ब्रेकिंग न्यूज़
  • शिया वक्फ बोर्ड ने राम मंदिर निर्माण के लिए राम जन्मभूमि न्यास को 51 हजार का चेक दिया
  • बेंगलुरु: कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायक बीजेपी में हुए शामिल

मध्य प्रदेश

  • राजगढ़ मामले पर बोले जीतू पटवारी, कहा- बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों के साथ की बदसुलूकी

    राजगढ़ मामले पर बोले जीतू पटवारी, कहा- बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों के साथ की बदसुलूकी

    भोपाल। उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने मीडिया से बात करते हुए राजगढ़ सहित विभिन्न मुद्दों पर अपनी बात रखी। 22 जनवरी को राजगढ़ में होने वाले बीजेपी के प्रदर्शन पर मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं के द्वारा महिला अधिकारियों के साथ जैसा व्यवहार किया गया वो निंदनीय है। प्रशासनिक दृष्टि से देखा जाए तो जो हुआ वो गलत है। महिला अधिकारियों के बाल खींचे गए वो पूरी तरह से गलत है बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों के साथ बदसुलूकी की थी।

    वहीं मंत्री जीतू पटवारी सत्ता और संगठन के बीच समन्यव स्थापित करने के लिए बनाई समिति में शामिल किए जाने पर कहा कि हर पार्टी का अपना काम करने का तरीका होता है। कार्यकर्ताओं के कारण सरकार बनी है। सत्ता औऱ संगठन के बीच बेहतर समन्यव हो इसके लिए यह समिति बनाई गई है। संगठन मजबूती से काम कर सकें।

    उन्होंने कहा कि मेरे साथ मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया और मीनाक्षी नटराजन भी शामिल है। विधानसभा चुनाव के वक्त जो घोषणा पत्र बनाया गया था वो कितना पूरा हुआ तथा कार्यकर्ताओं के साथ बेहतर समन्यव के लिए समिति बनाई गई है।

    अतिथि विद्ववानों के धरने पर मंत्री ने कहा मैं पहले भी कई बार कह चुका हूं कि हमारी सरकार पहले भी कह चुकी है। कि किसी भी अथिति विद्ववान को नौकरी से नहीं निकाला जायेगा।

    और भी...

  • राजगढ़ मामले में पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा- 'किसी कीमत पर इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं'

    राजगढ़ मामले में पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने कहा- 'किसी कीमत पर इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं'

    भोपाल। रविवार को राजगढ़ में सीएए के समर्थन के लिए निकाली गई रैली के दौरान प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों के बीच हुई झड़प के मामले में बीजेपी ने अधिकारियों और प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया - राजगढ़ की घटना से मैं स्तब्ध हूँ। हाथों में तिरंगा झंडा लिये, 'भारत माता की जय' और 'वंदेमातरम' के नारे लगा रहे लोगों के साथ ऐसी बर्बरता की जायेगी, इसकी मैंने कल्पना भी नहीं की थी। यह मध्यप्रदेश में क्या हो रहा है?

    मैं किसी भी कीमत पर इस तरह की घटना बर्दाश्त नहीं कर सकता। 22 जनवरी को राजगढ़ आकर वहाँ के निरपराध लोगों के साथ प्रशासन द्वारा की गई बर्बरता के खिलाफ प्रदर्शन करूंगा।

    और भी...

  • जानिए राजगढ़ प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों की झड़प के मामले में भाजपा और कांग्रेस का पक्ष

    जानिए राजगढ़ प्रदर्शनकारियों और अधिकारियों की झड़प के मामले में भाजपा और कांग्रेस का पक्ष

    राजगढ़। रविवार को जिला प्रशासन द्वारा धारा 144 लागू करने के बाद भी जिले के ब्यावरा में सीएए के पक्ष में रैली करने सैंकडों लोग पहुंचे। प्रशासन ने रैली की अनुमति भी नहीं दी थी और 1 दिन पहले पूरे शहर में मुनादीकरा दी थी। इसके बाद भी भाजपा के द्वारा सीएए के समर्थन में रैली निकाली गई। प्रशासन ने रैली को रोकने का प्रयास किया और इसी दौरान भाजपा के पूर्व विधायक अमर सिंह यादव को कलेक्टर ने रोकने का प्रयास किया वह नहीं माने तो उनकी कलेक्टर ने कालर पकड़ ली बस इसके बाद लोग भड़क उठे। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।

