ब्रेकिंग न्यूज़
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान जैश का आतंकी ढेर
  • Delhi Air Pollution: दिल्ली में वायु प्रदूषण से मिली थोड़ी राहत, AQI में आई थोड़ी सी गिरावट
  • Breaking: गोवा में MiG-29K फाइटर एयरक्राफ्ट क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
  • भीमा कोरेगांव विवाद: पुणे कोर्ट से सभी आरोपियों को दिया बड़ा झटका, जमानत याचिका की खारिज
  • भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

देश

  • पीएम नरेंद्र मोदी का वाराणसी दौरा : कार्यक्रम को किया संबोधित, जानिए भाषण की अहम बातें

    पीएम नरेंद्र मोदी का वाराणसी दौरा : कार्यक्रम को किया संबोधित, जानिए भाषण की अहम बातें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी के दीनदयाल हस्तकला संकुल में 'काशी एक रूप अनेक' कार्यक्रम का उद्घाटन किया। जिसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने लोगों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि काशी में ये मेरा तीसरा कार्यक्रम है। सबसे पहले मैं अध्यात्म के कुंभ में था। फिर मैं आधुनिकता के कुंभ में गया, बनारस के लिए सैकड़ों करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। अब मैं एक प्रकार से स्वरोजगार के कुंभ में पहुंच गया हूं।

    काशी एक है, लेकिन उसके रूप अनेक हैं

    यहां भांति-भांति के कलाकार, शिल्पकार एक ही छत के नीचे हैं। एक-एक धागे को जोड़कर, मिट्टी के एक-एक कण को घटकर, बेहतरीन निर्माण करने वालों के साथ, दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियों को चलाने वाले, एक ही छत के नीचे बैठे हैं। सच में, काशी एक है, लेकिन उसके रूप अनेक हैं।

    भारत की हमेशा से ही ये शक्ति रही है कि यहां के हर क्षेत्र, हर जिले की पहचान से कोई ना कोई विशेष कला, विशेष आर्ट और विशेष उत्पाद जुड़ा रहा है। ये सदियों से हमारे वहां परंपरा रही है। हमारे कारोबारियों, व्यापारियों ने इसका प्रचार दुनियाभर में किया है।

    हजार कलाकारों को टूल किट दिए गए

    हमारे पास संसाधनों की और कौशल की कभी कमी नहीं रही है। बस एक व्यापक सोच के साथ काम करने की जरूरत है। जरूरत बस इस कहानी को दुनिया तक पहुंचाने की है। उत्तर प्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ डिजायन इसमें बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा।

    उत्तर प्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ डिजायन द्वारा पिछले 2 वर्षों में, 30 जिलों के 3500 से ज्यादा शिल्पकारों, बुनकरों को डिजाइन में सहायता दी गई है। क्राफ्ट से जुड़े उत्पादों में सुधार के लिए एक हजार कलाकारों को टूल किट भी दिए गए हैं।

    बदलती मांग के अनुसार उत्पादों में जरूरी बदलाव करें

    पीएम मोदी ने कहा कि यहां आने से पहले मैं वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट से जुड़ी प्रदर्शनी को भी देखकर आया हूं। यूपी के अलग-अलग हिस्सों के उत्पादों का शानदार कलेक्शन वहां है। वहां दोना-पत्तल बनाने वाले कारीगरों को आधुनिक मशीनें भी दी गईं हैं। उनका आत्मविश्वास देखते ही बन रहा था।

    बदलती दुनिया, बदलते समय, बदलती मांग के अनुसार इन उत्पादों में भी जरूरी बदलाव करें। इसके लिए इन पारंपरिक उद्योगों से जुड़े साथियों को ट्रेनिंग, आर्थिक मदद, नई तकनीक और मार्केटिंग की सुविधा देनी बहुत जरूरी है।

    कच्चा माल पर एंटी डंपिंक ड्यूटी खत्म

    पीएम मोदी ने आगे कहा कि इस बार का जो बजट है, उसने भी सरकार की प्राथमिकताओं को स्पष्ट कर दिया है। सिर्फ इस साल के लिए नहीं बल्कि आने वाले 5 वर्षों के लिए छोटे और मझोले उद्योगों के विकास का एक खाका खींचा गया है।

