ब्रेकिंग न्यूज़
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान जैश का आतंकी ढेर
  • Delhi Air Pollution: दिल्ली में वायु प्रदूषण से मिली थोड़ी राहत, AQI में आई थोड़ी सी गिरावट
  • Breaking: गोवा में MiG-29K फाइटर एयरक्राफ्ट क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
  • भीमा कोरेगांव विवाद: पुणे कोर्ट से सभी आरोपियों को दिया बड़ा झटका, जमानत याचिका की खारिज
  • भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

सेहत

  • अगर रखना चाहते है इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग, तो ऐसे खाएं काली मिर्च, जानिए इसके फायदे

    अगर रखना चाहते है इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग, तो ऐसे खाएं काली मिर्च, जानिए इसके फायदे

    Coronavirus: कोरोना वायरस का कहर दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। सरकार इसे रोकने का लगातार प्रयास कर रही है। लेकिन यह खतरनाक वायरस रुकने के बजाए दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है। इस तरह के हालातों को देखते हुए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन कर दिया गया है। तो वहीं ऐसे में आपको बताना चाहेंगे कि इससे लड़ने के लिए खुद का इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग रखना बहुत जरूरी है।

    इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग रखने के लिए आज हम आपको बताएंगे की काली मिर्च खाने के क्या फायदे हैं। इसके साथ ही हम आपको काली मिर्च खाने का तरीका भी बताएंगे जिससे आपका इम्यूनिटी सिस्टम स्ट्रांग होगा। चलिए जानते हैं काली मिर्च खाने का तरीका।

    आटे के लड्डू

    वहीं देखा जाता है कि भारतीय लोग आटे के लड्डू खाने के बहुत शौकीन होते हैं। हर घर में कई तरह के लड्डू बनते हैं। ऐसे में आप आटे और बेसन के लड्डू बनाकर उसमें काली मिर्च का पाउडर मिला सकते हैं। इस लड्डू को आप हर रोज शाम की या सुबह की चाय के साथ एक मिर्च वाला लड्डू भी खा सकते है। यह लड्डू आपका डाइजेशन को भी अच्छा करता है।

    सैंडविच

    अक्सर बच्चे सैंडविच खाने के ज्यादा शौकीन होते हैं। ऐसे में आप उनके सैंडविच में काली मिर्च का पाउडर मिला कर खिला सकते हैं।

    चीला

    आप बेसन या मैदा का चीला बनाकर खा सकते हैं। इसमें आप लाल मिर्च के बजाए काली मिर्च डालकर खा सकते हैं। वहीं आप सब्जियों में लाल मिर्च की जगह काली मिर्च डालकर खा सकते हैं।इसके अलावा आप स्प्राउट्स, सलाद और नींबू पानी में भी काली मिर्च डालकर सेवन कर सकते हैं।

    और भी...

  • Coronavirus: क्या आपको भी है ये खराब आदत तो हो जाइए सावधान

    Coronavirus: क्या आपको भी है ये खराब आदत तो हो जाइए सावधान

    Coronavirus: चीन से शुरू होकर कोरोनावायरस अब दुनिया के 151 देशों में फैल चुका है। इसके साथ ही अमेरिका जैसे देश में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है। इतना ही नहीं अब भारत में भी मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कोविद-19 दुनिया के 145 देशों में फैल गया है। अब तक दुनिया में कोरोनो वायरस के कुल 145,857 मामलों की पुष्टि की जा चुकी है। ये वायरस वुहान से शुरू हुआ है और 5 हजार 835 मौतों का आंकड़ा पहुंच गया है। इसको देखते हुए लोगों में कोरोना वायरस की काफी दहशत फैल चुकी है।

    वहीं अगर अकेले भारत की बात करें तो 100 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस के शिकार हो चुके हैं। जिसमें अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं इसके कोहराम को देखते हुए केंद्र सरकार ने इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है। इसके साथ ही हेल्थ एक्सपर्टस ने लोगों को सलाह देते हुए कहा है कि वो साफ सफाई का खास ध्यान रखें। लेकिन इसके बावजूद भी इस खतरनाक वायरस से बचना मुश्किल हो रहा है। वहीं न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के एलजर्जी और इनफेक्शियस स्पेशलिस्ट ने मुंह से नाखुन चबाने को सख्त मना किया है।

    तो वही स्पेशलिस्ट का कहना है कि कुछ लोग अपनी खराब आदतों की वजह से इस वायरस को खुद बुलावा देते हैं। जिसमें सबसे ज्यादा खराब आदत मुंह से नाखुन चबाना है। मुंह से नाखुन चबाने से आप सिर्फ कोरोना वायरस को ही नहीं बल्कि कई फ्लू को दावत देते हैं। आप चाहें कितनी भी साफ सफाई रखलें मगर आप इस आदत को नहीं छोड़ते हैं तो आपको कोरोना वायरस होने का खतरा हो सकता है।

    इस आदत से निपटने के लिए हम आपको कुछ तरीके बतान जा रहे हैं। जिसे अपना कर आप इस आदत से छुटकारा पा सकते हैं।

    • हाथों में ग्लव्स पहन सकते हैं।

    • च्विंगम चबाकर आप नाख चबाने की बुरी आदत से बच सकते हैं।

    • नेल पेंट लगा लें।

    • नाखुनों को एकदम छोटा रखें

    और भी...

