ब्रेकिंग न्यूज़
  • भारत में एक दिन में 34 हजार से ज्यादा संक्रमित हुए, केरल बढ़ा रहा टेंशन
  • पीएम मोदी जहां भी जाते हैं, वहीं के हो जाते हैं उनके कपड़ों में दिखती है संस्कृति की झलक
  • कृषि कानूनों के विरोध में SAD ने निकाला मार्च, हरियाणा से दिल्ली आने वाले सभी रास्ते बंद
  • दिल्ली में मानसून मेहरबान, अब तक 1159 मिलीमीटर बारिश दर्ज, आज भी छींटे पड़ने की आशंका
  • राहुल गांधी ने पीएम मोदी को दी जन्मदिन की बधाई, सोशल मीडिया पर यूजर्स ने किए मजेदार कमेंट्स
  • पीएम मोदी 71 की उम्र में फिट और ऊर्जा से हैं भरपूर, जानें दिनचर्या के बारे में
  • T20 World cup के बाद Virat kohli छोडेंगे लिमिटेड ओवर के फॉर्मेट की कप्तानी
  • गुजरात विधानसभा स्पीकर राजेंद्र त्रिवेदी ने नए मंत्रिमंडल के शपथ ग्रहण से पहले पद से दिया इस्तीफा
  • Covid Third Wave : Delta Virus की ऐसे करें पहचान, जानें लक्षण और बचाव के उपाय
  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज पहुंचेंगे शिमला, यहां पढ़ें पूरा शेडयूल
  • जब नीति और नीयत साफ हो और प्रयास ईमानदार हो तो कुछ भी असंभव नहीं होता: पीएम मोदी
  • रॉकेट फोर्स करेगी मिसाइलों का सामना, पाक-चीन की चाल रह जाएगी धरी: सीडीएस बिपिन रावत
  • Coronavirus: भारत में एक दिन में 30 हजार से ज्यादा संक्रमित हुए, 431 लोगों की मौत
  • स्पेसएक्स ने रचा इतिहास: 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, 3 दिन तक पृथ्वी की कक्षा में रहेंगे
  • पीएम मोदी और जो बाइडेन के बीच क्वाड से पहले होगी बड़ी मीटिंग: रिपोर्ट
  • गुजरात के नए मंत्रिमंडल में पूरे फेरबदल की संभावना! शाम तक के लिए टला शपथ ग्रहण समारोह
  • पेट्रोल पंप कर्मचारी से गाली-गलौज करने वाला आरक्षक सस्पेंड
  • J&K: डल झील के ऊपर गरजेंगे वायुसेना के सुखोई-30 और मिग-21 लड़ाकू विमान
  • कोर्ट ने चार आतंकियों को 14 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा- सीरियल ब्लास्ट कर दहलाना चाहते थे देश
  • रोड एक्सीडेंट में बाइक सवार दो लोगों की मौत, कार की टक्कर से 30 फ़ीट ऊंचे फ्लाईओवर से नीचे गिरे
  • छत्तीसगढ़-झारखंड में आज और कल भारी बारिश की संभावना, जानिए देश के अन्य हिस्सों का हाल
  • पुलिस ने आरोपी पर किया 10 लाख का इनाम घोषित, मंत्री बोले- पकड़कर एनकाउंटर कर देंगे
  • संभावित कोरोना की तीसरी लहर से नहीं कर सकते इनकार, अगले साल भी करना होगा ये काम

खेल

  • T20 World cup के बाद Virat kohli छोडेंगे लिमिटेड ओवर के फॉर्मेट की कप्तानी

    T20 World cup के बाद Virat kohli छोडेंगे लिमिटेड ओवर के फॉर्मेट की कप्तानी

    खेल। क्रिकेट गलियारों में कई दिनों से चल रही भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के टी20 फॉर्मेट (T20I Cricket) की कप्तानी छोड़ने की खबरें चल रही थी। इसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि आगामी वर्ल्ड कप (t20 World Cup 2021) के बाद रोहित शर्मा (Rohit sharma) लिमिटेड ओवरों के फॉर्मेट की कप्तानी संभालेंगे। जबकि विराट कोहली वनडे और टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे। लेकिन इन कयासों के बीच खुद विराट कोहली ने सोशल मीडिया के जरिए एक पोस्ट करके इन खबरों पर विराम लगाया है। और लिखा कि वह लिमिडेट ओवरो के फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ रहे हैं।

    वहीं आगामी टी20 वर्ल्ड कप 2021 के बाद विराट कोहली कप्तानी छोड़ेंगे। कोहली ने ट्विटर पर एक बयान में T20I कप्तानी छोड़ने के अपने फैसले के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि उन्हें देश के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने के लिए खुद को जगह देने की जरूरत है। कोहली ने कहा कि मैं न केवल भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए भाग्यशाली रहा हूं, बल्कि अपनी पूरी क्षमता के साथ भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व भी कर रहा हूं। मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में मेरी यात्रा में मेरा समर्थन किया है।
     