    टेक्सटाइल के कच्चा माल पर एंटी डंपिंक ड्यूटी को इस बजट खत्म कर दिया गया है। दशकों से टेक्सटाइल से जुड़े लोग इसकी मांग कर रहे थे, लेकिन हमारी सरकार ने उस काम को पूरा कर दिया है।

    लखनऊ में दुनियाभर की डिफेंस कंपनियों ने रुचि दिखाई

    इस साल के बजट में, यूपी में बन रहे डिफेंसकॉरिडोर के लिए भी करीब 3700 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। हाल ही में लखनऊ में दुनियाभर की डिफेंस कंपनियों ने यहां उद्योग लगाने की रुचि दिखाई, कई कंपनियां समझौते भी कर चुकी हैं।

    आज कोशिश ये की जा रही है कि सामान्य जन को और सामान्य कारोबारी को कागजों के, दस्तावेज़ों के बोझ से मुक्त किया जाए। सरकारी प्रक्रियाएं उलझाने के बजाय सुलझाने वाली हों, रास्ता दिखाने वाली हों, इसके लिए काम किया जा रहा है।

    देश के लॉजिस्टिक्स में व्यापक बदलाव आया

    जीएसटी लागू होने से देश के लॉजिस्टिक्स में व्यापक बदलाव आया है। अब इस बदलाव को और मजबूत किया जा रहा है। देश में पहली बार नेशनल लॉजिस्टिक पॉलिसी तैयार की जा रही है। इससे लघु उद्योग और सशक्त होंगे।

    देश के Wealth Creators को अनावश्यक परेशानी ना हो, इसके लिए पहली बार टैक्सपेयर्स चार्टर बनाया जा रहा है। इससे टैक्सपेयर के अधिकार तय होंगे। टैक्स कलेक्शन को फेसलेस किया जा रहा है।

    और भी...

  • डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले आतंकी संगठन जैश ने जारी किया ये वीडियो, भारत को भी दि धमकी

    डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले आतंकी संगठन जैश ने जारी किया ये वीडियो, भारत को भी दि धमकी

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे में आने से पहले आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद (JeM) ने एक वीडियो जारी किया है। वीडियो में आतंकी संगठन ने बदला लेने कि बात की है। जैश-ए-मुहम्मद के द्वारा जारी किए गए इस वीडियो में कहा गया है कि हत्यारों को माफ नहीं किया जाएगा।

    इस वीडियो में भारत को भी धमकी दी गई है। जिसमें कहा गया है कि जिस तरह से आपने मुसलमानों को परेशान किया है और उनके घरों को नष्ट किया है। उसका भी बदला लिया जाएगा।

    आपको बता दें कि वीडियो कुरान शरीफ का हवाला देते हुए कहा कि हमने शांति पर बहुत से लोरियां सुनी हैं। पर अब हर बहाना चला गया। इस वीडियो के जारी करने का मकसद धारा 370 को हटाने के बाद कश्मीरी नाराज हैं।

    इस बीच सुरक्षा एजेंसियों ने वीडियो को लेकर अलर्ट जाकी कर दिया है। मिली जानकारी के मुताबीक इस महीने की शुरुआत में हि पीओके(POK) में आतंकवादी समूहों की एक बैठक हुई थी और उस बैठक में आईएसआई(ISI) और पाकिस्तान सेना के अधिकारी भी मौजूद थे। बैठक में तय किया गया कि हिजबुल मुजाहिदीन को एक्टिव किया जाए।

    और भी...

  • कुपोषण मुक्त बन रहा है छत्तीसगढ़, 4 माह में 60 हजार बच्चों पर दिखा प्रभाव, बलरामपुर सबसे आगे

    कुपोषण मुक्त बन रहा है छत्तीसगढ़, 4 माह में 60 हजार बच्चों पर दिखा प्रभाव, बलरामपुर सबसे आगे