  • समय-समय पर बदलते रहना चाहिए डेली यूज कि ये चीजें, नहीं तो बन सकता किसी बीमारी की वजह

    समय-समय पर बदलते रहना चाहिए डेली यूज कि ये चीजें, नहीं तो बन सकता किसी बीमारी की वजह

    हम अक्सर ये बात भुल जाते हैं कि अपने डेली यूज कि चीजें हमने आखिरी बार कब बदली थी। हमारे घर में कई ऐसी चीजें होती हैं जो हम कई सालों तक इस्तेमाल करते रहते हैं, और यहीं चीजें आगे चलकर किसी बीमारी की वजह बन जाती हैं। आज हम आपको डेली यूज की कुछ ऐसी चीजें बताने जा रहे हैं। जो हमें समय-समय पर बदलते रहना चाहिए। अगर हम एसा नहीं करते तो इन चीजों के इस्तेमाल के इंफेक्शन होने का खतरा और भी बढ़ सकता है।

    टूथब्रश

    लोग शायद ही यह बात जानते होंगे कि टूथब्रश पर 1 करोड़ से भी ज्यादा बैक्टीरिया मौजूद होते हैं। जिसे साफ रखना बहुत ज्यादा जरूरी होता है। तो वहीं हम आपको बताना चाहेंगे कि आपको कोई भी टूथब्रश 3 महीने से ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

    तकिया

    कई बार देखा जाता है कि कुछ लोगों का एक तकिया फेवेरट होता है। जिसे वे सालों तक इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि गंदे तकिए में बैक्टीरिया मौजूद होता हैं। जो सिर्फ बालों को ही नुकसान नहीं पहुंचाता बल्कि पिंपल्स जैसी प्रॉब्लम्स भी क्रियेट करता है। ऐसे में हर इंसान को चाहिए कि वो 1 साल के ज्यादा तकिए को इस्तेमाल न करें।

    हेयर ब्रश या कंघी

    टूथब्रश को तो फिर भी लोग बदल देते हैं लेकिन कंघी और हेयरब्रश को तो लोग सालों तक यूज करते हैं। जिस वजह से कंघे के बेस में बालों का गुच्छा या गंदगी जम जाती है। वहीं कुछ लोग इसे साफ तो कर लेते हैं लेकिन चैंज नहीं करते हैं। हर किसी को कंघी 6 महीने के अंदर ही बदल लेनी चाहिए।

    किचन की इन चीजों को भी बदलें

    किचन स्पंज, चॉपिंग बोर्ड जैसी चीजों को आपको हर 3 महीने में बदल देना चाहिए। क्यों कि इनमें पनप रहे बैक्टीरिया आपको बीमार कर सकते हैं।

    मेकअप ब्रश

    लड़कियों को अक्सर पिंपल्स की दिक्कत होती है। जिसकी एक वजह होती है उनके मेकअप प्रॉडक्ट और मेकअप से जुड़े टूल्स। ज्यादा समय तक हेयरब्रश इस्तेमाल करने से उनमें बैक्टीरिया आ जाता है। जिससे आपको स्किन प्रॉब्लम होने लगती है। इसलिए आपको चाहिए कि आप 3 महीने से ज्यादो कोई भी मेकअप टूल इस्तेमाल न करें।

     

     

    और भी...

  • Holi 2020: अगर होली पर ज्यादा हो गया शराब या भांग का नशा, इन चीजों से उतारे नशा

    Holi 2020: अगर होली पर ज्यादा हो गया शराब या भांग का नशा, इन चीजों से उतारे नशा

    Holi 2020: इस साल होली 10 मार्च का मनाई जानी है। रंगो का त्योहार लोगों को बेहद पसंद होता है। वहीं इसी रंगो के इस मस्ती भरे में माहौल में लोग भांग या भांग की ठंडाई का सेवन कर लेते हैं। हांलाकि भांग का सेवन करना शरीर के लिए काफी Harmful होता है। भांग हो या शराब सेहत के लिए दोनों ही हानिकारक है। लेकिन फिर भी लोग इस अवसर पर इसे पीने से पीछे नहीं हटते हैं।

    कई बार तो लोग इसका इतना सेवन कर लेते हैं कि भांग या शराब पीने वाले इंसान के साथ-साथ उनके परिवार वाले भी परेशान होने लगते हैं। इसी बीच कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं। जिसके जरिए आप शराब या भांग का नशा उतार सकते हैं। अगर इन तरीकों से भी नशा न उतरे तो उस शख्स को तुरंत डॉक्टर के पास लेकर जाएं।

    ये हैं शराब उतारने के तरीके-

    सरसों तेल

    कई बार ज्यादा नशा आपको बेहोशी की हालत में भी पहुंचा सकता है। ऐसे में आप नशे से बेहोश हुए शख्स के कानों नें सरसों के तेल की दो बूंद डाल दें।

    अदरक

    थोड़ी सी अदरक खिला देने से भी नशा उतर जाता है।

    देशी घी

    भांग का नशा उतारने के लिए शुद्ध देसी घी का सेवन करें। जल्द ही नशा उतर जाएगा।

    चना

    शायद ही लोग जानते हों कि चना भांग का नशा उतारने के लिए काफी फायदेमंद होता है। जब भांग का नशा ज्यादा हो जाए तो तुरंत भुने हुए चने खाएं।

    खट्टे फल

    नशा उतारने के लिए आप संतरा, अंगूर,रसभरी जैसे खट्टे फल खा सकते हैं। इनमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स भांग का नशा देने वाले केमिकल्स को खत्म करता है। वहीं इन फलों के खाने के से एक घंटे के अंदर ही नशा उतर जाता है।

    नारियल का पानी

    नशे उतारे के लिए नारियल पानी बहुत अच्छा ऑप्शन है। नारियल पानी पीने से नशा उतारने के साथ साथ आपकी बॉडी में शराब के कारण पैदा हुई ड्राईनेस को भी खत्म करता है।

    खट्टी चीजें

    किसी भी तरह का नशा उतारने के लिए खट्टी चीजेंं काफी फायदेमंद होती हैं। इसके लिए आप कच्चे आम का पना या इमली का पानी बनाकर भी पी सकते हैं।

    दही

    नशा उतारने के लिए दही काफी कारगार होती हैं। नशा कम करने के लिए आप दही या छाछ का सेवन करें। यह आपका नशा उतारने में काफी मदद करेगी।

    नींबू

    नशा उतारने के लिए नींबू काफी फायदेमंद होता है। ऐसे में चार से पांच बार नींबू पानी पियें। इससे आपका नशा उतर जाएगा। नहीं तो आप नींबू को चाट भी कर सकते हैं।

    और भी...

