवन से ही सामाजिक रूप से सक्रिय रहने और युवाओं का नेतृत्व करने के कारण उन्हें कई प्रतिष्ठित संगठनों और संस्थाओं की तरफ से कई सम्मान प्राप्त हो चुके हैं।
    • वीडी शर्मा 1086 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़कर छात्र नेता के रूप में सक्रिय रहे। उन्होंने 2013 में भारतीय जनता पार्टी प्रवेश किया। 2014 के लोकसभा चुनाव के पहले वे झारखंड के संथाल इलाके में चुनाव प्रभारी बने। उन्होंने वहां के छह लोकसभा सीटों पर बतौर चुनाव प्रभारी कार्य किया।
    • झारखंड विधानसभा चुनाव में भी वे संथाल क्षेत्र के प्रभारी रहे। दिल्ली, बिहार, असम आदि के विधानसभा चुनावों में भी वे चुनाव प्रबंधन और संचालन के दायित्वों में सक्रिय रहे।
    • भ्रष्टाचार के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए उन्होंने 2012 में यूथ अगेन्स्ट करप्शन की स्थापना की। बड़ी संख्या में युवाओं को जोड़कर उन्होंने देश में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बूलंद की। 
    • दिल्ली एयरपोर्ट की जमीन घोटाले को लेकर उन्होंने युवाओं के साथ बालाघाट से गोंदिया तक पदयात्रा की। फलस्वरूप, मंत्री प्रफुल्ल पटेल पर एफआईआर दर्ज हुआ।
    • 13 अगस्त 2016 को वे मध्यप्रदेश भाजपा के प्रदेश महामंत्री बने। पार्टी के द्वारा दी गई इस जिम्मेदारी को उन्होंने बखूबी निभाया।
    • वीडी शर्मा इस समय लोकसभा सांसद हैं। 15 फरवरी 2020 को उन्हें भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है।

    और भी...

  • रेल सेफ्टी नियमों का उल्लंघन बनी हादसे की वजह!

    रेल सेफ्टी नियमों का उल्लंघन बनी हादसे की वजह!

    भोपाल। भोपाल स्टेशन में आज फुटओवर ब्रिज का हिस्सा गिरने से बड़ा हादसा हो गया है। जिसके पीछे रेल्वे की बड़ी लापरवाही को कारण माना जा रहा है। हालांकि इस संबंध में रेल मंत्रालय ने पहले ही फुट ओवरब्रिज की सुरक्षा से संबंधित निर्देश जारी किया था। दरअसल दो साल पहले सितंबर 2018 में मुंबई में एलीफेंट ब्रिज हादसे के बाद रेल मंत्रालय ने देशभर के रेलवे स्टेशनों पर फुट ओवरब्रिज के स्ट्रक्चरल ऑडिट के निर्देश दिए थे।

    रेल मंत्री पियूष गोयल और रेल बोर्ड के अध्यक्ष अस्वनी लोहानी ने मामले को गम्भीरता सर लिया था। कई जगह इसका पालन नहीं हुआ शायद यही कारण बना भोपाल में इस रेल हादसे का। रेल बोर्ड ने फुट ओबर ब्रिजों को पैसेंजर नीडस से हटाकर सेफ्टी खाते में डाला था ताकि इनका संधारण ठीक से हो।

    भोपाल रेल हादसा रेल सेफ्टी नियमो का उल्लंघन के कारण घटित होना माना जा रहा है। बताया जा रहा है कि स्लैब का परीक्षण ठीक से नही किया गया। और इसी चलते यह बड़ा हादसा हुआ है।

     

    और भी...

  • भोपाल रेलवे स्टेशन पर हुआ हादसा, फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा गिरने से मलबे में दबे कई लोग

    भोपाल रेलवे स्टेशन पर हुआ हादसा, फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा गिरने से मलबे में दबे कई लोग

    भोपाल। रेलवे स्टेशन भोपाल में बड़ा हादसा हो गया है। जहां फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा गिर गया। ब्रिज के सीढ़ियों का हिस्सा गिरने से कई यात्री घायल हो गए हैं। सभी घायलों को आनन फानन में ऑटो और एम्बुलेंस से हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां घायलों का ईलाज चल रहा है।

    घटनास्थल में राहत बचाव कार्य जारी है। फिलहाल मलबे में दबे 5 लोगों को रेस्क्यु कर लिया गया है। हादसा भोपाल रेल्वे स्टेशन के प्लेटफार्म क्र. 2 हुआ है। घटना के बाद से स्टेशन में यात्रियों में दहशत का माहौल देखा जा रहा है। लोग हादसे को रेल्वे की बड़ी लापरवाही करार दे रहे हैं। वहीं हादसे को लेकर दुख जताते हुए जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने जांच कराने की मांग की है।

    हादसे पर शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया-

    भोपाल रेलवे स्टेशन पर हुई दुर्घटना में दो लोगों की मौत होने का दुःखद समाचार मिला। ईश्वर से प्रार्थना करता हँ। कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति दें, उनके परिजनों को संबल प्रदान करें व घायलों को शीघ्र स्वस्थ करने की कृपा करें। मैं सरकार से मृतकों के परिजनों व घायलों को हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने की मांग करता हूँ।

     

    और भी...

