ब्रेकिंग न्यूज़
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान जैश का आतंकी ढेर
  • Delhi Air Pollution: दिल्ली में वायु प्रदूषण से मिली थोड़ी राहत, AQI में आई थोड़ी सी गिरावट
  • Breaking: गोवा में MiG-29K फाइटर एयरक्राफ्ट क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
  • भीमा कोरेगांव विवाद: पुणे कोर्ट से सभी आरोपियों को दिया बड़ा झटका, जमानत याचिका की खारिज
  • भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

फैशन/लाइफ स्टाइल

  • होम
  • फैशन/लाइफ स्टाइल
  • सर्दियों में हाथों का रूखापन दूर करने और सॉफ्ट हथेलियों के लिए अपनाएं ये उपाय

    सर्दियों में हाथों का रूखापन दूर करने और सॉफ्ट हथेलियों के लिए अपनाएं ये उपाय

    महिलाएं अक्सर अपने हाथों को मुलायम बनाने और स्किन को ग्लोइंग करने के लिए कुछ न कुछ उपाय करती रहती हैं। खास कर महिलाएं सर्दियों में अपने हाथों, हथेलियों और पैरों की रूखी त्वचा को लेकर काफी चिंतित रहती हैं। इसके साथ ही गर्मियों के मुकाबले में सर्दियों में त्वचा का रंग भी ज्यादा गहरा दिखाई देने लगता है। खट्टे फलों में स्किन टोन को अच्छा करने में काफी गुण होते हैं।ऐसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए हम आपको आसान घरेलू नुस्खे बताने जा रहे हैं। जिनसे आपको बहुत फायदा मिलेगा।

    जरूरी सामग्री

    नींबू का रस - 2 चम्मच

    नींबू में सिट्रिक एसिड होता है, इसलिए ये त्वचा को टोन करता है। नींबू त्वचा के लिए नैचुरल ब्लीचिंग एजेंट की तरह काम कररता है। नींबू के प्रयोग से त्वचा के दाग-धब्बे, डार्क स्पॉट्स और अनईवेन रंगत साफ होते हैं।

    शहद - 1 चम्मच

    शहद- शहद को एंटी-एजिंग गुणों के कारण स्किन केयर स्पेशलिस्ट काफी अच्छा मानते हैं। शहद में कई महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आपकी त्वचा पर उम्र के प्रभाव को रोकते हैं। लेकिन केमिकलयुक्त नहीं, बल्कि ऑर्गेनिक शहद का ही प्रयोग करना चाहिए।

    बेकिंग सोडा - 1/2 चम्मच

    बेकिंग सोडा- बेकिंग सोडा त्वचा पर मौजूद डेड स्किन सेल्स को हटाता है और नए स्किन सेल्स के विकास में मदद करता है। इसलिए इसके प्रयोग से आपकी त्वचा चमकदार होती है और भीतर तक की गंदगी साफ हो जाती है।

    कैसे करें प्रयोग

    एक कटोरी में नींबू के रस, शहद और बेकिंग सोडा को अच्छे से मिक्स करें।

    इस मिक्सचर को रूखी त्वचा जैसे हाथों, पैरों, हथेलियों और कोहनियों आदि पर लगाएं।

    फिर हल्के हाथों से 3-4 मिनट तक मसाज करें।

    मसाज के बाद हाथों को 10 मिनट के लिए छोड़ दें, ताकि यह सूख जाए।

    इसके बाद में हाथों को हल्के गुनगुने पानी से धोएं।

    ध्यान दें।

    इसके बाद अपने हाथों में 2-3 घंटे तक साबुन का इस्तेमाल न करें।

    और भी...

  • कॉफी पीना डायबिटीज मरीजों के लिए है फायदेमंद

    कॉफी पीना डायबिटीज मरीजों के लिए है फायदेमंद

    Coffee Benefits: डायबिटीज आज के समय में एक गंभीर समस्या बन चुकी है। शायद ही कोई ऐसा देश हो जहां डायबिटीज का मरीज न देखने को मिलता हो। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डायबिटीज के सबसे ज्यादा मरीज भारत में ही देखने को मिलते हैं। भारत को विश्व की डायबिटीज राजधानी के रूप में भी जाना जाता है। इस बीमारी को धीमी मौत भी कहा जाता है। यह बीमारी ऐसी है कि अगर एक बार किसी को हो गई तो जीवन भर उसका साथ नहीं छोड़ती है। इस बीमारी की सबसे डरावनी चीज है कि यह शरीर में अन्य कई बीमारियों को भी बुलावा देती है। पहले तो डायबिटीज चालीस साल और उससे ज्यादा उम्र के लोगों में देखने को मिलती थी। आज कल डायबिटीज बच्चों में भी देखने को मिल रही है,जो एक चिंता का विषय है।