    रायपुर। भूपेश बघेल सरकार छत्तीसगढ़ को कुपोषण मुक्त बनाने बहुत से प्रयास कर रही है।छत्तीसगढ़ में कुपोषण और एनीमिया का दंश झेल रहे बच्चों की थाली में परोसे गए मुनगा, लालभाजी, दलिया और अंडे उनके लिए संजीवनी साबित हो रहा हैं। गांव देहातों में पाए जाने वाले पौष्टिक आहारों ने बीते 4 माह में प्रदेश के 60 हजार से ज्यादा बच्चों को कुपोषण से मुक्त बना दिया है, जबकि स्थानीय व्यंजनों को पोषण आहारों में शामिल किए जाने की वजह से मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के हितग्राहियों की संख्या में भी महज 15 दिनों में एक लाख की वृद्धि हुई है।

    खुशी की बात तो यह भी कि बलरामपुर जैसे दूरस्थ जिले ने सुपोषण अभियान में शानदार प्रदर्शन किया है। जिले के 9 हजार से अधिक बच्चे बीते चार माह में न सिर्फ कुपोषण से बाहर आए हैं, बल्कि उनकी सेहत में भी बहुत सुधार हुआ है। कुपोषण के खिलाफ चार माह पहले दंतेवाड़ा से मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की शुरुआत की गई थी। अभियान में अद्यतन पौष्टिक आहारों की तुलना में लोकल मेनू को महत्व दिया गया। 

    जिसके तहत लालभाजी, पालक भाजी, दलिया, मुनगा जैसी उन सब्जियों और व्यंजनों को भोजन में शामिल किया गया, जिसे बच्चे पसंद करें और उनकी सेहत को भी लाभ हो। लोकल मेनू का यह फॉर्मूला रंग लाया और बेहद कम समय में ही प्रदेश के 59583 बच्चे कुपोषण से बाहर हो गए।महिला एवं बाल विकास विभाग के आंकड़ों के मुताबिक चार माह पहले 2 अक्टूबर 2019 को जब सुपोषण अभियान की शुरुआत की गई, तब कुपोषित बच्चों की संख्या 432901 थी, जबकि चार माह बाद 11 फरवरी 2020 की स्थिति में यह संख्या घटकर 373318 हो गई। इस तरह महज चार माह में ही प्रदेश के 59583 बच्चे कुपोषण के कुचक्र से बाहर आ गए हैं।

    ऐसा रहा चार माह में परफॉर्मेंस -

    बीते चार माह में बलरामपुर जिला सबसे आगे और मुंगेली सबसे पीछे रहा है। सरगुजा के 1227, सूरजपुर के 6674, बलरामपुर के 9885, कोरिया के 4353, जशपुर के 3645, बिलासपुर के 3952, कोरबा के 1443, जांजगीर के 4329, रायगढ़ के 3790, मुंगेली के 387, रायपुर के 1046, बलौदाबाजार के 1251, धमतरी के 404, गरियाबंद के 1288, महासमुंद के 425, दुर्ग के 2960, कबीरधाम के 842, राजनांदगांव के 2242, बालोद के 1291, बेमेतरा के 808, बस्तर के 1046, दंतेवाड़ा के 2017, कोंडागांव के 541, बीजापुर के 673, कांकेर के 1175, सुकमा के 1426, नारायणपुर के 463 बच्चे सुपोषित हुए हैं।

    अंडे की डिमांड सबसे ज्यादा-

    सुपोषण अभियान के तहत अंडा परोसे जाने को लेकर जमकर सियासी बवाल हुआ था। बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने में अंडा फायदेमंद साबित हुआ है। सरकार को आंगनबाड़ी और स्कूलों में देने की जगह बच्चों के घरों तक अंडा पहुंचाने की व्यवस्था करनी पड़ी, लेकिन अब इसका लाभ नजर आया है। खासकर बस्तर और सरगुजा संभाग के जिलों में अंडे की डिमांड आंगनबाड़ियों और स्कूलों में सबसे अधिक है। कुछ स्थानों पर डिमांड इतनी अधिक है कि उसकी पूर्ति नहीं हो पा रही।

    15 दिन में ऐसे बढ़े लोग -

    छत्तीसगढ़ में बीते 15 दिनों में एक लाख से ज्यादा हितग्राही गर्म भोजन की योजना के हितग्राही बने हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण मुख्यमंत्री से लेकर चीफ सेक्रेटरी और विभाग के आला अधिकारियों की लगातार मॉनीटरिंग को माना जा रहा है। विभाग मिशन मोड में नए-नए सब्जियों और दलिया, चना, गुड़ जैसे सामान को मेनू में शामिल कर रहा है। इस वजह से बच्चे और महिलाएं इसकी ओर आकर्षित हो रहे हैं। लाभार्थी बढ़ाने के लिए आहार की गुणवत्ता पर भी खास ध्यान दिया जा रहा है।