  • CoronaVirus : अब कोरोना से बचने के लिए नहीं है मास्क की आवश्यकता, सिर्फ इन बातों का रखें ध्यान

    CoronaVirus : अब कोरोना से बचने के लिए नहीं है मास्क की आवश्यकता, सिर्फ इन बातों का रखें ध्यान

    CoronaVirus: चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस अन्य देशों के साथ-साथ ही अब भारत में भी अपना कहर बरपा रहा है। भारत में अब तक 29 लोगों में कोरोना वायरस पॉजिटीव पाया गया है। कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर तरह-तरह की जानकारी और अफवाह शेयर किये जा रहें हैं। सिर्फ शेयर ही नहीं लोग इन्हें फॉलो भी कर रहे हैं। 

    बता दें की इस तरह के कई पोस्टस में लोगों को मास्क लगाने से लेकर सैनेटाइजर इस्तेमाल करने की सलाह दी जा रही है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग की माने तो मास्क लगाने से लेकर सैनेटाइजर से हाथ धोने का कुछ फायदा नहीं होने वाला है। इन सभी बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

    दरअसल, नोएडा शहर में जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनुराग भार्गव ने बताया कि कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर कई भ्रम फैलाए जा रहे हैं। जिसका फायदा लोगों को तो नहीं बल्कि मास्क बनाने से लेकर दूसरी कंपनियों को जरुर हो रहा है। सीएमओ ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सिर्फ साफ-सफाई पर ध्यान दें। अगर कोई बीमार है तो वह मास्क इस्तेमाल करें।

    इन बातों का रखें ध्यान

    -ज्यादा से ज्यादा बार हाथों को साबुन से कम से कम 10 मिनट तक साफ करें।

    -हाथ धुले बिना मुंह पर न लगाएं।

    -किसी से हाथ मिलने के बाद हाथ जरूर साफ करें।

    -एक- दूसरे के बिना धुले कपडे न पहनें।

    -हाथ की उंगलियों को मुंह, आंख और नाक में धुले बिना न डालें।

    -दिन में कई बार हाथ धोएं।

    -केवल वायरस से पीड़ित शख्सा ही एन-95 मास्कल का इस्तेबमाल करें।

    यह करने की जरूरत नहीं

    मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अनुराग भार्गव ने कहा कि लोग हाथ साफ करने के लिए सैनेटाइजर खरीद रहे हैं लेकिन इसकी जरूरत नहीं है। आप साबुन से ही अच्छे से हाथ धोंए। अगर आपको बीमारी के कोई लक्षण नहीं हैं तो आपको मास्कं लगाने की भी जरूरत ही नहीं है।

    और भी...

  • Hair Fall Tips : बाल झड़ने की समस्या से कैसे पाएं छुटकारा, जानिए 10 घरेलू उपाय

    Hair Fall Tips : बाल झड़ने की समस्या से कैसे पाएं छुटकारा, जानिए 10 घरेलू उपाय

    Beauty Tips: बाल झड़ना आज के समय में हर एक व्यक्ति के लिए परेशानी का कारण बना हुआ है। ये समस्या खासकर महिलाऔं में देखने को मिलती है। लोगों को यह डर सताने लगता है कि बाल झड़ने की वजह से धीरे-धीरे कहीं गंजे ना हो जाएं। आज के समय में यह समस्या आम हो गई है। बाल आपकी पर्सनैल्टी को निखारने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

    लेकिन बाल झड़ने की समस्या बढ़ती जा रही है। इसके जिम्मेदार हम खुद हैं। हमारा लाइफस्टाइल और खान पान हमारे बालों पर खास असर डालता है। लेकिन हमारे गलत खान पान ने इस समस्या को बढ़ा दिया है। जिसके लिए हम मार्किट प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते हैं। जिससे हमे बहुत नुकसान पहुंचता है।

    बाल झड़ने की समस्या को दुर करने के लिए सबसे पहले आपको अपना खान पान ठीक करना होगा। आज हम आपको कुछ एसे घरेलू उपाय बताने जा रहे हैं। जिसके इस्तेमाल से आप अपने बालों को झड़ने से रोक पाएंगे। तो चलिए जानते हैं क्या हैं वो घरेलू उपाय।

    1.तांबे का बर्तन

    रात को ताँबे के बर्तन में पानी को रखें। फिर सुबह आधा चम्मच आवला चूर्ण के साथ इस पानी का सेवन करें। आपके ऐसा करने से आपको बालों के झड़ने की समस्या से जल्द ही राहत मिल जाएगी।

    2. कलौंजी 

    कलौंजी को पीस कर पानी में मिलाएं। और इस पानी से कुछ दिन तक बालों को अच्छे से धोएं।

    3. दालचीनी पाउडर

    दालचीनी पाउडर को शहद में मिलाकर पेस्ट तैयार करें। बाद में इस पेस्ट को बालों में लगाएं। ऐसा करने से जल्द ही बालों को झड़ने की समस्या से राहत मिलेगी।

    4.नीम

    नीम की पत्तियो और आंवलें के चूर्ण को पानी में डाल कर उबाल लें। हफ्ते में कम से कम एक बार अपने सिर को इससे जरुर धोएं। ऐसा करने से आपको बालों के झड़ने की समस्या दूर होगी

    5.धनिया

    धनिया के रस को बालों की जड़ों में लगाने से बालों के झड़ने की समस्या से राहत मिलती है।

    6.गाजर

    गाजर के रस को बालों में लगाने से बालों को झड़ने से बचाने से रहत मिलती है।

    7.आंवला

    आंवला खाने से का से बालों की समस्या दूर होती है। यह बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए आप आंवला पाउडर को मेहंदी में मिलाकर हफ्ते में एक बार लगा सकती है।

    8.मैथी

    मैथी के बीजों को रात को पानी में भिगो कर रख दें। सुबह इन बीजो को पानी से निकाल कर अच्छे से पीस कर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को अच्छे से अपने बालों में लगाएँ। और सूखने के बाद बालों को धो लें। ऐसा करने से आपको थोड़े ही दिनों में बालों के झड़ने की समस्या से राहत मिलेगी।

    9.अंडा

    अंडे का तरल भाग को निकालें। फिर इसे ओलिव आयल के साथ अच्छे से मिक्स करके बालों में लगाएं। और सूखने के बाद अपने बालों को धो लें। ऐसा करने से भी आपको बालों के झड़ने की समस्या से राहत मिलेगी।

    10.प्याज

    प्याज़ को पीस कर अपने बालों में लगाकर थोड़े समय के लिए छोड़ दें। और उसके बाद जब ये सुख जाएँ तो बालों को धो लें। ऐसा करने से बालों के झड़ने की समस्या दूर होगी।

    और भी...