    साथ ही उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा, "मैं उनके बिना यह नहीं कर सकता था- लड़के, सहयोगी स्टाफ, चयन समिति, मेरे कोच और प्रत्येक भारतीय जिन्होंने हमारे जीतने के लिए प्रार्थना की। कार्यभार को समझना एक बहुत ही अहम बात है और मेरी अपार क्षमता को देखते हुए पिछले 8-9 सालों में सभी 3 प्रारूपों में खेलना और पिछले 5-6 सालों से नियमित रूप से कप्तानी करना, मुझे लगता है कि मुझे टेस्ट और एकदिवसीय क्रिकेट में भारतीय टीम का नेतृत्व करने के लिए पूरी तरह से तैयार होने के लिए खुद को जगह देने की जरूरत है।" कोहली ने आगे लिखा कि मैंने टी20 कप्तान के तौर पर अपने कार्यकाल के दौरान टीम को सब कुछ दिया है और आगे बढ़ने वाले बल्लेबाज के तौर पर मैं टी20 टीम के लिए ऐसा करना जारी रखूंगा। कोहली ने कहा कि वह मुख्य कोच रवि शास्त्री और रोहित से चर्चा के बाद ही ये फैसला ले रहे हैं।

     

    और भी...

  • UP Election में इस सीट से मैदान में उतरेगी प्रियंका गांधी!

    UP Election में इस सीट से मैदान में उतरेगी प्रियंका गांधी!

    उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले (UP Assembly Election 2022) विधानसभा चुनावों की तैयारियां जोरों पर है। ज्यादातर राजनीतिक पार्टियों की नजर चुनावों पर टिकी हुई है। कांग्रेस (Congress) ने भी अपनी कमर कस ली है और इस बार यूपी विधानसभा चुनाव में गांधी परिवार की सदस्य प्रियंका गांधी भी चुनावी मैदान में उतर सकती हैं। इतना ही नहीं (Congress leader priyanka Gandhi) प्रियंका गांधी रायबरेली या अमेठी की विधानसभा सीट से चुनाव लड़ सकती है। ऐसा हुआ तो विधानसभा चुनाव लड़ने वाली प्रियंका गांधी परिवार की पहली सदस्य होगी। इसकी वजह अब तक उनके परिवार के सदस्यों द्वारा लोकसभा चुनाव ही लड़ा जाना है।

    उत्तर प्रदेश कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा यूपी चुनाव की तैयारी में जुटी है। वह प्रदेश में जिले वार अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं संग लगातार संपर्क में है। इतना ही नहीं वह लगातार उन्हें बूस्ट कर रही है। इस बीच खबर आ रही है कि प्रियंका गांधी भी यूपी चुनाव में अपनी दावेदारी पेश कर सकती है। वह अमेठी या फिर रायबरेली से विधानसभा चुनाव लड़ सकती है। इसकी वजह इन दोनों जिलों की लोकसभा सीटों पर उनके परिवार का पहले से ही कब्जा रहना है। जो अब टूट गया है। ऐसे में वह इन दोनों में से किसी एक सीट पर चुनाव जीतकर 2024 में लोकसभा चुनावों के लिए जमीन तैयार करेंगी। जिसे भाजपा को चुनौती दी जा सकें।

    विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही प्रियंका गांधी परिवार की पहली सदस्य होगी जो विधानसभा चुनाव लड़ेगी। इसकी वजह अब तक गांधी परिवार के किसी भी सदस्य का विधानसभा चुनाव नहीं लड़ना है। गांधी परिवार के सभी सदस्य लोकसभा चुनाव में ही उतरे हैं। वहीं यूपी में कांग्रेस की एक बार फिर जमीन तैयार करने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा प्रयास में जुटी है। वह चुनाव से काफी पहले सक्रिय हो चुकी है। साथ ही पार्टी नेताओं से लगातार संपर्क और बैठक कर आगामी चुनाव की तैयारियों में जुटी है।
     

    और भी...

  • AIMIM चीफ ओवैसी ने पीएम मोदी और सीएम योगी पर कसा तंज, मुसलमानों को 6 लाख नहीं सिर्फ 10 घर मिले

    AIMIM चीफ ओवैसी ने पीएम मोदी और सीएम योगी पर कसा तंज, मुसलमानों को 6 लाख नहीं सिर्फ 10 घर मिले

    यूपी में विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh assembly elections) के बीच पीएम आवास योजना को लेकर एआईएमआईएम (AIMIM) नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने पीएम मोदी और सीएम योगी पर जोरदार निशाना साधा। ओवैसी अब यूपी में योगी सरकार के कामकाज और योजनाओं को लेकर कंज कस रहे हैं।