    60 हजार बच्चे मुक्त -

    महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेसी कहते हैं कि मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत बीते चार माह में 60 हजार बच्चे कुपोषण मुक्त हुए हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह लगातार मॉनीटरिंग और बच्चों को उनकी रुचि के अनुरुप स्थानीय साग सब्जी और पौष्टिक आहार उपलब्ध कराना रहा है।

    और भी...

  • अरविंद केजरीवाल आज तीसरी बार लेंगे CM पद की शपथ,सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

    अरविंद केजरीवाल आज तीसरी बार लेंगे CM पद की शपथ,सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

    आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली के मुख्यमंत्री के रूप में तीसरी बार शपथ लेंगे। दिल्ली विधानसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में आप ने 70 सीटों में से 62 सीटें जीतकर सत्ता में आई। इस आयोजन में 50 हजार लोगों के शामिल होने की संभावना है। 

    अरविंद केजरीवाल के अलावा 6 मंत्री मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, कैलाश गहलोत, इमरान हुसैन और राजेंद्र गौतम भी शपथ लेंगे

    और भी...

  • CAA Protest: आजाद मैदान में सुशांत सिंह बोले, इससे पहले हवा और गर्म हो जाए इसे बुझाना होगा

    CAA Protest: आजाद मैदान में सुशांत सिंह बोले, इससे पहले हवा और गर्म हो जाए इसे बुझाना होगा

    मुंबई के आजाद मैदान में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए), नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) और एनआरसी के खिलाफ एक विरोध रैली निकाली जा रही है। विरोध रैली में हिस्सा लेने के लिए अभिनेता सुशांत सिंह आजाद मैदान पहुंचे थे। आजाद मैदान में अभिनेता सुशांत सिंह विरोध रैली को एक कविता के माध्यम से संबोधित किया।

    अभिनेता सुशांत सिंह ने कहा

    क्या कह सकते हैं हवा में पहले ही इतना जहर है। कैसे पता चलता कि आज का ये धुंआ कहर है। आग बुझी नहीं है अभी, इससे पहले हवा और गर्म हो जाए इसे बुझाना होगा। आदमखोरों से मुल्क बचाना होगा।

    और भी...

  • जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह के विवादित बयानों पर जताई आपत्ति, जानें क्या है मामला

    जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह के विवादित बयानों पर जताई आपत्ति, जानें क्या है मामला

    केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह हमेशा अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। एक विवादित बयान को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह को तलब किया है।

    जेपी नड्डा ने गिरिराज सिंह के विवादित बयानों पर आपत्ति जताई है। साथ ही जेपी नड्डा को बेवजह बयानबाजी से बचने को कहा है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने हाल ही में देवबंद को लेकर विवादित बयान दिया था।

    गिरिराज सिंह ने दिया ये विवादित बयान

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सहारपुर में एक कार्यक्रम के दौरान देवबंद को लेकर विवादित बयान दिया था। गिरिराज सिंह ने कहा था कि देवबंद आतंकवाद की गंगोत्री है, हाफिज सईद समेत बड़े-बड़े आतंकवादी यहीं से निकलते हैं।

    वहीं 14 फरवरी शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री ने खुली जीप में बेगूसराय के मुस्लिम बहुत इलाके का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने कहा था कि भारतवंशी तेरा मेरा रिश्ता क्या, था उन्होंने जय श्री राम जय श्री राम का नारा भी लगाया था।

    इतना ही नहीं उन्होंने अपने भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी को भगवान का अवतार बताया था। इसके अलावा गिरिराज सिंह ने भारत माता पर उंगली उठाने वालों की आंखें निकाल लेने की बात कही थी।

    और भी...