  • Weight Reduce: खाने में ये चीजें शामिल कर लिजिए, जल्दी हो जागा वजन कम

    Weight Reduce: खाने में ये चीजें शामिल कर लिजिए, जल्दी हो जागा वजन कम

    हाईटेक होते जमाने के साथ हमारा लाइफ स्टाइल भी अनियमित होता जा रहा है। खाना खाने का कोई तय समय ना होना और फास्ट फूड की लत से ज्यादातर लोगों में अधिक वजन यानि मोटापे की समस्या हो रही है। वजन कम करने के लिए लोग डाइटिंग करते हैं तो वही कुछ लोग खाना नहीं छोड पाते। ऐसे लोगों के लिए हम लेकर आये है कुछ बेहतरीन उपाय, जिससे आप बिना डायटिंग करें ही अपना वजन कम कर सकेंगे। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार वजन कम करने के लिए आपको अपने खाने में इन 4 चीजों को शामिल करना होगा।

    खाने में शामिल करें चना

    अगर आपना वजन कम करना चाहते है तो खाने की थाली में चना भी शामिल कर लें। चने में प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इसके साथ ही इसमें प्लांट बेस्ड प्रोटीन, कैल्शियम, जिंक और फोलेट भी पाया जाता है। जो शरीर में कोलेस्ट्राल की मात्रा को कम करने में मदद करता है। साथ ही फाइबर की अधिक मात्रा होने के कारण यह पाचनतंत्र को सही रखने में मदद करता है। चना सुबह नाश्ते के साथ ही खाने की थाली में शामिल करने से इसका असर दिखाई देगा।

    वजन घटाने में कारगार है कद्दू

    इसके साथ ही खाने की थाली में कद्दू शामिल करें। इसकी वजह कद्दू में अन्य सब्जियों के मुकाबले काफी मात्रा में पोटेशियम और फाइबर पाया जाता है। हेल्थ एक्सप‌र्ट्स का कहना है कि कद्दू का सेवन करने से वजन कम करने में काफी मदद मिलती है।

    हरी सब्जियों में भरपूर मात्रा में मिलता है पोटेशियम

    वजन कम करने से लेकर शरीर में प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियां सबसे कारगार है। इनमें प्लांट बेस्ड ओमेगा-3 एस भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके साथ ही इन सब्जियों में खनिज तत्व और पोटेशियम काफी मात्रा में मिलते हैं। यह वजन कम करने से लेकर दिल के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित होगी।

    रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में कारगार साबित होते हैं बीज

    इसके साथ ही बीजों में कई तरह के खनिज तत्व मिलते हैं। अलग-अलग बीजों में ढेरों अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। हेल्थ एक्सप‌र्ट्स के अनुसार बीज शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते है। इनमें जिंक, प्लांट बेस्ड प्रोटीन और काफी मात्रा में फाइबर पाया जाता है। शरीर को प्रोटीन और फाइबर मिलने से भूख कम लगती है। साथ ही वजन कम करने में मदद मिलती है।

    और भी...

  • Side Effects Of Elaichi : आइए जानते है इलायची से होने वाले नुकसान

    Side Effects Of Elaichi : आइए जानते है इलायची से होने वाले नुकसान

    Side Effects Of Elaichi: इंडियन खाने में इलायची का इस्तेमाल काफी किया जाता है। इलायची, खाने में खुश्बू को बढ़ाने का काम करता है। तो वहीं इलायची दो तरह की होती हैं। छोटी इलायची और बड़ी इलायची। बड़ी इलायची को माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल नहीं किया जाता। यह मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह एक तरह का खड़ा मसाला है जो गरम मसाला में अहम् भूमिका निभाता है। छोटी इलायची को माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। जिसे आपने अक्सर लोगों को खाने के बाद खाते हुए देखा होगा। छोटी इलायची को लोग चाय में भी इस्तेमाल करते है।

    वहीं सभी लोग इलायची के फायदो के बारे में जानते हैं। लेकिन बहुत ही कम लोग इलायची से होने वाले नुकसान के बारे में जानते होंगे। आज हम आपको इलायची से होने वाले नुकसान के बारे में बताने जा रहे हैं।

    इलायची के नुकसान

    एलर्जी

    ज्यादा इलायची खाने से आपको एलर्जी भी हो सकती है। ज्यादा इलायची खाने से आपको रेशेज या लाल धब्बे जैसी शिकायत भी हो सकती है।

    सांस लेने में तकलीफ

    कई लोगों को इलायची से होने वाले नुकसान के बारे में नहीं पता होता और वे इलायची का ज्यादा सेवन करते हैं। जिससे उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगती है।

    पथरी

    बता दें की कई बार इलायची पथरी का कारण भी बन जाती है। हाल ही में हुई रिसर्च से पता चला है कि शरीर इलायची को पूरी तरह से पचा नहीं पाता है। फिर ज्यादा इसका सेवन करने से ये धीरे धीरे इक्कठे होते जाता है और गालब्लैडर स्टोन का कारण बन जाता है। वहीं पथरी के रोगी को इलायची से परहेज करना चाहिए।

    रिएक्शन

    अगर आप किसी तरह की दवाइयां खाते हैं। तो ऐसे में इलायची खाने से आपको रिएक्शन करके दूसरी परेशानी उत्पन्न हो जाती है।

    सीने-गले में खिंचाव

    ज्यादा इलायची खाने से आपको सीने में और गले में खिचाव होता है। इसके साथ ही गले और सीने में दर्द भी होने लगता है।

    जी मचलाना

    लगातार इलायची का सेवन करने से जी मचलाने जैसी परेशानी भी हो सकती है।

    https://www.haribhoomi.com/lifestyle/health/elaichi-khane-ke-nuksan-side-effects-of-elaichi-cardamom-side-effects-kshd-319581

    और भी...