  • पदोन्नति में आरक्षण को लेकर कांग्रेस करेगी आंदोलन, सीएम कमलनाथ ने भाजपा पर साधा निशाना

    पदोन्नति में आरक्षण को लेकर कांग्रेस करेगी आंदोलन, सीएम कमलनाथ ने भाजपा पर साधा निशाना

    भोपाल। मप्र में अब पदोन्नति में आरक्षण को लेकर सियासत शुरू होने जा रही है। कांग्रेस इस मुद्दे पर बैठक करेगी। आज बनी रणनीति के साथ पार्टी 15 फरवरी को इस मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी के द्वारा प्रदेश भर में आंदोलन किया जाएगा। सीएम कमलनाथ ने बयान जारी कर कहा है कि उनकी सरकार पदोन्नती में आरक्षण की पक्षधर है। मुख्यमंत्री ने उत्तराखंड सरकार के सुप्रीम कोर्ट में रखे गये पक्ष के आधार पर पूरी भाजपा को कटघरे में खड़ा किया है।

    सीएम कमलनाथ ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा आरक्षण खत्म करना चाहती है। पदोन्नति में आरक्षण का मामला सुप्रीम कोर्ट में होने के कारण मप्र में तीन साल से पदोन्नतियां नही हो पा रही हैं। पिछली सरकार ने इसके चलते आयु सीमा 60 से बढ़ाकर 62 कर दी थी मामला अभी भी नही सुलझा अब कांग्रेस सरकार भी आयु सीमा एक साल बढ़ने पर विचार कर रही है। साथ ही इसे मुद्दा बनाकर आन्दोलन् का प्लान सत्तारूढ़ पार्टी ने किया है।

    और भी...

  • नाले की सफाई को लेकर मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने नगरपालिका सीएमओ के छुए पैर, अधिकारी असहज

    नाले की सफाई को लेकर मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने नगरपालिका सीएमओ के छुए पैर, अधिकारी असहज

    भिण्ड। स्वच्छता को लेकर देशभर में बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन कई शहरों में स्वच्छता की स्थिति जस की तस बनी हुई है। ऐसा ही मामला नगर पालिका भिण्ड में सामने आया है। जहां गंदगी देखकर मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने फावड़ा उठा लिया और खुद ही सफाई करने लगे। दरअसल एक शादी समारोह से लौटते हुए मंत्री अचानक भिण्ड के राज होली मोहल्ले में पहुंचे थे।

    लेकिन इस दौरान अजीब स्थिति तब निर्मित जब सफाई कराने को लेकर मंत्री ने नगरपालिका सीएमओ के पैर छू लिया औऱ उनसे नाले की सफाई करने की मांग की। हालांकि इस दौरान सीएमओ सुरेंद्र शर्मा असहज हो गए। और जल्द सफाई की बात कही।

    और भी...

  • धार में फिर हुई मॉब लिंचिंग, भीड़ ने महिला को सरेआम लाठी डंडों से पीटा

    धार में फिर हुई मॉब लिंचिंग, भीड़ ने महिला को सरेआम लाठी डंडों से पीटा

    धार। मध्यप्रदेश में मॉब लिंचिंग का घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। धार जिले से फिर भीड़ का घिनौना रूप सामने आया है। आदिवासी महिला के साथ भीड़ ने लाठी डंडों से सरेआम मारपीट की है। जिसका एक विडियो वायरल हो रहा है।

    मामला धार जिले के नालछा जनपद पंचायत के भील तलवाड़ा गांव का बताया जा रहा है। मारपीट में धार मंडी उपाध्यक्ष कनीराम ओसारी भी शामिल है। यह घटना नालछा थाने की है। आपको बता दें कि धार जिले में 5 फरवरी मॉब लिंचिंग एक बड़ी घटना हो चुकी है। जिसमे एक व्यक्ति की मौत हो गई थी।

    और भी...