    असदुद्दीन ओवैसी अपनी सभाओं और बैठकों के दौरान योगी सरकार को घेरते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना (Prime Minister's Housing Scheme) का मुद्दा उठाया और कहा कि उत्तर प्रदेश में मुसलमानों की 60 फीसदी ड्रॉपआउट दर को कैसे नियंत्रित किया जाए। सरकार ने इसके लिए क्या किया है। आगे कहा कि पीएम आवास योजना के तहत 2017-18 में 6 लाख से अधिक घरों में से केवल 10 घर ही मिले हैं। जो मुसलमानों को आवंटित किए गए हैं।

    इतना ही नहीं ओवैसी ने यह भी कहा कि यूपी के मुसलमानों की साक्षरता दर कम है और साथ ही बच्चे स्कूल सबसे ज्यादा छोड़ते हैं। जहां मुसलमानों की आबादी ज्यादा है। उन इलाकों स्कूल कॉलेज नहीं खुल रहे हैं। अगर यूपी में स्वास्थ्य सेवाओं की बात करें तो देश के 9 लाख कुपोषित बच्चों में से 4 लाख बच्चे सिर्फ अकेले उत्तर प्रदेश से हैं। इस बार यूपी में ओवैसी की पार्टी 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है।

     

    और भी...

  • विजय रुपाणी के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री के रेस में ये नाम सबसे आगे, जानें कौन-कौन हैं शामिल

    विजय रुपाणी के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री के रेस में ये नाम सबसे आगे, जानें कौन-कौन हैं शामिल

    Next Gujarat Chief Minister गुजरात में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विजय रुपाणी (Vijay Rupani Resigns) ने मुख्यमंत्री पद से आज इस्तीफा दे दिया। इसके बाद पार्टी में खलबली मच गई। वहीं गुजरात के राज्यपाल अचार्य देवव्रत (Governor Acharya Devvrat) ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया। लेकिन सवाल ये उठ रहे है कि विजय रुपाणी के बाद गुजरात का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा।

    इसके अलावा, गोरधन जदाफिया का भी नाम मुख्यमंत्री पद की रेस में आगे चल रहा है। उधर, गुजरात में मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत पार्टी आलाकमान का आभार व्यक्त किया। इस दौरान विजय रुपाणी ने कहा कि पीएम मोदी का विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा है। उनके नेतृत्व व मार्गदर्शन में गुजरात ने नए आयामों को छुआ है। पिछले पांच सालों में मुझे भी योगदान करने का जो अवसर मिला। विजय रुपाणी के इस्तीफ़ा देने पर गुजरात के विपक्षी दल के नेता परेश धनानी ने कहा कि गुजरात की जनता ने भाजपा सरकार को हटाने का ठान लिया है। राज्य की जनता ने सोचा है कि अब ऐसी सरकार लाएंगे जो गांव, गरीब और किसान की बात सुने।

     

    और भी...

  • आपके महंगे पेट्रोल का पैसा मोदी घर में नहीं रख रहे, देश के विकास में लगा रहे है

    आपके महंगे पेट्रोल का पैसा मोदी घर में नहीं रख रहे, देश के विकास में लगा रहे है

    देश की जनता लगातार बढ़ रही पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) की कीमतों से परेशान है, जिसे लेकर बीजेपी (BJP) की आलोचना की जा रही है। मोदी सरकार के मंत्री और सपोर्टर समय-समय पर बयान जारी कर अपना बचाव करते हुए नजर आते हैं। हाल ही में बॉलीवुड एक्टर गजेंद्र चौहान (Gajendra Chauhan) ने सरकार को सपोर्ट किया है।

    गजेंद्र चौहान ने शनिवार को ट्वीट कर कहा - 'मोदी सरकार 19 और ऐसे हाईवे बनाएगी जिस पर सेना के प्लेन (Plane) लैंड करेंगे। आपके महंगे पेट्रोल (Petrol) का पैसा मोदी घर मे नही रख रहे, देश के विकास में लगा रहे है।'

    बता दें कि इससे पहले बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने दावा किया था कि पेट्रोल डीजल का पैसा फ्री वैक्सीन के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

    इस समय क्या है पेट्रोल और डीजल की कीमत शहर पेट्रोल डीजल (Rs/litre) नई दिल्ली 101.19 88.62 मुंबई 107.26 96.19 कोलकाता 101.62 91.71 चेन्नई 98.96 93.26

     

    और भी...