  • Holi 2020: होली में होती है स्किन से रंग हटाने में दिक्कत, तो अपनाएं ये टिप्स

    Holi 2020: होली में होती है स्किन से रंग हटाने में दिक्कत, तो अपनाएं ये टिप्स

    Holi 2020: होली रंगो का त्योहार है और एसे मौके पर रंगो से बच पाना बहुत ही मुश्किल होता है। तो वहीं लोगों को रंग खेलने के बाद स्किन से रंग हटाने की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। लोग होली के मौके पर अक्सर हार्मफुल केमिकल्स का यूज करते हैं। जिससे स्किन प्रॉब्लम होने का खतरा और बढ़ जाता है। अपनी स्किन से रंग हटाने के लिए लोग स्किन को घिसने लगते हैं। जिससे रेशेज, एलर्जी जैसी और भी कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं। होली के मौके पर आने वाले ऐसे दिक्कत से बचने के लिए हम आपको कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। इन टिप्स को अपना कर आप अपनी स्किन को हार्म होने से बचा सकते हैं।

    वैसलीन लगाएं

    होली खेलने से पहले अपने स्किन पर वैसलीन जरुर लगा लें। वैसलीन लगाने से कलर ज्यादा देर तक नहीं टिकता है। जब भी आप रंग खेलने जाए उससे पहले हाथ, मुंह, कान पर वैसलीन जरूर लगाएं।

    नारियल तेल

    होली खेलने से पहले आप स्किन और बालों पर नारियल तेल भी लगा सकते हैं। ऐसा करने से कलर नहीं टिकेगा।

    प्रोटेक्शन

    होली खेलने से पहले अपनी पूरी त्वचा पर अच्छी तरह क्रीम या माइश्चराइजर से अच्छे से मसाज करें ताकि रंग सीधे ही आपकी त्वचा को प्रभावित ना कर पाए।

    बालों की एक्स्टा केयर करें

    स्किन के साथ-साथ आपको अपने बालों की भी सुरक्षा करनी चाहिए। इसके लिए आप अच्छे से ऑयलिंग कर सकती हैं। होली से एक रात पहले सोने के समय नारियल तेल से अच्छी तरह बालों का मसाज करें। इससे जब आप होली के बाद हेयरवॉश करेंगे तो सारा कलर खुद-ब-खुद निकल जाएगा।

    दही का इस्तेमाल करें

    दही लगाना एक अच्छा ऑप्शन है। इसके इस्तेमाल के लिए आप अपने बालों और स्किन पर अच्छे से दही लगाकर करीबन आधा घंटे के लिए छोड़ दें उसके बाद नहा लें।

    नेल पेंट लगाएं

    आप होली खेलने के पहले अपने नेल्स पर पहले ही नेलपेंट लगा लें। ताकि वहां पर रंग ना टिके। और अगर नाखूनों पर रंग लग जाए तो उसे हटाने के लिए आप नेलपालिश रिमूवर भी यूज कर सकते हैं।

    और भी...

  • Breast cancer: डेली डाइट में शामिल करें ये हेल्दी चीजें, नहीं होने देंगी ब्रेस्ट कैंसर

    Breast cancer: डेली डाइट में शामिल करें ये हेल्दी चीजें, नहीं होने देंगी ब्रेस्ट कैंसर

    Breast cancer: ब्रेस्ट कैंसर भारत में महिलाओं में होने वाला दूसरा प्रमुख कैंसर माना जाता है। दिनों-दिन यह समस्या बढ़ती ही जा रही है। यह बीमारी ज्यादातर शहर की महिलाओं में देखने को मिलती है। इसका मुख्य कारण उन महिलाओं का लाइफस्टाइल और खान-पीन भी हो सकता है। इस बीमारी से अब तक लाखों महिलाएं अपनी जान गवां चुकी हैं।

    वहीं लाखों महिलाएं इस समस्या से जूझ रही हैं। इसी बीच आज हम आपको कुछ हेल्दी चीजें बताने जा रहे हैं। जिसके जरिए आप ब्रेस्ट कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी की चपेट में आने से बच सकती हैं। तो चलिए जानते है ऐसी कौन सी चीजें जिसे हम डेली डाइट में शामिल करके इस बीमारी से अपना बचाव कर सकते हैं।

    ग्रीन वेजिटेबल

    आप जितना हरी सब्जी का सेवन करेंगे आपकी सेहत उतनी ही अच्छी होगी। इसके लिए आप साग, पालक, मेथी, गोभी इसके अलावा सोया का सेवन कर सकते हैं। इसे डाइट में शामिल करके आप कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बच सकते हैं।

    करॉटिनाइड्स युक्त आहार

    अपनी डाइट में करॉटिनाइड्स से भरपूर चीजों को शामिल करें। यह आपको ब्रेस्ट कैंसर के खतरे से बचाता है। इसके लिए आप गाजर,पनीर, केला, टमाटर, खुबानी और शकरकंद शामिल कर सकते हैं। यह आपकी कैंसर कोशिकाओं को कम करने में मदद करता है।