    डायबिटीज क्या है

    जब शरीर में पैंक्रियाज में इंसुलिन का पहुंचना कम हो जाता है इस वजह से खून में ग्लूकोज का स्तर बढ़ने लगता है। इस स्थिति को डायबिटीज कहा जाता है। इंसुलिन एक हार्मोन है जो पाचक ग्रंथि द्वारा बनता है। यह खाए गए खाने को एनर्जी में बदलने का काम करता है। यही शरीर में शुगर की मात्रा को कंट्रोल करता है। डायबिटीज मरीज को शरीर को भोजन से एनर्जी बनाने में कठिनाई होती है। जो शरीर के विभिन्न अंगों को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है।

    डायबिटीज कितने तरह का होता है

    डायबिटीज 2 तरह का होता है -टाइप-1 और टाइप-2। टाइप-1 डायबिटीज होने का मुख्य कारण शरीर में इंसुलिन का बनना बंद होना है। टाइप-2 की स्थिति में शरीर में इंसुलिन का जरूरत के हिसाब से निर्माण नहीं होता या इसका इस्तेमाल ठीक ढंग से नहीं हो पाता है।

    डायबिटीज के लक्षण

    1. मोटे लोगों को डायबिटीज होने का ज्यादा खतरा होता है।

    2. जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है उन्हें भी डायबिटीज होने का खतरा रहता है।

    3. कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है तो भी डायबिटीज होने का खतरा है।

    4. प्रेग्नेंसी के समय मां को डायबिटीज रहा हो, तो आने वाले समय में बच्चे को डायबिटीज हो सकता है।

    5. अगर किसी व्यक्ति को दिल की बीमारी हो, तो ये भी डायबिटीज के खतरे को बढ़ा सकती है।

    6. 40 साल की उम्र से ज्यादा सभी लोगों को लाइफस्टाइल अच्छी नहीं होने की वजह से डायबिटीज का खतरा हो सकता है।

    7. ज्यादा प्यास लगना भी डायबिटीज होने का खतरा है।

    8. बार-बार पेशाब का आना डायबिटीज हो सकता है।

    9. आंखों की रोशनी कम होना भी डायबिटीज का लक्षण है।

    10. कोई भी चोट या जख्म देरी से भरता है तो ऐसे में डायबिटीज होने का खतरा है।

    डायबिटीज का बड़ा खतरा

    डायबिटीज के मरीजों की सबसे ज्यादा हार्ट अटैक या स्ट्रोक से होती है। शरीर में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ने से हार्मोनल बदलाव होता है। जिस वजह से खून की नलिकाएं और नसें दोनों पर प्रभाव पड़ता हैं। यह हार्ट अटैक आने का कारण बन सकता है। डायबिटीज का लंबे समय तक इलाज न करने पर यह आंखों की रेटिना को नुकसान पहुंचा सकता है। इससे व्यक्ति हमेशा के लिए अंधा भी हो सकता है।

    कॉफी पीना है फायदेमंद

    आप कॉफी पीना पसंद करते हैं,तो यह आपके लिए अच्छी खबर है। कॉफी पीने से डायबिटीज में फायदा हो सकता है। रोजाना तीन-चार कप काफी पीने से डायबिटीज टाइप-2 का खतरा 25 फीसदी कम हो जाता है। डायबिटीज टाइप-2 के मामलों में कॉफी पीने का असर पुरुष और महिला दोनों में पाया गया है। शोधकर्ताओं ने पाया है कि कॉफी टाइप 2 डायबिटीज के विकास के जोखिम को कम करने में मदद करता है। केवल फ़िल्टर वाली कॉफी पीना फायदेमंद है। शोधकर्ताओं ने फिल्टर कॉफी और उबली हुई कॉफी के बीच तुलना भी की। उबली हुई कॉफी में कॉफी के बींस को सीधे पानी में डालकर उबाल दिया जाता है। रिसर्च से पता चलता है कि फ़िल्टर्ड कॉफी टाइप 2 डायबिटीज के विकास के जोखिम को कम करने के मामले में सकारात्मक प्रभाव डालती है। लेकिन उबली हुई कॉफी का यह प्रभाव नहीं होता है।उबली हुई कॉफी दिल और संवहनी रोगों के खतरे को बढ़ाती है, क्योंकि डाइटपेन की उपस्थिति के कारण उबले हुए कॉफी में पाया जाने वाला एक प्रकार का अणु होता है।

    कैसे बनाई जाती है फिल्टर कॉफी :

    फिल्टर कॉफी बनाने के दौरान कॉफी बींस को एक फिल्टर में रखा जाता है और पानी को उसके ऊपर डाला जाता है। पानी कप में गिरता है। वहीं, उबली हुई कॉफी में पीसी हुई कॉफी बींस को सीधे पानी में डाल दिया जाता है।

     

    और भी...