  • Sunday Special: जानें चांदनी चौक का इतिहास और सौंदर्यीकरण से कैसे बढ़ी खूबसूरती

    Sunday Special: जानें चांदनी चौक का इतिहास और सौंदर्यीकरण से कैसे बढ़ी खूबसूरती

    Sunday Special दिल्ली में अगर आप कहीं घुमने की सोच रहे है तो राजधानी बेहद ही खूबसूरत जगह है। यहां सबसे अच्छी और पुरानी जगह चांदनी चौक है। दिल्ली की चांदनी चौक (chandni chowk) एक ऐसी जगह है जहां शॉपिंग, खाना-पीना और घूमना सब कुछ मुमकिन है। लेकिन यहां की जो सबसे बड़ी समय है वो है यहां की भीड़। ज्यादा तौर लोग ये बात जानते ही है कि चांदनी चौक में अगर एक बार घुस जाए। तो वहां से निकलना काफी मस्कत का काम है। क्योंकि चांदनी चौक में हमेशा भीड़ रहती है। चांदनी चौक को एक दिन में घूमना काफी मुश्किल था। लेकिन अब नहीं है।

    दिल्ली के लोग ये बात को जानते है कि 2018 से दिल्ली के चांदनी चौक का सौंदर्यीकरण हो रहा है। लेकिन अब उसका इंतजार खत्म हो गया है। क्योंकि रविवार के मौके पर 12 सितंबर को दिल्ली के सीएम चांदनी चौक के सौंदर्यीकरण का उद्घाटन करने जा रहे है। अब चांदनी चौक में क्या बदलाव हुए है उसको जानने के लिए चांदनी चौक जाना तो सबके लिए मुश्किल है। तो उन लोगों के लिए ये पोस्ट बेहद जरूरी है जो लोग चांदनी चौक में हुए बदलाव को जानना चाहते है लेकिन जा नही सकते तो इस पोस्ट को जरूर पड़े।

    चांदनी चौक का के भविष्य को जानने से पहले चांदनी चौक के इतिहास को भी जान लेते है। चाँदनी चौक को मुगल बादशाह शाहजहाँ की पुत्री जहांआरा द्वारा 1648 में स्थापित किया था वह बाज़ार वर्तमान में एशिया का सबसे बड़ा थोक व्यापार का केन्द्र है। इस बाजार में करीबन 1560 दुकाने है जोकि 1,520 गज में फैला हुई है।लाल किला भी चांदनी चौक के पास स्थित है जिसका निर्माण 17 वीं सदी में मुगल शासक शाहजहां द्वारा किया गया था। लाल किला के मुख्य द्वार के सामने पूर्व में स्थित इस भीड़ भाड़ भरे बाजार में सोने-चांदी के आभूषण, कलाकृतियों के लिए जामा मस्जिद, पुस्तकों के लिए नई सड़क व सूखे मेवे-मसालों के लिए शीशगंज गुरुद्वारा, टाउन हॉल, लाल मंदिर, गौरीशंकर मन्दिर एवं सुनहरी मस्जिद भी स्थित है।

     

    और भी...

  • महाराष्ट्र के इन 11 जिलों में ऑरेंज अलर्ट, लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से लोग परेशान

    महाराष्ट्र के इन 11 जिलों में ऑरेंज अलर्ट, लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से लोग परेशान

    Mausam Ki Jankari (मौसम की जानकारी): महाराष्ट्र (Maharashtra) में लगातार हो रही बारिश (Rain) की वजह से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मुंबई, पुणे (Mumbai And Pune) और राज्य के अन्य हिस्सों में पिछले दो दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है। कोंकण समेत कुछ जिलों में भी यही स्थिति है। मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक, अगले दो दिनों तक भारी बारिश होने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग के 11 जिलों को ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। जबकि एक जिले के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है।

    मौसम विभाग के अनुसार अगले दो दिनों तक राज्य में भारी बारिश की संभावना है। पालघर जिले को रेड अलर्ट घोषित किया गया है, जबकि मुंबई, ठाणे, रायगढ़, रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, कोल्हापुर, सतारा, पुणे, नासिक, धुले और नंदुरबार को ऑरेंज अलर्ट घोषित किया गया है। जलगांव, औरंगाबाद, बुलडाना, जालना और अकोला जिलों को भी येलो अलर्ट जारी किया गया है। कोंकण, मध्य महाराष्ट्र और मराठवाड़ा में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। गणेश चतुर्थी तक बारिश कम होने की संभावना है।
     

    बीते मंगलवार को राज्य में भारी बारिश हुई है। शाम को मुंबई और ठाणे में भारी बारिश के कारण ट्रैफिक जाम हो गया। जिस कारण लोगों को अपने घरों तक पहुंचने में देरी हुई। मराठवाड़ा और विदर्भ की नदियों में भी बाढ़ आई है, जिसमें चार दिनों में 12 लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा बारिश ने फसलों को बुरी तरह प्रभावित किया है। कोंकण के मुरुद में मंगलवार को 474 मिमी बारिश हुई। चिपलुन को 220 मिमी और दापोली को 300 मिमी से वर्षा हुई है। संगमेश्वर बाजार में बाढ़ का पानी घुस गया है। राजापुर तालुका में लगातार बारिश ने व्यापारियों में चिंता बढ़ा दी थी।

     

    और भी...