    यहां से बढ़ा विवाद-

    प्रदर्शनकारियों से पुलिस की सख्ती के बाद देखते ही देखते भगदड़ की स्थिति बन गई। रैली में पहुंचे लोगों ने प्रशासन का विरोध शुरू कर दिया तो महिला कलेक्टर निधि निवेदिता व ब्यावरा एसडीएम प्रिया वर्मा ने कई लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, इस दौरान एसडीएम प्रिया वर्मा ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए थप्पड़ जड़ दिया। इसी दौरान कुछ लोगों ने डिप्टी कलेक्टर की बाल(चोंटी) खींचकर अभद्रता भी की। प्रदर्शनकारियों ने जमकर नारेबाजी की।

    पुलिसकर्मियों में नजर आई समन्वय की कमी-

    इस पूरे मामले में जहां महिला अधिकारी कलेक्टर एवं एसडीएम भीड़ को रोकने के लिए प्रदर्शनकारियों से भिड़ते नजर आई वहीं पुलिस अधिकारियों औऱ कर्मियों के बीच समन्वय में भारी कमी देखी गई और कई बार प्रर्दशनकारियों के बीच में भी चली गई लेकिन ऐसे में पुलिस के एक भी जिम्मेदार अधिकारी भीड़ में इन दोनों अधिकारियों को बचाते नजर नहीं आए। पुलिसकर्मियों ने जरूर इनकी मदद की, ऐसे में सबसे बड़ा सवाल आखिर भीड़ से इन महिला अधिकारी को क्यों जूझना पड़ा। पुलिस के आला अधिकारियों की भी जिम्मेदारी बनती है कि वे भी स्थिति को संभाले। दोनों महिला अधिकारियों के साथ यदि कोई घटना घटित हो जाती तो इसका जिम्मेदार कौन होता।

    150 लोगों पर हुआ मामला दर्ज-

    हालांकि इस मामले में राजगढ़ एसपी प्रदीप शर्मा का कहना है कि ये आज प्रदर्शनकारियों द्वारा sdm के साथ अभद्रता की गई थी। उसको लेकर एसडीएम की रिपोर्ट पर दो लोगों पर 353, 354 का मामला दर्ज किया गया है। वहीं जो लोग बिना अनुमति के रैली निकाल रहे थे। जिन्होंने कलेक्टर मेडम के निर्देशो का उल्लंघन किया हैं। भाजपा के पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव, पूर्व विधायक राजगढ़ अमर सिंह यादव, पूर्व विधायक नारायण सिंह पंवार सहित अन्य कुल 150 प्रदर्शनकारियों पर धारा 341,147,188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। साथ ही इस पूरे मामले की वीडियो ग्राफी कराई गई है। वीडियोग्राफी के आधार पर भी कुछ लोगो को भी चिह्नित कर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया जाएगा।

    अब आगे क्या?

    भाजपा कार्यकर्ताओँ के साथ हुई मारपीट के बाद पार्टी के बड़े नेता खुलकर सामने आ गए हैं। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह सहित तमाम नेताओँ ने जिला प्रशासन के साथ साथ कमलनाथ सरकार को भी आड़े हाथों लिया। वहीं अब राजगढ़ मामले पर सरकार के खिलाफ भाजपा बड़े आंदोलन की तैयारी कर रही है। बीजेपी के प्रदेश के सभी बड़े नेता राजगढ़ पहुंचेंगे। प्रदेश अध्य्क्ष राकेश सिंह, शिवराज सिंह, कैलाश विजयवर्गीय, गोपाल भार्गव 22 जनवरी को राजगढ़ जाएंगे। कलेक्टर के खिलाफ FIR दर्ज करवाएंगे।

    वहीं इस मामले को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने भाजपा की गुंडागर्दी करार देते हुए। अधिकारियों के बहादुरी की तारीफ की है।

    और भी...