  • Corona virus: चीन की एक कंपनी ने कोरोना वायरस के इलाज का किया दावा

    Corona virus: चीन की एक कंपनी ने कोरोना वायरस के इलाज का किया दावा

    Coronavirus: चीन से शुरु हुआ कोरोना वायरस अब दुनिया के कई हिस्सों में पहुंच चुका है। जिससे दुनिया भर के लोगों में दहशत का माहौल है। चीन के बाद इंडिया और अफ्रीका में भी कोरोना वायरस ने अपने पांव पसार लिए हैं। शुक्रवार को मिस्र के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस बात की पुष्टि की है कि अफ्रीका में भी कोरोना वायरस का एक केस मिला है। गुरुवार तक चीन में कोरोना वायरस से 1367 मौतों को रिकॉर्ड किया गया है। इसी बीच चीन ने ऐलान किया है कि कोरोना वायरस का इलाज अब संभव हो सकता है।

    चीन के अखबार चाइना डेली ने एक रिपोर्ट प्रकाशित किया है। जिसमें यह दावा किया जा रहा है कि कोरोना वायरस का इलाज अब संभव हो सकता है। उन्होंने कहा है कि इस तरीके से कई पीड़ितों का इलाज किया जा चुका है और वो ठीक भी हो चुके हैं।

    क्या है इलाज

    चीन की सरकारी मेडिकल कंपनी नेशनल बॉयोटिक ग्रुप के अनुसार कोरोना वायरस का इलाज उन लोगों के ब्लड प्लाज्मा से किया जा सकता है जो पहले इस बीमारी से पीड़ित थे और अब ठीक हो चुके हैं। उन्होंने बताया है कि इस तरीके से अब तक 10 मरीजों का इलाज किया जा चुका है और वो ठीक भी हो चुके हैं।

    कैसे होगा इलाज

    इस इलाज के लिए कोरोना वायरस से ठीक हुए व्यक्ति का ब्लड लिया जाएगा। ठीक हुए व्यक्ति में हाई एंटीबॉडी पाई जाती है। जिससे कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों का इलाज मुमकिन हो पाएगा।

    चीन की नेशनल बॉयोटेक कंपनी कर रही गुजारिश

    चीन की नेशनल बॉयोटेक कंपनी उन सभी लोगों से गुजारिश कर रही है जो कोरोना वायरस से पीड़ित थे और अब ठीक हो चुके हैं। उनका कहना है कि वो अपना रक्तदान करें और कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की मदद करें। कंपनी ने कहा है कि उनके ब्लड में पाई जाने वाली एंटीबॉडी कोरोना वायरस को मारेगी। जिससे वायरस से मरने वालों की संख्या में कमी आएगी।

    और भी...

  • 16फरवरी को Delhi के रामलीला मैदान में होगा अरविंद केजरीवाल का शपथ ग्रहण, मनीष सिसोदिया ने दी जानकारी

    16फरवरी को Delhi के रामलीला मैदान में होगा अरविंद केजरीवाल का शपथ ग्रहण, मनीष सिसोदिया ने दी जानकारी

    दिल्ली। आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता मनीष सिसोदिया ने केजरीवाल के शपथ ग्रहण से पहले शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सिसोदिया ने शपथ ग्रहण के बारे में जानकारी दी। 

    प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिसोदिया ने कहा कि शपथ ग्रहण में सिग्नेचर ब्रिज बनाने वाले आर्किटेक्ट और बसों में सुरक्षा करने वाले गार्ड गेस्ट के रूप में मौजूद रहेंगे। मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के ऑटो ड्राइवर, सफाई कर्मचारी, छात्र, शिक्षक, डॉक्टर, मजदूर इस शपथ ग्रहण में शामिल होंगे।

    सिसोदिया ने आगे कहा कि शपथ ग्रहण में सिर्फ टीचर्स ही नहीं मोहल्ला क्लीनिक के डॉक्टर भी गेस्ट के रूप में आएंगे। वहीं ऐक्सिडेंट योजना का भी जिक्र किया और कहा कि दिल्ली सरकार की इस योजना से बहुत लोगों की जान बची है।

    आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 16 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में अरविंद केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह होने वाला है। सुबह 10 बजे उपराज्यपाल अनिल बैजल केजरीवाल और उनकी कैबिनेट को शपथ दिलवाएंगे।

    और भी...