    ग्रीन- टी

    ग्रीन-टी में कई पोषक तत्व, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी- बैक्टीरल जैसे कई गुण मौजूद होते हैं। जिसका सेवन करने से इम्यून सिस्टम भी स्ट्रांग होता है। साथ ही के ब्रेस्ट कैंसर जैसे खतरे को कम करता है। इसके लिए आप डेली 1 कप ग्रीन टी पीयें। यह ब्लड प्रेशर और मोटापे कंट्रोल होने के साथ कैंसर जैसी बीमारियों से बचाने में बहुत मदद करता है।

    अनार का जूस

    अनार खाने से शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। अनार का सेवन करने से बॉडी में खून की कमी भी पूरी होती है। डेली अनार का जूस पीने से स्तन कैंसर से लड़ने में मदद मिलती है।

    एंटी-ऑक्सीडेंट फल

    आप ब्रेस्ट कैंसर जैसी गंभीर बीमारी के खतरे को कम करने के लिए बेरी, प्लम, स्ट्रॉबेरी आदि फलों को अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। इनमें एंटी-ऑक्सीडेंट, पॉलीफेनल्स के गुण पाएं जाते हैं। जो कैंसर की कोशिकाओं से लड़ने में मदद करते हैं।

    और भी...

  • जानिए स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से आपको क्या-क्या परेशानी आ सकती

    जानिए स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से आपको क्या-क्या परेशानी आ सकती

    SmartPhone : स्मार्टफोन हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गया है, यह ना मात्र हमें अपने करीबियों से जोड़े रखता है बल्कि हम आजकल इसे एक बिजनेस टूल की तरह इस्तेमाल करने लगे हैं। आजकल हर व्यक्ति के हाथ में स्मार्टफोन है। हम में से कुछ लोग हैं जो अपने मनोरंजन के लिए मोबाइल फोन पर ही पूरी तरह से निर्भर हों गए हैं।

    आपको बतां दें की देश की 60 से 70 प्रतिशत तक की आबादी के पास आज के समय स्मार्टफोन मौजूद है। यहां तक की बच्चे भी फोन इस्तेमाल करने से बिलकुल नहीं कतराते है। परिजन खुद ही छोटे बच्चों के हाथों में घंटों-घंटों फोन थमा देते है, ताकी वह परेशान ना करें। उन्हें लगता है कि बच्चा काम में लगा है। वर्ल्ड हेलथ ऑर्गेनाइजेशन के एक शोध के अनुसार मोबाइल फोन का अत्यधिक इस्तेमाल मस्तिष्क के कैंसर से ब्रेन में ट्यूमर तक हो सकता है।

    आइए जानते है ज्यादा फोन इस्तेमाल करने से आपको क्या-क्या परेशानी आ सकती है।

    1. मोबाइल फोन उत्पन रेडिएशन आपकी सेहत के लिए बहुत खतरनाक होती है। अगर आप अपने मोबाइल फोन को पूरा दिन अपनी जेब में या शरीर से चिपकाकर रखते हैं तो ट्यूमर होने की आशंका होती है।
    2. रात के समय मोबाइल को अपने साथ रखकर सोने से आपको कई तरह की बीमारियों का खतरा हो सकता है। यह आपके मस्तिष्क पर भी नकारात्मक प्रभाव डालता है।
    3. ज्यादातर पुरुष अपना मोबाइल बेल्ट के पास बने पॉकेट में रखते हैं। यह बेहद ही हानिकारक है। मोबाइल फोन के इलेक्ट्रोमेगनेटिक का असर सीधे आपकी हड्डियों पर भी पड़ता है जिससे आपकी हड्डियों में मौजूद सारा मि‍नरल लिक्विड धीरे-धीरे खत्म होने लगता है।
    4. पुरुषों में कमर के पास मोबाइल फोन को रखना बेहद खतरनाक हो सकता है। दरअसल मोबाइल के रेडिएशन का असर शुक्राणुओं में कमी के रूप में भी हो सकता है।
    5. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के एक शोध के अनुसार मोबाइल फोन का अत्यधि‍क इस्तेमाल मस्तिष्क के कैंसर और ब्रेन में ट्यूमर जैसी खतरनाक बीमारियां आपको घेर सकती है।
    6. मोबाइल से निकलने वाले इलेक्ट्रोमेगनेटिक से आपका डीएनए तक क्षतिग्रस्त हो सकता है। यह आपको मानसिक रोगी बना सकता है।
    7. तनाव और डि‍प्रेशन के कारणों में एक प्रमुख कारण मोबाइल रेडिएशन भी होता है। यह दिमाग की कोशि‍काओं को संकुचित भी कर सकती है।
    8. गर्भवती महिलाओं को ज्यादा मोबाइल फोन का यूज करने से हमेशा बचना चहिए। इससे गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान होता है। इससे बच्चे के विकास में परेशानी भी आ सकती है।
    9. मोबाइल फोन कैंसर जैसी बीमारी को जन्म देते हैं, साथ ही यह डाइबिटीज और हृदय रोगों बीपी जैसी कई तरह की बीमारियों का खतरा भी कई गुणा बढ़ जाता है।
    10. अगर आप मोबाइल से होने वाली सभी परेशानियों से बचना चाहते हैं तो आज से ही मोबाइल का कम यूज करना शुरू करें। इससे आप अपने और अपने परिवार को सुरक्षित कर सकते है।

    और भी...