  • Big News : भाजपा नेता संजय यादव गिरफ्तार, हथियार और विस्फोटक मामले में पुलिस ने की कार्रवाई

    Big News : भाजपा नेता संजय यादव गिरफ्तार, हथियार और विस्फोटक मामले में पुलिस ने की कार्रवाई

    बड़वानी। भाजपा नेता संजय यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वाहन चेकिंग के दौरान राजपुर से पुलिस ने गिरफ्तार किया है। नागलवाड़ी और सेंधवा मामले में भाजपा नेता की गिरफ्तारी हुई है।

    ज्ञात हो कि सेंधवा दारू गोदाम स्थित घर से हथगोले, पिस्टल और कारतूस भारी मात्रा में बरामद किए गए थे। विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और आर्म्स एक्ट के तहत भाजपा नेता संजय यादव के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

    संजय यादव के ऊपर पुलिस ने 10 हजार का ईनाम घोषित किया था। जिला दंडाधिकारी द्वारा जारी एनएसए का वारंट भी तामिल कराया गया है। संजय यादव के साथ रामस्वरूप चौधरी की भी गिरफ्तार हुई है। एसपी डीआर तेनिवार ने प्रेस कांफ्रेंस में इस मामले का खुलासा किया।

    और भी...

  • MP: ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश में बढ़ाई सक्रियता, कहा- अपने लिए कभी कुछ नहीं माँगा

    MP: ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश में बढ़ाई सक्रियता, कहा- अपने लिए कभी कुछ नहीं माँगा

    भोपाल| मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की दौड़ में प्रबल दावेदार माने जा रहे वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अचानक अपनी सक्रियता बढ़ा दी है| गुरूवार रात को मंत्री गोविन्द सिंह के बंगले पर डिनर मीटिंग के बाद शुक्रवार को सिंधिया पीचई मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर पहुंचे| कमलनाथ समर्थक मंत्री के घर जाकर मुलाक़ात करने के कई मायने निकाले जा रहे हैं| सिंधिया ने सन्देश देने की कोशिश की है कि सब साथ हैं| इस दौरान सिंधिया ने मीडिया से चर्चा में इस मुलाक़ात को लेकर कहा कि उनके मंत्री पांसे से पुराने सम्बन्ध हैं, राजनीति में मकसद होता है, लेकिन मैं राजनीति में नहीं जनसेवा में हूँ|

    लम्बे समय बाद सिंधिया प्रदेश कांग्रेस कार्यालय आए हैं ऐसे में उनसे मिलने प्रदेश भर के कार्यकर्ता भोपाल पहुंचे हैं| इससे पहले सुबह सिंधिया कमलनाथ खेमे के माने जाने वाले मंत्री सुखदेव पांसे के निवास पर पहुंचे| मीडिया के सवालों पर सिंधिया ने कहा सुखदेव के साथ आज मुलाकात हुई है, उनसे मेरा आज से नहीं 18 साल पुराण सम्बन्ध है, ख़ुशी है कि वो आज मंत्री हैं|

    पीसीसी चीफ को लेकर बोले-अपने लिए कभी कुछ नहीं माँगा

    सिंधिया ने कहा मैं जब भी आता हु सभी से मुलाक़ात करता हूँ, आजकल के जमाने मे राजनीति में मकसद होता है, लेकिन मैं राजनीति में नहीं जनसेवा में हूँ| वहीं पीसीसी चीफ बनाये जाने की उठ रही मांगों को लेकर सिंधिया ने कहा मैंने स्वतः के लिए कभी कोई मांग नहीं रखी, जनता की मांग उठाई है|

    और भी...

  •  CM कमलनाथ ने किया IAS ऑफीसर्स एसोसिएशन सर्विस मीट का शुभारंभ

    CM कमलनाथ ने किया IAS ऑफीसर्स एसोसिएशन सर्विस मीट का शुभारंभ

    भोपाल। राजधानी भोपाल में आज मध्य प्रदेश आईएएस ऑफीसर्स एसोसिएशन सर्विस मीट का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ प्रशासन अकादमी में सीएम कमलनाथ ने किया। मध्य प्रदेश आईएएस सर्विस एसोसिएशन मीट 17 जनवरी से 19 जनवरी तक चलेगा। इस मौके पर सीएम कमलनाथ ने कहा कि आप सभी अलग-अलग परिस्थितियों में अलग-अलग जगह आप काम करते हैं। लेकिन यह एक खास मौका होता है जब आप सब एक साथ होते है मिलते है।