  • Paralympics Tokyo 2020: बैडमिंटन में कृष्णा नागर का कमाल, देश के लिए जीता गोल्ड मेडल

    Paralympics Tokyo 2020: बैडमिंटन में कृष्णा नागर का कमाल, देश के लिए जीता गोल्ड मेडल

    खेल। रविवार का दिन भारत के लिए खुशखबरी ले के आया है। भारतीय खिलाड़ी टोक्यो पैरालंपिक (Paralympics tokyo 2020) में धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं एक बार फिर बैडमिंटन में भारत को एक और गोल्ड मिला है। दरअसल पुरुष सिंगल्स एसएच 6 फाइनल में भारत के कृष्णा नागर (Krishna Nagar) ने हॉन्गकॉन्ग के चू मान काई को 21-17, 16-21, 21-17 से मात दी है। Also Read - Paralympics Tokyo 2020: DM सुहास ने रचा इतिहास, रोमांचक मैच में जीता सिल्वर मेडल

    वहीं कृष्णा बैडमिंटन में गोल्ड जीतने वाले दूसरे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले शनिवार को प्रमोद भगत ने स्वर्ण पदक जीता था। कृष्णा ने इस जीत से चू मान काई के खिलाफ अपना नया रिकॉर्ड स्थापित कर लिया है। इससे पहले दोनों खिलाड़ियों के बीच तीन मैच खेले गए थे। जिसमें से दो मुकाबले नागर ने तो एक मुकाबला चू मान ने जीता।

    बता दें कि कृष्णा नागर एसएल वर्ग के खिलाड़ी हैं। एसएल वर्ग में वो खिलाड़ी आते हैं जिन्हें खड़े होने में दिक्कत हो या निचले पैर का विकार हो। वहीं दूसरी तरफ एसयू में ऊपरी हिस्से में विकार होता है। इसके साथ ही एसएच कैटेगरी वाले खिलाड़ियों की लंबाई सामान्य से बहुत कम होती है। इसके साथ ही टोक्यो में भारत ने अबतक 19 पदक अपने नाम किए हैं। इनमे से 5 स्वर्ण, 8सिल्वर और 6 ब्रॉन्ज मेडल हैं। वहीं टोक्यो पैरालंपिक में कृष्णा ने देश को 5वां स्वर्ण पदक दिलाया है।

     

    और भी...

  • Paralympics Tokyo 2020: DM सुहास ने रचा इतिहास, रोमांचक मैच में जीता सिल्वर मेडल

    Paralympics Tokyo 2020: DM सुहास ने रचा इतिहास, रोमांचक मैच में जीता सिल्वर मेडल

    खेल। रविवार को बैडमिंटन के पुरुष सिंगल्स एसएल 4 फाइनल में भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी और नोएडा के डीएम (noida Dm) सुहास एल यथिराज (Suhas L Yathiraj) ने सिल्वर मेडल जीता है। वहीं सुहास को वर्ल्ड नंबर-1 फ्रांस के लुकास मजूर ने 63 मिनट में 15-21, 21-17, 21-15 से हराया। इससे पहले पैरालंपिक के बैडमिंटन इवेंट में प्रमोद भगत ने गोल्ड मेडल जीता था। अभीतक टोक्यो खेलों में भारत के पदकों की संख्या 18 हो गई। इनमें से 4 गोल्ड, 8 सिल्वर और 6 कांस्य पदक हैं। Also Read - Paralympics Tokyo 2020: बैडमिंटन में कृष्णा नागर का कमाल, देश के लिए जीता गोल्ड मेडल

    वहीं ये पैरालंपिक के इतिहास में भारत का शानदार प्रदर्शन है। इससे पहले रियो पैरालंपिक में भारत ने महज 6 पदक जीते थे, जिनमें से 2 स्वर्ण सहित 4 पदक जीते थे।

     

    और भी...

  • बैडमिंटन में भारत को मिली बड़ी कामयाबी, प्रमोद भगत ने गोल्ड तो मनोज ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

    बैडमिंटन में भारत को मिली बड़ी कामयाबी, प्रमोद भगत ने गोल्ड तो मनोज ने जीता ब्रॉन्ज मेडल

    खेल। टोक्यो पैरालंपिक (Paralympics Tokyo 2020) में भारतीय शटलरों को बड़ी कामयाबी मिली है। टोक्यो के योयोगी नेशनल स्टेडियम (Yoyogi National Stadium) में बैडमिंटन (Badminton) के पुरुष एकल एसएल 3 फाइनल मुकाबले में भारत के प्रमोद भगत (Pramod Bhagat) ने ग्रेट ब्रिटेन (Great Britain) के डेनियल बेथेल (Daniel Bethell) को 2-0 से मात देकर गोल्ड जीता है। वहीं प्रमोद ने डेनियल को सीधे सेटों में 21-14 और 21-17 से 45 मिनट में हरा दिया। Also Read - Video: इंटरव्यू में नीरज चोपड़ा से पूछा- Sex Life और Training में कैसे रखते हैं बैलेंस? सोशल मीडिया पर भड़के लोग