  • Valentines Day 2020: वेलेंटाइन डे पर इन खूबसूरत ड्रेस ऑप्शन्स से लड़कियां पाएं गॉर्जियस लुक

    Valentines Day 2020: वेलेंटाइन डे पर इन खूबसूरत ड्रेस ऑप्शन्स से लड़कियां पाएं गॉर्जियस लुक

    Valentines Day 2020 : आमतौर पर लोग वेलेंटाइन डे को पार्टनर के लिए स्पेशल बनाने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाते हैं, जिसमें लंच और डिनर डेट प्रमुख होता है। अगर आप भी किसी ऐसी ही डेट पर पार्टनर के साथ जाने का प्लान कर रही हैं, तो आज हम आपको डेट के मुताबिक ड्रेस पहनने की सलाह देगें। जिससे आप उस डेट को इंज्वॉय कर सकें।

    Valentines Day Date 2020 / Dress Idea For Girls

    1. डिनर और मूवी डेट

    अगर आप किसी डिनर और मूवी डेट के लिए जाने वाली हैं और वेस्टर्न आउटफिट पहनने में कंफर्टेबव महसूस करती हैं, तो ऐसे में आप अपनी पसंद के मुताबिक, छोटी या बड़ी वन पीस या टू पीस कैरी कर सकती हैं, इसे आप लैदर या डेनिम जैकेट और लांग बूट के साथ कंप्लीट करें। आपका ये लुक सर्दी के मौसम में भी कैरी कर सकती हैं।

    2. कॉफी डेट

    अगर आपको मिले हुए ज्यादा वक्त नहीं हुआ या समय की कमी की वजह से सिर्फ कॉफी डेट या आईसक्रीम डेट के लिए जाने वाली हैं, तो ऐसे में आप अपनी फेवरेट जींस को ऑफ शोल्डर टॉप या स्वेट शर्ट के साथ टीमअप करें। आपका ये कैजुअल लुक रिश्ते की शुरुआत को हल्का और स्ट्रेस फ्री बनाने का काम करेगा।

    3. डेट एट होम

    अगर आप वेलेंटाइन डे पर पार्टनर के घर जाने वाली हैं, तो ऐसे में आप एक लाइट वूलन स्वेटर को टाइट सिगरेट पैंट या लैंगिग के साथ पहनें। इसके साथ आप अपने लुक को नॉर्मल मेकअप और बालों को ऊपर की ओर एक टाइट बन बनाकर या बालों को खुला छोड़कर एक कैजुअल लुक बना सकती है।

    4. पिकनिक या डे आउट

    अगर आप वेलेंटाइन डे के दिन अपने पार्टनर के साथ डे आउट का प्लान बना रही हैं, तो ऐसे में आप ऐसे कपड़ों का चुनाव करें जो स्टाइलिश होने के साथ ही कंफर्टेबल भी हों। आप जींस के साथ शर्ट या टी शर्ट को डेनिम या लैदर जैकेट और स्पोर्टस शूज के साथ पहनें या अगर आप इंडियन ड्रेस में कंफर्टेबल महसूस करती हैं, तो अपनी पसंद के मुताबिक लैंगिग कुर्ती या प्लाजो सूट ट्राई कर सकती हैं।

    5. सरप्राइज डेट

    अगर आप अपने वेलेंटाइन डे को पार्टनर के लिए यादगार बनाना चाहती हैं, तो ऐसे में आप रेड कलर की शार्ट या नी लेंथ की फ्रॉक पहनें। ये वेलेंटाइन डे पर आपके लुक को परफेक्ट बनाने में मदद करेगी, लेकिन इस ड्रेस का चुनाव आप कंफर्टेबल फील करने पर ही करें वरना आप अपनी डेट को इंज्वॉय नहीं कर पायेंगी। आप इसके साथ अपने बालों को खुला छोड़े और हाथ में एक रेड या गोल्डन कलर का ब्रेसलेट और एक हाथ में घड़ी कैरी करें, जबकि पैरों में हील और हाई हील पसंद के मुताबिक पहनें।

    और भी...

  •