    सीएम ने कहा कि किसी भी प्रदेश के विकास उन्नति में आप सभी का अहम रोल होता है। मुझे खुशी है कि आपने प्रदेश के विकास में न सिर्फ योगदान किया है। बल्कि सरकार के प्रयासों को जन जन तक पहुँचाया है। हमें प्रदेश के लोगो के साथ न्याय करना होगा। क्योंकि जस्टिस को जितना चाहे आप दे सकते हैं। इसकी कोई सीमा नही है। राजनीति और ब्यूरोक्रेसी को साथ काम करना होगा ।

    आईएएस अधिकारियों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आप मे से कई रिटायर हो रहे हैं, आप लोग मप्र के नज़रिए बदलने में सहयोग करेंगे। मप्र को कैसे पहचाना जाए ये आप पर निर्भर है। आज का युग टेक्नोलॉजी का है। हमारी सरकार को 13 महीने हो चुके हैं। हमे मप्र को मेंग्निफिसेंट बनाना होगा। इसे कैसे करना है। इसके लिए हमे सोच और एप्रोच बदलना होगी। 

    इस दौरान IAS एसोसिएशन के अध्यक्ष ICP केसरी ने दिलाया मुख्यमंत्री कमलनाथ को भरोसा दिलाया कि एमपी के IAS ऑफिसर्स कभी आपके गवर्नेंस में कम नही होने देंगे। केसरी ने नए IAS ऑफिसर्स को दी सोशल मीडिया का संभल कर इस्तेमाल करने की सलाह देते हुए कहा कि सोशल मीडिया में अपनी भावनाओं को सोच समझकर व्यक्त करें।

    और भी...

  • बीजेपी कार्यालय में आज होगी महत्वपूर्ण बैठक, प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर होगा मंथन

    बीजेपी कार्यालय में आज होगी महत्वपूर्ण बैठक, प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर होगा मंथन

    भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आज महत्वपूर्ण बैठक की जाएगी। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह, संगठन मंत्री सुहास भगत सहित प्रदेश भर के नेताओं के भाग लेने की खबर है। बैठक में प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव, जन सहयोग निधि और सीएए को लेकर किए जा रहे जनजागरण अभियान की समीक्षा होगी। सबसे बड़ी बात प्रदेश अध्यक्ष को लेकर मंथन किया जाएगा। जिसमें अध्यक्ष के नाम की घोषणा हो सकती है। बैठक में प्रदेश पदाधिकारी, प्रवक्ता, सांसद, विधायक, जिला अध्यक्ष, मोर्चा अध्यक्ष ओर संभागीय संगठन मंत्री शामिल होंगे। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव 20 जनवरी को होना है।

    और भी...

  • विधायकों की असमय मृत्यु पर चिंता जताते हुए गोपाल भार्गव ने कहा- विधानसभा भवन का हो वास्तु अनुष्ठान,

    विधायकों की असमय मृत्यु पर चिंता जताते हुए गोपाल भार्गव ने कहा- विधानसभा भवन का हो वास्तु अनुष्ठान,

    भोपाल। विशेष सत्र के दौरान सत्रावसान के समय दिवंगत नेताओं को सदन में श्रद्धांजलि देते हुए आज नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने नेताओं के असमय निधन पर चिंता जताई। और विधानसभा में अनुष्ठानों की बात पर विचार करने की बात कही। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हमारे वर्तमान विधानसभा को एक वर्ष हुआ है। पिछले चालीस वर्षो से देख रहा हूं किसदन के एक कार्यकाल में ही दस से ग्यारह विधायकों की दिवंगत हो गए है। इस कारण को समझना चाहिए।इसको लेकर मैंने कई विद्वानों और बुद्धिजीवियों से चर्चा की है। वास्तु का अपना अलग महत्व है।

    आपको बता दें की 1996 में प्रदेश की नई विधानसभा भवन के शुरूआत के साथ ही समय समय पर भवन में वास्तु दोष होने की बात कही जा रही थी। विधानसभा सदस्यों के द्वारा कई बार धार्मिक अनुष्ठानों की मांग भी की गई। इसी संबंध में एक बार फिर आज नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बात कही। और कहा कि सदन को वास्तु अनुष्ठान के बारे में विचार करना चाहिए। भले की ऐसी बातों पर लोग मजाक उठाते रहे हैं। उन्होने कहा कि पिछले साल कई समय में कई साथी दिवंगत हो गए है। इस कारण को समझना चाहिए। हालांकि उन्होंने नेताओ की अकाल मृत्यु का सबसे बड़ा कारण मानसिक तनाव भी माना है।

    नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के विधानसभा भवन में वास्तु अनुष्ठान के बारे में कही गई बातों का सरकार के मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने भी समर्थन किया है। मंत्री गोविंद सिंह ने कहा कि किसी जानकार से विधानसभा भवन में वास्तु अनुष्ठान करवाया जाना चाहिए।

     

    और भी...