    वहीं पुरुष एकल एसएल 3 इवेंट में भारत के दूसरे बैडमिंटन प्लेयर मनोज सरकार ने जापान के डाइसुके फुजीहारा को हराकर कांस्य पदक अपने नाम किया है। सरकार ने इस मुकाबले में जापानी शटलर को 22-20, 21-13 से 45 मिनट में हराया है। सरकार ने विपक्षी खिलाड़ी पर 22-20 से पकड़ बनाते हुए जीत दर्ज की। 

    वहीं टोक्यो पैरालंपिक में बैडमिंटन में भारत ने दो पदक हासिल किए हैं। इसके साथ ही पहले सेट के शुरुआती मिनटों में शटलर प्रमोद ने डेनियल पर पकड़ बनाते हुए मैच में वापसी की। बता दें कि प्रमोद 3-5 से पीछे चल रहे थे। उन्होंने 14 मिनट में पहला सेट 21-14 से जीता। हालांकि, ग्रेट ब्रिटेन के शटलर ने प्रमोद को कड़ी टक्कर दी। Also Read - Paralympics Tokyo 2020: DM सुहास गोल्ड मेडल से एक कदम दूर, प्रमोद भगत ने भी बनाई फाइनल में जगह

     

    और भी...

  • दुर्गा पंडाल में लगेगी ममता बनर्जी की मूर्ति, भाजपा ने कहा- मुख्यमंत्री के हाथ खून से रंगे

    दुर्गा पंडाल में लगेगी ममता बनर्जी की मूर्ति, भाजपा ने कहा- मुख्यमंत्री के हाथ खून से रंगे

    पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता (Kolkata) में बागुईहाटी क्षेत्र के नजरूल पार्क उन्‍नयन समिति के दुर्गा पंडाल को लेकर टीएमसी-बीजेपी (Tmc- Bjp) एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। रिपोर्ट के अनुसार, नज़रूल पार्क उन्नयन समिति ने देवी दुर्गा के साथ ही पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की एक मूर्ति लगाने का निर्णय लिया है। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल सरकार (west bengal govt) पर हमलावर हो गई है।

    मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की मूर्ति (Statue of Chief Minister Mamata Banerjee) को लेकर भारतीय जनता पार्टी आईटी सेल (BJP IT Cell) के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने कहा है कि राज्य में विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से हिंसा हुई है उसमें ममता बनर्जी के हाथों में निर्दोष बंगालियों (Bengalis) का खून (Blood) है। यह देवी दुर्गा मां (Durga Maa) का अपमान है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को खुद आगे आकर इसे रोकना चाहिए। मुख्यमंत्री वह हिंदुओं (Hindus) की संवेदनाओं को आहत कर रही हैं।

    वहीं भाजपा नेता अर्जुन सिंह (BJP leader Arjun Singh) का कहना है कि भारत (India) के इतिहास में जिस भी राजनेता ने अपनी मूर्ति बनवाई है, उसे विनाश का सामना करना पड़ा है। अभी तक के इतिहास को देखें तो उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Ex Cm Mayawati) से लेकर दक्षिण भारत (South Indian) के बड़े राजनेताओं तक को सत्‍ता से बाहर का रास्‍ता देखना पड़ा है।

    मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बंगाल (Bengal) में दशहरा पूजा (Dussehra Puja) के लिए मां दुर्गा की मूर्ति बनाने का कार्य शुरू हो गया है। वहीं, मशहूर क्ले मॉडलर मिंटू पाल (Famous clay modeler Mintu Pal) ने कहा कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता (Kolkata) में होने वाली थीम पूजा में इस तरह का विचार सामने आया। जब दुर्गा पूजा की थीम पर विचार चल रहा था तो मैंने कहा कि क्‍यों न सीएम ममता बनर्जी को मां दुर्गा के रूप में दिखाया जाए। ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल, बंगाल के लोगों और बंगाली समाज के लिए 'कन्याश्री', 'जुबोश्री', 'स्वास्थ्य साथी', 'लखीर भंडार' जैसी योजनाएं लेकर लाई हैं। ममता बनर्जी ने जिस तरह की योजनाओं की शुरुआत की है उस तरह की शुरुआत किसी भी सीएम ने नहीं की है।
     

    और भी...