  • बीजेपी के बल्लामार विधायक आकाश विजयवर्गीय ने फिर दिया विवादित बयान, वीडियो वायरल

    बीजेपी के बल्लामार विधायक आकाश विजयवर्गीय ने फिर दिया विवादित बयान, वीडियो वायरल

    इंदौर। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय हमेशा अपने विवादित बयानों के कारण सुखियों में रहते है। हाल ही में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमे वो मंच से आपने पिता के समर्थक मनीष मामा के बारे में बोल रहे हैं। आकाश ने कहा कि मनीष मामा बहुत दबंग नेता हैं। उन्होंने कई SP और DSP को चांटे मारे हैं। आकाश ने कहा कि मनीष मामा बहुत खतरनाक नेता हैं। विधायक आकाश विजयवर्गीय का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

    बता दें कि बल्ला मार विधायक पहले भी कई ऊलजलूल बयान देकर पार्टी और अपने पिता को मुसीबत में डाल चुके हैं। हालिया बयान उन्होंने शहर के छावनी में हनुमान चालीसा के कार्यक्रम में दिया है।

    और भी...

  • CM कमलनाथ के मुंह चलाने वाले बयान पर BJP नेता नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार, कहा-ठीक कहते हैं कमलनाथ

    CM कमलनाथ के मुंह चलाने वाले बयान पर BJP नेता नरोत्तम मिश्रा ने किया पलटवार, कहा-ठीक कहते हैं कमलनाथ

    भोपाल। मुख्यमंत्री कमलनाथ के मुंह चलाने वाले बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कमलनाथ ठीक कहते हैं वो प्रदेश में मुँह चलाते हैं, और कुछ नहीं करते। उनकी सरकार ने कुछ नहीं किया। कर्ज माफ नही किया उसे मुँह चलाना कहते हैं, कमलनाथ सरकार ने प्रदेश लूट लिया है।

    उन्होंने कहा कि कर्मचारियों का भत्ता राज्य सरकार नहीं बढ़ाएगी, इनके पास आईफा करवाने के लिए पैसे हैं, कर्मचारियों के लिए नही। वहीं यूपीए सरकार में रहे इकोनॉमिस्ट मोंटेक सिंह आहलूवालिया के मध्य प्रदेश दौरे को लेकर नरोत्तम मिश्रा ने सवाल उठाए हैं। बीजेपी नेता ने कहा कि मोंटेक सिंह ने यूपीए सरकार के समय देश की अर्थव्यवस्था को डूबा दिया था। अब फिर से मध्यप्रदेश की अर्थव्यवस्था को डुबाने के लिए सरकार उन्हें निमंत्रण दे रही है।

    और भी...

  • मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा, रेप के मामले में किए गए थे गिरफ्त

    मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने सुनाई उम्रकैद की सजा, रेप के मामले में किए गए थे गिरफ्त

    राजस्थान कोर्ट ने दो भाईयों को रेप और अपहरण के मामले में दोषी करार दिया है। देश में हर रोज ऐसी ही कई रेप की घटनाओॆ का अंजाम दिया जाता है। सिर्फ 2012 में 24923 रेप की रिपोर्ट्स दर्ज की गई थी। 2015 के डाटा के अनुसार भारत में सबसे ज्यादा रेप की घटना मध्यप्रदेश में दर्ज की गई है। वहीं अगर सिर्फ नाबालिगों के रेप की घटना पर गौर करें तो हर साल 7200 से ज्यादा रेप के केस दर्ज किए जाते हैं। साथ ही कई रेप के केस शर्म या अन्य कारणों से दर्ज ही नहीं हो पाते हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्‍यूरो के 2006 के रिपोर्ट के अनुसार 71 प्रतिशत रेप केसों को दर्ज ही नहीं किया जाता।

    राजस्थान में ऐसा ही एक रेप का केस सामने आया है। नाबालिग के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में मध्यप्रदेश के दो भाइयों को राजस्थान कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। स्पेशल सरकारी वकील विजय कछवा ने बताया है कि जितेंद्र और उसके भाई धीरज को पॉक्सो अदालत ने आईपीसी और पॉक्सो धाराओं के अन्तर्गत दोषी करार दिया है।

    क्या था मामला

    25 अक्टूबर 2014 को दो भाईयों ने मिलकर एक नाबालिग लड़की का अपहरण किया था। अपहरण के बाद दस दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया था। जिसकी साजिश इन दोनो भाईयों की मां भंवरी बाई ने की थी।

    कोर्ट का फैसला

    जितेंद्र और उसके भाई धीरज पर आईपीसी और पॉक्सो अधिनियम की धाराएं लगाई गई है। जिसके अन्तर्गत कोर्ट ने उन दोनों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। दोनों भाईयों को कोर्ट ने 56 हजार रुपये जुर्माने के तौर पर देने का भी आदेश सुनाया है। वहीं उन दोनों की मां को कोर्ट ने बरी कर दिया है।

     

    और भी...