  • Surrogacy: जानिये क्या है सरोगेसी, इसका पूरा प्रोसेस और इसमे आने वाला खर्च

    Surrogacy: जानिये क्या है सरोगेसी, इसका पूरा प्रोसेस और इसमे आने वाला खर्च

    Surrogacy: शिल्पा शेट्टी 15 फरवरी को सरोगेसी के जरिए मां बनी हैं। इससे पहले भी कई बॉलीवुड स्टार सरोगेसी के जरिए मां बन चुकी हैं। जो लोग इस बारे में नही जानते ने गूगल पर सरोगेसी के बारे में जमकर सर्च कर रहे हैं। इसी बीच आज हम आपको सरोगेसी क्या है और इससे जुड़ी कई जानकारी देने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं सरोगेसी के बारे में।

    सरोगेसी क्या है

    सरोगेसी एक टेकनिकल मीडियम है। जो लोग मां बाप बनने के सुख से दूर हो जाते हैं। वो लोग भी इसके जरिए माता-पिता बन सकते हैं। सरोगेसी को दूसरे शब्दों में किराए की कोख भी कह सकते हैं। सरोगेसी में एक स्वस्थ महिला के शरीर में मेडिकल तकनीक से पुरूष के स्पर्म को इंजेक्ट किया जाता है। इस इंजेक्शन के 9 महीने बाद वह महिला एक स्वस्थ बच्चे का जन्म देती है। इस तकनीक में गर्भधारण करने वाली महिला का पूरे 9 महीने तक डॉक्टर्स अपनी देखरेख में रखते हैं। जिससे एक स्वस्थ बच्चे का जन्म हो सके। जो स्त्री अपनी कोख में दूसरों का बच्चा पालती है उसे सरोगेट मदर कहा जाता है। संतान के जन्म के बाद सरोगेट मदर संतान को दंपति को सौंप देती है।

    क्या है सरोगेसी का प्रोसेस 

    सरोगेसी की प्रक्रिया में सबसे पहले निसंतान दंपति, जो बार-बार गर्भपात या आईवीएफ(IVF)के फेल होने पर ही इस तकनीक या साधन का उपयोग कर सकते हैं। इसके बाद एक अस्पताल और डॉक्टर की परमिशन से ही इस तकनीक का प्रयोग किया जा सकता है। अस्पताल और डॉक्टर की मदद से ही सरोगेसी की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाता है। सरोगेसी में अपनी संतान की चाहत रखने वाले दंपति एक अन्य मानसिक और शारीरिक स्वस्थ महिला को इस प्रक्रिया के लिए चुना जाता है। जिसमें उसे पुरूष के स्पर्म को अपने गर्भ(कोख) में 9 महीनों तक रखना होता है। 9 महीने बाद बच्चे के जन्म के बाद जहां निसंतान दंपति को संतान मिलती है, तो वहीं सरोगेसी करने वाली महिला को पहले से तय की गई एक निश्चत राशि दी जाती है।

    सरोगेसी दो टाइप की होती है

    1. ट्रेडिशनल सरोगेसी -

    ट्रेडिशनल सरोगेसी में अपना बच्चा चाहने वाले पिता के शुक्राणुओं को सरोगेट मदर के अंडाणुओं के साथ निषेचित किया जाता है। इस तकनीक में बच्चे में जेनेटिक प्रभाव सिर्फ पिता का ही आता है।

    2. जेस्टेशनल सरोगेसी -

    इस तकनीक में बच्चा चाहने वाले माता-पिता दोनों के अंडाणु और शुक्राणु मिलाकर भ्रूण तैयार किया जाता है और उस भ्रूण को सरोगेट मदर की बच्चेदानी में प्रत्यारोपित किया जाता है। इस तकनीक से पैदा होने वाले बच्चे में जेनेटिक प्रभाव माता और पिता दोनों का आता है।

    सरोगेसी का खर्च

    भारत में सरोगेसी प्रक्रिया में खर्च लगभग 15 -20 लाख रूपए का खर्चा आता है।

    और भी...

  • क्या आप भी है डिप्रेशन का शिकार, सिर्फ ये एक काम करने से दूर होगा स्ट्रेस

    क्या आप भी है डिप्रेशन का शिकार, सिर्फ ये एक काम करने से दूर होगा स्ट्रेस

    लोग अपनी लाइफ में किसी ना किसी वजह से तनाव में रहते हैं और इस बिजी लाइफ ने लोगों के स्ट्रेस को भी काफी बड़ा दिया है। पुरुषों के मुकाबले ज्यादातर महिलाएं डिप्रेशन का शिकार होती हैं। आज हम आपको कुछ ऐसा बताने जा रहे हैं। जिसपे शायद आपको यकीन ना हो। मगर ये सच है कि हाल ही में हुई हेल्थ रिसर्च में पाया गया है कि आपके पार्टनर के कपड़े की खुश्बू सूंघने के बाद आपका सारा स्ट्रेस दूर हो जाता है और इतना ही नहीं, पाटर्नर के कपड़ो की खुश्बू सूंघने से आपको नींद भी अच्छी आती है। तो चलिए आज हम आपको बताएंगे कि क्या है रिसर्च।

    एक रिसर्च के दौरान लोगों से पूछा गया कि क्या कभी उन्होने पार्टनर से दूर होने के बाद उनके कपड़े सूंघे या वो अपने पाटर्नर के कपड़े पहन कर सोए हैं? जिसमें 80 प्रतिशत से अधिक महिलाओं और 50 प्रतिशत पुरुषों ने बताया कि हां उन्होंने ऐसा काफी बार किया है और उनके ऐसा करने से काफी सुकून भी मिला है।

    इसके साथ ही लोगों ने यह भी बताया कि पार्टनर की गैरमौजूदगी में उनके कपड़े पहनकर सोने से नींद भी काफी अच्छी आती है। वहीं जर्नल साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशन के लिए इस शोध के परिणाम स्वीकार किए गए हैं। आपके पार्टनर के कपड़ो की खुश्बू आपके दिनभर के टेंशन को दूर करता है। इसके साथ ही ये आपको काफी अच्छा भी फील करवाता है।

    क्यों फायदेमंद है खुशबू?

    वैज्ञानिकों का कहना है कि पार्टनर की खुश्बू के संपर्क में आने से तनाव हार्मोन पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। आपने अक्सर देखा होगा कि कुछ लोग जब अपने पार्टनर से दूर होते हैं। तो अपने पार्टनर की शर्ट पहन लेते हैं या फिर उनके बेड या पार्टनर की जगह पर सो जाते हैं। जिससे उन्हें काफी सुकून मिलता है।

     

    और भी...