  • मूकबधिर नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने वाले दो आरोपियों को पीड़िता के परिजनों ने पकड़ा, मामला दर्ज

    मूकबधिर नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने वाले दो आरोपियों को पीड़िता के परिजनों ने पकड़ा, मामला दर्ज

    रीवा। जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत 14 वर्षीय नाबालिक बच्ची के साथ दुष्कर्म किए जाने का संगीन अपराध का मामला सामने आया। जिसके बाद पुलिस की टीम ने मामले को संज्ञान में लेते हुए दो आरोपियों की गिरफ्तारी की। दरअसल 14 वर्षीय मूकबधिर नाबालिग के साथ दुष्कर्म की वारदात के समय बच्ची के परिजन घटनास्थल में पहुंच गए। और आरोपियों पकड़ लिया, जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

    बताया जा रहा है कि रीवा जिले के बैकुंठपुर थाना क्षेत्र में दो बदमाशों ने 14 वर्षीय नाबालिग मूक बधिर बच्ची को अपना निशाना बनाया। और उसके साथ दुष्कर्म जैसे संगीन अपराध को अंजाम दिया। दरअसल गांव के ही दो युवकों ने उसे कमरे में बंधक बनाकर उसके साथ वारदात को अंजाम दिया। वहीं जब मामले की जानकारी बच्ची के परिजनों को लगी तो उन्होंने कमरे में जाकर बच्ची को छुड़ाया और दोनों आरोपियों को अपनी पकड़ में रखकर तुरंत ही परिजनों ने इसकी सूचना संबंधित थाने को दी जिसके बाद पुलिस की टीम ने दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और पास्को एक्ट के तहत कार्यवाही की। पुलिस ने पीड़िता को जिला अस्पताल भेजा है जहाँ उसका परीक्षण कराया जा रहा है।

    और भी...

  • कांग्रेस विधायक का छलका दर्द, कहा- पार्टी और जिला प्रशासन ने दिया धोखा

    कांग्रेस विधायक का छलका दर्द, कहा- पार्टी और जिला प्रशासन ने दिया धोखा

    नरसिंहपुर। जिले के प्रसिद्ध बरमान मेले का उद्घाटन में शामिल होने पहुंची कांग्रेस की गाडरवारा विधायक सुनीता पटेल का दर्द झलक गया। मंच पर मौजूद विधानसभा अध्यक्ष, सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया और जिले प्रशासनिक अमले के सामने ही मंच से ही विधायक सुनीता पटेल ने जिला प्रशासन और पार्टी को जमकर कोसा। विधायक सुनीता पटेल ने कहा की उन्हें उनकी पार्टी, जिला प्रशासन और अपने लोगों ने धोखा दिया है।

    अवैध उत्खनन के मामले में विधायक सुनीता पटेल ने कहा कि पुलिस प्रशासन बैग में रखी नोटों को ढूंढ लेती है। मगर उसे थाने के सामने से निकल रही रेत की गाड़ियां नहीं दिखती हैं। विधायक ने कहा कि मुझे नर्मदा जी की कसम है, मैंने जो घोषणा पत्र दिया था उसे अगर पूरा नहीं किया तो मैं अपना त्यागपत्र नर्मदा जी को सौंप दूंगी। मैंने टिकट अपने दम पर और मेहनत से पाई थी।

    और भी...