  • अफगानिस्तान में मुल्ला बरादर की अगुवाई में बनेगी तालिबानी सरकार, इन नेताओं को मिल सकती है जगह

    अफगानिस्तान में मुल्ला बरादर की अगुवाई में बनेगी तालिबानी सरकार, इन नेताओं को मिल सकती है जगह

    तालिबान (Taliban) ने अफगानिस्तान के पंजशीर (Panjshir) पर भी कब्जे का दावा किया है। इसी के साथ पूरे अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान का कब्जा हो गया है। इसी बीच अफगानिस्तान में तालिबान की नई सरकार का आज ऐलान किया जाएगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, अफगानिस्तान में मुल्ला बरादर (Mullah Baradar) की अगुवाई में नई सरकार बनेगी।

    रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान के संस्थापक मुल्ला उमर का बेटा मुल्ला मोहम्मद याकूब (Mullah Mohammad Yaqoob), शेर मोहम्मद अब्बास स्टेनकजई (Sher Abbas Stanakzai) भी नई सरकार में अहम पदों पर होंगे। शेर अब्बास स्टेनकजई को विदेश मंत्री (foreign minister) की जिम्मेदारी दिए जानें की उम्मीद है।
    अफगानिस्तान में मुल्ला बरादर सरकार (Mullah Baradar Government) में बाकी नेताओं की क्या भूमिका होगी, इसपर अभी मंथन चल रहा है। लेकिन इसी बीच चर्चा यह भी है कि क्या पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई (Former President Hamid Karzai) और पूर्व मुख्य कार्यकारी डॉ अब्दुल्ला अब्दुल्ला (Former Chief Executive Dr Abdullah Abdullah) जैसे नेताओं को सरकार में शामिल किया जाएगा या नहीं। इसी लेकर अभी कोई जानकारी सामने नहीं आई हैं।

    बता दें कि तालिबान ने सरकार के गठन से कुछ समय पहले पंजशीर घाटी पर भी कब्जा करने का दावा किया है। हालांकि, पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह (Former Vice President Amrulla Saleh) ने तालिबान के दावे के दावे को खारिज किया है। सालेह ने कहा है कि कुछ मीडिया में ऐसी खबरें चल रही हैं कि मैं अपने देश से भाग गया हूं। यह पूरी तरही से निराधार है। यह मेरी आवाज है, मैं आपको पंजशीर घाटी (Panjshir Valley) से अपने बेस से बोल रहा हूं।

     

    और भी...

  • Paralympics Tokyo 2020: भारतीय शूटरों का कमाल, मनीष नरवाल ने गोल्ड तो सिंहराज ने जीता सिल्वर

    Paralympics Tokyo 2020: भारतीय शूटरों का कमाल, मनीष नरवाल ने गोल्ड तो सिंहराज ने जीता सिल्वर

    खेल। टोक्यो पैरालंपिक (Tokyo Paralympics 2020) में भारतीय एथलीटों का कमाल देखने को मिल रहा है। P4 मिक्स्ड 50 मीटर पिस्टल एसएस-1 फाइनल में मनीष नरवाल (manish Narwal) ने गोल्ड अपने नाम किया है। जबकि सिंहराज (Singhraj Adhana) ने सिल्वर जीतकर कीर्तिमान रचा है। मनीष नरवाल ने 218.2 का स्कोर कर पहला स्थान हासिल किया। वहीं सिंहराज 216.7 का स्कोर खड़ा कर दूसरे स्थान पर रहे। इसके साथ ही भारत के पदकों की संख्या 15 हो गई है। बता दें कि ये दोनों शूटर फरीदाबाद के हैं। Also Read - Paralympics Tokyo 2020: DM सुहास गोल्ड मेडल से एक कदम दूर, प्रमोद भगत ने भी बनाई फाइनल में जगह

    क्वालिफिकेशन राउंड की बात करें तो सिंहराज 536 अंकों के साथ चौथे स्थान पर थे, जबकि मनीष सातवें नंबर पर थे। वहीं टोक्यो पैरालंपिक में मनीष नरवाल ने अबतक का तीसरा गोल्ड मेडल दिलाया। इससे पहले अवनि लेखरा और सुमित अंतिल ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

    इसके साथ ही इस पैरालंपिक में 39 साल के सिंहराज ने दूसरा मेडल हासिल किया। इससे पहले उन्हें 10 मीटर एयर पिस्टल SH1 में कांस्य पदक मिला था। अवनि लखेरा के पास भी दो पदक अपने नाम कर चुकीं हैं। बता दें कि अवनि ने गोल्ड के साथ ब्रॉन्ज जीता है।

     

    और भी...