  • कोरोना वाइरस संदिग्ध को अस्पताल से मिली छुट्टी, डॉक्टरों ने युवक को माना स्वस्थ

    कोरोना वाइरस संदिग्ध को अस्पताल से मिली छुट्टी, डॉक्टरों ने युवक को माना स्वस्थ

    जबलपुर। कोरोना वाइरस संदिग्ध को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। संदिग्ध मरीज को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइड लाइन के अनुसार छुट्टी मिली है। स्थानीय चिकित्सकों ने युवक पूरी तरह से स्वस्थ माना और उसे छुट्टी दे दी गई। हालांकि पूणे वायरोलॉजी लैब से अभी तक युवक की ब्लड टेस्ट रिपोर्ट नहीं आई है। बता दें कि जबलपुर के कैन्ट क्षेत्र का रहने वाले तरुण रंगवानी कोरोना का संदिग्ध मानते हुए अस्पताल में भर्ती किया गया था। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद युवक के साथ परिजनों ने राहत की सांस ली है।

     

    और भी...

  • मनावर मॉब लिंचिंग पर बोले शिवराज- कमलनाथ सरकार ने प्रदेश को बनाया तालिबानी प्रदेश

    मनावर मॉब लिंचिंग पर बोले शिवराज- कमलनाथ सरकार ने प्रदेश को बनाया तालिबानी प्रदेश

    भोपाल। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने धार के मनावर में हुई मॉब लिंचिंग घटना को लेकर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने मध्यप्रदेश को तालिबानी प्रदेश बना दिया है। पीट-पीट कर लोगो की हत्याएँ की जा रही है, पत्थर से कुचल कुचल कर मारा जा रहा है।

     

    पूर्व सीएम ने कहा कि जो लोग मारे गए हैं, वे पुलिस को सूचना देकर गए थे। लेकिन पुलिस सोती रही और ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना घट गई। आखिर कहां जा रहा है मध्य प्रदेश कमलनाथ जी? यह जंगलराज नहीं तो क्या है, पुलिस घटना के पहले कार्यवाही क्यों नहीं करती? क्या पुलिस धर्म जाति पंथ पूछ कर कार्रवाई करेगी? क्या पुलिस के हाथ बांध दिए गए हैं?

    शिवराज सिंह ने कहा कि प्रदेश में तालिबानी तरीके से हत्याएं हो रही हैं और कमलनाथ सरकार कान में तेल डाल कर सो रही है। आईफा के आयोजन में व्यस्त है। ऐसी घटनाएं रोकना सरकार की जवाबदारी है, सरकार उठे और कार्यवाही करें।

     

    और भी...

  • RSS एक राजनैतिक संगठन, मोहन भागवत को अब मुखौटा हटाकर बीजेपी की संभालनी चाहिए कमानः गोविंद सिंह

    RSS एक राजनैतिक संगठन, मोहन भागवत को अब मुखौटा हटाकर बीजेपी की संभालनी चाहिए कमानः गोविंद सिंह

    भोपाल। सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने एक बार फिर आरएसएस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि आरएसएस देश को साम्प्रदायिकता की आग में झोंकना चाहती है, जबकि बीजेपी हिटलर की तरह तानाशाही कर रही है। आरएसएस 50 साल से कहता आया है कि हमारा संगठन राजनैतिक नहीं, लेकिन जब मोहन भागवत मुख्यमंत्री, राज्यपाल को तय करते हैं। तो इससे साफ है कि आरएसएस राजनैतिक दल है।

    मंत्री गोविंद सिंह ने मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए कहा कि आज आरएसएस हर तरह से राजनीति कर रही है। मोहन भागवत को अब मुखौटा हटाकर बीजेपी की कमान संभालनी चाहिए। आरएसएस का चेहरा सबके सामने आ चुका है कि यह एक संगठन नहीं है बल्कि राजनीतिक दल है।

    गोविंद सिंह ने कहा कि वह संघ के नेताओं से पूछना चाहते हैं कि बीजेपी की सरकार बनने के बाद आरएसएस के पास इतना पैसा कहां से आ गया है। हर जगह एयरकंडीशन्ड कार्यालय बन गए। जगह-जगह कैंप लगाए जा रहे हैं। इन सब बातों का जवाब आरएसएस को देना ही पड़ेगा।

    और भी...