  • मकर संक्रांति के अवसर श्रध्दालुओं ने नर्मदा तटों पर लगाई आस्था की डुबकी

    मकर संक्रांति के अवसर श्रध्दालुओं ने नर्मदा तटों पर लगाई आस्था की डुबकी

    होशंगाबाद। मध्यप्रदेश की जीवनदायनी कही जाने वाली नर्मदा नदी के घाटों पर मकर संक्रांति के अवसर पर सुबह से ही बड़ी संख्या में श्रध्दालुओं ने डुबकी लगाई। आज देशभर में भगवान सूर्य के उत्तरायण आने का पर्व मकर संक्रांति मनाया जा रहा है। मां नर्मदा की नगरी होशंगाबाद में भी बड़ी संख्या में नर्मदा घाटों पर श्रद्धालु स्नान के लिए पहुंचे। घाटों में लोगों के द्वारा 'नमामि देवि नर्मदे' का जाप भी किया जा रहा था। श्रध्दालुओं ने स्नान के बाद भगवान सूर्य को अर्ध्य भी दिया। मान्यताओं के अनुसार आज के दिन दान- पुण्य का भी बहुत महत्व होता है।

    घाटों पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर पुलिस बल की तैनाती की गई है। वहीं श्रद्धालुओं की भारी संख्या को देखते हुए रेल्वे के द्वारा 6 अतिरिक्त ट्रेनें चलाई जा रही हैं। बता दें कि भगवान सूर्य के धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश पर मकर संक्रांति पर्व मनाया जाता है।

    और भी...

  • स्कूल में 'वीर सावरकर' की फोटो छपी कॉपियां बांटे जाने से प्राचार्य निलंबित

    स्कूल में 'वीर सावरकर' की फोटो छपी कॉपियां बांटे जाने से प्राचार्य निलंबित

    रतलाम। जिले के एक शासकीय स्कूल में छात्रों को वीर सावरकर की फोटो जीवनी छपी कॉपियां बांटे जाने के बाद स्कूल प्राचार्य को निलंबित कर दिया गया है। कॉपियों का वितरण चार नवंबर को किया गया था, लेकिन शिकायत के बाद संभागायुक्त के द्वारा अब कार्रवाई की गई। बताया जा रहा है कि है कॉपियों का वितरण वीर सावरकर हितार्थ जनकल्याण समिति द्वारा निशुल्क किया गया था। कॉपियों के दोनों तरफ सावरकर के फोटो और जीवनी के साथ ही एनजीओ (गैर सरकारी संगठन) के पदाधिकारियों के फोटो छपे थे।

    आपको बता दें कि स्कूल के प्राचार्य आरएन केरावत को साल 2011 में स्कूल में नवाचार के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार मिल चुका है। बताया जा रहा है जिस समिति ने स्कूल में कॉपियां बांटी थी, उसके पदाधिकारी भाजपा समर्थक हैं। समिति ने ही कॉपी वितरण के फोटो और जानकारी फेसबुक पर अपलोड की थी।

    कर्मचारियों ने किया कार्रवाई का विरोध

    इधर प्रचार्य पर की गई कार्रवाई का विरोध भी हो रहा है| संयुक्त मोर्चा सहित मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ प्राचार्य के समर्थन में आ गए हैं। उनका मानना है कि प्राचार्य केरावत को निलंबित करना गलत है। सरकारी स्कूलों में आए दिन सामाजिक संस्थाएं और व्यक्ति पाठ्यपुस्तक वितरित करते हैं। ऐसे में इसे राजनीति से जोड़ना सही नहीं है|

    और भी...

  • जिला अस्पताल में 6 बच्चों की अचानक मौत से मचा हड़कंप, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश

    जिला अस्पताल में 6 बच्चों की अचानक मौत से मचा हड़कंप, स्वास्थ्य मंत्री ने दिए जांच के आदेश

    शहडोल। कुशाभाऊ ठाकरे जिला चिकित्सालय शहडोल में 6 बच्चों की अचानक मौत होने से हड़कंप मच गया। दरअसल बीती रात अस्पताल के एसएनसीयू एवं बच्चा वार्ड में भर्ती 6 बच्चों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बच्चा वार्ड में भर्ती दो बच्चों की एवं एलएनसीयू व PICU में भर्ती अतिगंभीर 4 बच्चों की मौत अस्पताल हुई है। वहीं बच्चों के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने जांच के आदेश दिए हैं।

     

    और भी...