  • सिद्धार्थ शुक्ला के ट्रेनर का खुलासा, Steroids की वजह से फूलने लगा था पेट

    सिद्धार्थ शुक्ला के ट्रेनर का खुलासा, Steroids की वजह से फूलने लगा था पेट

    Sidharth Shukla Death : एक्टर सिद्धार्थ शुक्ला (Sidharth Shukla) की हार्ट अटैक से मौत के बाद कई तरह की खबरें आ रही है। बिग बॉस 13 के विजेता सिद्धार्थ शुक्ला के जिम ट्रेनर सोनू चौरसिया (Sonu Chaurasia) ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने एक वेबसाइट से बात करते हुए कहा कि एक्टर ने बॉडी बनाने के लिए कभी किसी तरह की स्टेरॉयड नहीं ली। उन्हें वेट ट्रेंनिंग पसंद थी, लेकिन वह हमेशा ऑथेंटिक (Authentic) बॉडी बिल्डिंग में विश्वास रखते थे। हालांकि उन्होंने ये भी बताया कि कई महीनों से उनका पैरों का इलाज चल रहा था। जिसके लिए वो कुछ दवा खा रहे थे और स्टेरोइड (Steroids) की वजह से उनका पेट (Stomach Bloating) फूलने लगा था। सोनू सिद्धार्थ को पिछले छह सालों से फिल्म और शो के लिए ट्रेंन कर रहे थे।

    सोनू का दावा है कि सिद्धार्थ शुक्ला से उनकी आखिरी मुलाकात 24 अगस्त को हुई थी। जिम ट्रेनर ने कहा कि "वह 24 अगस्त को मेरे जिम आए थे और मेरे जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। अगले दिन मुझे अपनी फिल्म की शूटिंग के लिए भोपाल जाना था। वह नहीं चाहते थे कि मैं जाऊं, वो थोड़े अपसेट थे और मुझे चिढ़ा रहे थे। ''तुम क्या हीरो बनने जा रहे हो, अगर तुम यहां नहीं होंगे तो मैं नहीं आऊंगा। मैंने उन्हें मनाने की कोशिश की और कहा कि जब मैं कहीं बाहर रहूंगा तो मेर एसिटेंट आपको ट्रेन करेंगे, लेकिन इसके बाद वह जिम नहीं आएं। दुख की बात यह है कि उस दिन के बाद हमने एक-दूसरे से फोन पर बात भी नहीं की''

     

    और भी...

  • टोक्यो पैरालिंपिक में अवनि लेखरा ने रचा इतिहास, गोल्ड के बाद ब्रॉन्ज मेडल पर किया कब्जा

    टोक्यो पैरालिंपिक में अवनि लेखरा ने रचा इतिहास, गोल्ड के बाद ब्रॉन्ज मेडल पर किया कब्जा

    Paralympics Tokyo 2020 टोक्यो पैरालिंपिक से आज देश के लिए दूसरी खुशी की खबर सामने आई है। अब पैरा-शूटर अवनि लेखरा (Avani Lekhara) ने टोक्यो पैरालिंपिक के इतिहास में अपना नाम दर्ज कर लिया है। क्योंकि 10 मीटर राफाइनल में गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने के बाद महिलाओं की 50 मीटर राइफल 3 पोजिशन SH1 में 445.9 पॉइंट्स के साथ ब्रॉन्ज मेडल (Bronze Medal) भी अपने नाम कर लिया है। इस तरह एक ही पैरालिंपिक में अवनि ने दूसरा मेडल जीता है। इसी के साथ भारत का यह 12वां मेडल है। इस जीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी के बाद कई अन्य नेताओं ने अवनि को बधाई दी है। आपको बता दें कि अवनि की रीढ़ की हड्डी में 2012 में हुई एक कार दुर्घटना में चोट लगी थी। इस मेडल के साथ भारत ने सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हुए 12 मेडल अभी तक अपने नाम किए है। जिसमे 2 गोल्ड, 6 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज मेडल है।

    पैरा शूटर अवनि लेखरा ने आज टोक्यो पैरालिंपिक की 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन एसएच1 प्रतियोगिता में ब्रॉन्ज मेडल हासिल किया जिससे वह दो पैरालंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गयीं। अवनि इससे पहले 10 मीटर एयर राइफल स्टैडिंग एसएच1 प्रतियोगिता में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं। लेखरा ने 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन एसएच1 प्रतियोगिता में 1176 के स्कोर से दूसरे स्थान पर रहकर फाइनल के लिये क्वालीफाई किया था।

    फाइनल काफी चुनौतीपूर्ण रहा जिसमें लेखरा ने कुल 445.9 अंक का स्कोर बनाया और वह यूक्रेन की इरिना श्चेटनिक से आगे रहकर पदक हासिल करने में सफल रहीं। वहीं यूक्रेन की निशानेबाज एलिमिनेशन में खराब शॉट से पदक से चूक गयीं और मेडल भारत की झोली में आ गिरा। उधर, अंदेशा लगाया जा रहा है कि आज भारत को कुछ और मेडल भी मिल सकते है क्योंकि भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत और उनकी जोड़ीदार पलक कोहली ने शुक्रवार को यहां टोक्यो पैरालिंपिक की बैडमिंटन मिश्रित युगल स्पर्धा के सेमीफाइनल के लिये क्वालीफाई किया जबकि तीन एकल खिलाड़ी सुहास यथिराज, तरूण ढिल्लों और मनोज सरकार ने भी अंतिम चार में जगह बनायी।
     

    और भी...