  • Coronavirus: जानें कैसे रहें गर्भवती महिलाएं कोरोना वायरस से सावधान, ये हैं टिप्स

    Coronavirus: जानें कैसे रहें गर्भवती महिलाएं कोरोना वायरस से सावधान, ये हैं टिप्स

    Coronavirus: इस वक्त जहां हर तरफ कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। वहीं इस वायरस की चपेट में आने से गर्भवती महिलाओं को बच कर रहना बहुत जरुरी है। मां अपने अंदर पल रही नन्ही सी जान को बचाने के लिए हर मुमकिन सावधानी बरतती है क्योंकि मां का इम्युनिटी सिस्टम भी बच्चे से जुड़ा होता है तो वह इस दौरान और कमजोर हो जाती है। जिसकी वजह से मां बीमारी की चपेट में जल्दी आ जाती है। यहां तक की जो देश इस भयंकर वायरस की चपेट में हैं उन्होंने गर्भवती महिलाओं के आने जाने पर बैन लगा दिया है। आइये बताते है कि कैसे गर्भवती महिलाएं अपने आप को इस वायरस से बचा कर रखें...

    कोरोना वायरस से बचाव के लिए कुछ टिप्स...

    1. लिक्विड पिए और बॉडी को हाइड्रेट रखें।

    2. बिना डॉक्टर की सलाह के दवा न लें क्योंकि कुछ दवाएं गर्भधारण के दौरान आपके शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकती है अगर जरा भी कुछ ऐसे लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करे।

    3. डब्ल्यूएचओ के अनुसार, मास्क पहनने से भी ज़्यादा जरुरी है हाथोकि सफाई रखना इसलिए हमेशा अपने हाथो की सफाई करती रहे।

    वैसे कुछ वैज्ञानिक यह जानने में लगे हैं कि आखिर यह वायरस इतनी तेजी से कैसे फैल रहा हैं। गर्भवती महिला और बच्चे के लिए यह वायरस कितना खतरनाक है इसका कोई परिणाम नही मिल पाया है।

    वैज्ञानिकों के अनुसार अगर गर्भवती महिला वायरस से संक्रमित है भी तो बच्चे तक पहुंचने के चांस बहुत कम है ऐसे में परेशानी की ज्यादा कोई वजह नहीं है लेकिन किसी भी तरह कीमुश्किल से बचने के लिए सावधानी बरतना बहुत जरूरी है।

    इस वायरस से बचने के लिए ज़्यादा सावधानी बरतने की जरुरत है क्योंकि प्रेग्नेंसी में शरीर में बहुत सारे बदलाव होते है जिसके कारण वो इन्फेक्शन से ज़्यादा लड़ नहीं पाते और किसी भी फ्लू या इन्फेक्शन से लड़ नहीं पाते। ऐसे में गर्भवती महिलाओं को अपना विशेष ख्याल रखना चाहिए और डॉक्टर की सलाह से दवाओं का सेवन करना चाहिए और सबसे जरुरी अपने आसपास सफाई रखना चाहिए जिससे वह अपने और अपने बच्चे को वायरस से बचा कर रख सकती है।

    कोरोना वायरस है क्या ?

    अपने कोरोना वायरस के बारे में तो खबरों में खूब पढ़ा ही होगा कि कैसे ये बीमारी किस हद्द तक जानलेवा है। वैसे तो इसके लक्षण आम सर्दी जुकाम और फ्लू की तरह ही हैं पर यह नार्मल फ्लू वाले ही लक्षण कोरोना वायरस की चपेट में आते ही खतरनाक बन जाते हैं। इसकी वजह से चीन में अब तक 1700 लोगों की मौत हो चुकी है।

    और भी...

  • Health Tips: पेट की चर्बी जल्दी गायब करना है तो पीयें ये 4 जूस

    Health Tips: पेट की चर्बी जल्दी गायब करना है तो पीयें ये 4 जूस

    Health Tips: वजन कम करने का सोचते ही अगर सबसे पहले कोई चीज दिमाग में आती है तो वो है डाइटिंग। जिस चक्कर में हम कई सारे न्यूट्रीशियस चीजें खाना छोड़ देते हैं। जो हमारे शरीर के लिए जरूरी होती है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि वजन कम करने के लिए वर्क आउट के साथ डाइटिंग भी जरुरी है। वर्कआउट करने के लिए काफी एनर्जी लगती है। ऐसे में हमारा सही खान पान होना बहुत जरुरी है। तो चलिए इसी बीच आज हम आपको कुछ जूस के बारे में बताने जा रहे हैं। जो हमारा वजन बी बैलेंस करेगा और हमें एनर्जी भी फुल देगा।

    गाजर का जूस

    गाजर का जूस वजन करने के साथ आंखों की रोशनी, बाल और नाखून हेल्दी बनाता है। गाजर का जूस बनाने के लिए 250 ग्राम गाजर के साथ 1 चुकंदर और आधा नींबू का रस डालकर जूसर से जूस बनाएं।

    खीरे का जूस

    खीरे के जूस बॉडी में फैट बर्न का काम करता है। इसके साथ ही आपका पेट काफी देर तक भरा रहता है। खीरे का जूस बनाने के लिए आप 1 खीरे को टुकड़ों में काटने के बाद इसमें 1 टीस्पून सेंधा नमक, 1 चुटकी काली मिर्च और आधा चम्मच नींबू डालकर ग्राइंड करें। इसके बाद इसे छानकर पी लें।

    आंवले का जूस

    अगर आप सुबह नाश्ते से पहले एक गिलास जूस पीते हैं। इससे आपका वेट जल्दी कम होता है। इसमें मौजूद विटामिन-सी और फाइबर मौजूद होते हैं। जो शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करते हैं।

    अनार का जूस

    अनार का जूस वेट लॉस के लिए फायदेमंद होता है। वेट लॉस करने के लिए आप अनार के जूस में संतरे का रस मिलाकर पी सकते हैं। इससे आपका पेट भरा रहता है। साथ ही ये आपके शरीर में खून की कमी को भी पूरा करता है।

    और भी...