  • प्रदेश की राजधानी का नाम नहीं बता पाए शिक्षक, कलेक्टर मे तत्काल किया सस्पेंड

    प्रदेश की राजधानी का नाम नहीं बता पाए शिक्षक, कलेक्टर मे तत्काल किया सस्पेंड

    ग्वालियर। प्रदेश की शिक्षा के स्तर की हकीकत बयां करने वाला एक मामला सामने आया है। दरअसल कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान मिडिल स्कूल का एक शिक्षक प्रदेश की राजधानी का नाम तक नहीं बता पाया। जिसके बाद जिला कलेक्टर ने सख्त रवैया अपनाते हुए शिक्षक को तत्काल सस्पेंड कर दिया।


    दरअसल ग्वालियर के इकहरा देहात में जिला कलेक्टर एवं सीईओ के निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान मिडिल स्कूल इकहरा के शिक्षक राजकिशोर धाकड़ से कलेक्टर अनुराग चौधरी ने निरीक्षण में पूछा कि प्रदेश की राजधानी का नाम क्या है? लेकिन शिक्षक राजकिशोर धाकड़ इस सवाल में भी बगलें झांकने लगे। शिक्षक से जवाब नही मिलने पर हैरानी जताते हुए कलेक्टर ने शिक्षक को तत्काल सस्पेंड कर दिया।

    कलेक्टर अनुराग चौधरी ने सीईओ के साथ मुरार, डबरा के कई स्कूलों का निरीक्षण किया था। इस दौरान कलेक्टर ने खामियां मिलने पर 7 शिक्षकों को सस्पेंड किया एवं 3 शिक्षकों की दो दो वेतन वृद्धि रोकी और एक अतिथि शिक्षक की सेवा समाप्त की। इसके साथ ही सरकारी स्कूलों पर निगरानी ना करने के कारण ही 3 शिक्षक अरविंद सोनी हस्तिनापुर, अमजद खान उटीला और दिनेश शाक्य को भी नोटिस जारी किए गए।

     

    और भी...

  • मंत्री ने कहा -ज्योतिरादित्य सिंधिया का चमचा हूं और जीवन भर रहूंगा, मेरे लिए गर्व की बात

    मंत्री ने कहा -ज्योतिरादित्य सिंधिया का चमचा हूं और जीवन भर रहूंगा, मेरे लिए गर्व की बात

    भोपाल l श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने पिछले दिनों भाजपा सांसद केपी यादव की जनाक्रोश सभा में दिए गए बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मैं जीवन भर पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का चमचा रहना पसंद करूंगा और यह है।

    मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया ने कहा कि सांसद केपी यादव में नैतिक शिष्टाचार भी नहीं है। भारतीय परंपरा में किसी भी व्यक्ति के घर शोक जताने जाने का प्रचलन है और ज्योतिरादित्य सिंधिया उसी परंपरा के तहत सांसद के पिताजी स्व रघुवीर सिंह के निधन पर शोक जताने उनके घर आ रहे थे। मगर जनाक्रोश सभा में सांसद के पी यादव द्वारा जो बातें की है। वह शिष्टाचार की नहीं थी और उन्हें अगर सिंधिया का अपने घर आना पसंद नहीं है। तो सिंधिया जी ने अपना कार्यक्रम उनके घर जाने का बदल दिया हैl

    इसके अलावा जन आक्रोश रैली में सिसौदिया को सांसद के पी यादव द्वारा सिंधिया का चमचा कहे जाने को लेकर श्रम मंत्री ने कहा कि अगर वह मुझे चमचा के साथ कढ़ाई भी कहते तब भी कोई आपत्ति नहीं है। उन्होंने स्वीकार किया कि मैं सिंधिया का चमचा हूं, और जीवन भर रहूंगा और इस बात का मुझे गर्व है। साथ ही उन्होंने केपी यादव से सवाल किया कि सांसद बनने से पहले क्या वह सिंधिया के चमचा नहीं थे, क्या वह सिंधिया की गाड़ी के आगे पीछे नहीं घूमते थे।

    सिसौदिया ने सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हमारी नेता सोनिया गांधी है और सिंधिया बड़े कद के नेता है उन जैसे नेता को किसी भी दल में इग्नोर नहीं किया जा सकता। इसलिए उन्हें जल्द ही अच्छा पद मिलेगा। सिसौदिया ने कहा कि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की नौटंकी अब प्रदेश में नहीं चलने वाली।

    उन्होंने कहा गुना में नगर पालिका अध्यक्ष रहते राजेंद्र सलूजा ने अपने भाई की होटल की परमिशन नहीं ली थी। इसलिए उसका टूटना न्यायसंगत है। उन्होंने कहा कि 18 तारीख को शिवराज सिंह आए उन से खुली चर्चा के लिए तैयार हूं।

     

    और भी...