  • वैलेंटाइन डे मौके पर IAS अधिकारी ने अपनी IPS प्रेमिका से रचाई शादी, शादी को लेकर उठ रहे कई सवाल

    वैलेंटाइन डे मौके पर IAS अधिकारी ने अपनी IPS प्रेमिका से रचाई शादी, शादी को लेकर उठ रहे कई सवाल

    हावड़ा। पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में तैनात आईएएस अधिकारी ने अपनी आईपीएस प्रेमिका से वैलेंटाइन डे पर शादी कर ली। दोनों ने इस वैलेंटाइन डे को यादगार बनाने के लिए इस दिन को चुना था। बंगाल कैडर के 2015 बैच के आईएएस तुषार सिंगला ने बिहार कैडर के 2018 बैच की आईपीएस नवजोत सिम्मी से शादी की। दोनों ही पंजाब के रहने वाले हैं और उनकी मुलाकात भी पंजाब में हुई थी। तभी से वो एक दूसरे को जानते थे।

    आपको बता दें कि अभी नवजोत सिम्मी पटना में एसीपी के पद पर तैनात हैं। दोनों ने मैरिज रजिस्ट्री के जरिए शादी की और फिर इसके बाद नवविवाहित मंदिर गए और पूजा-अर्चना की। दोनों की शादी बहुत ही सादगी से हुई। 

    दोनों की शादी को लेकर कई सवाल भी उठ रहे हैं। दोनों ने डीएम ऑफिस में मैरिज रजिस्ट्री की सभी प्रक्रिया को पूरा किया। नियमों को लेकर राज्य के मंत्री और हावड़ा जिले के अध्यक्ष अरूप रॉय ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि दोनों ने कानून प्रक्रिया के तहत शादी ही है। ऐसे में सवाल उठने का कोई मतलब ही नहीं बनता है।

    दोनों ने मैरिज सर्टिफिकेट पर हस्ताक्षर किए हैं। ऑफिस में किसी तरह का कोई खाना पीना नहीं हुआ। ऐसे में कोई सवाल ही नहीं उठता है। 

    और भी...

  • Census 2021: हरियाणा से शुरू होगा जनगणना का पहला चरण, यहां देखें शेड्यूल

    Census 2021: हरियाणा से शुरू होगा जनगणना का पहला चरण, यहां देखें शेड्यूल

    जनगणना का पहला चरण हरियाणा से शुरू होने जा रहा है। 'जनगणना 2021' के लिए 1 मई से 15 जून तक पहला चरण होगा। इसके लिए 58 हजार,000 के करीब एनुमरेटर और पर्यवेक्षकों को तैनात किया जाएगा। ये जनगणना सभी राज्यों में होगी। हरियाणा के बाद पंजाब में दूसरा चरण होगा।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ये जानकारी 2021 की जनगणना और एनपीआर के अपडेशन के लिए हो रही है। यह सम्मेलन हरियाणा के मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया था। बैठक में भारत के रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त भी मौजूद थे।

    बैठक में जनगणना के आंकड़े बहुत विश्वसनीय होने चाहिए और क्योंकी जनगणना की पूरी प्रक्रिया बहुत समयबद्ध है, इसलिए सभी संबंधित अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी प्रक्रिया पूरी हो जाए। मुख्य सचिव ने बैठक में कहा कि एक मई से 15 जून तक की समयावधि निर्धारित है।

    यह भी बताया जा रहा है कि यह पहली बार है कि इस वर्ष जनगणना के आंकड़ों को डिजिटल प्रारूप में एकत्र किया जाएगा। सरकार द्वारा एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, हाउस लिस्टिंग और हाउसिंग सेंसस के पहले चरण को आचरण के लिए अधिसूचित किया गया है।

    वहीं दूसरे चरण का आयोजन 9 फरवरी से 28 फरवरी, 2021 के बीच किया जाएगा। जिसमें 1 से 5 मार्च तक का समय दिया जाएगा। जनगणना दुनिया का सबसे बड़ा प्रशासनिक और सांख्यिकीय अभ्यास है।

    हरियाणा के बाद पंजाब में जनगणना

    जानकारी के लिए हरियाणा में जनगणना 2021 का पहला चरण घर लिस्टिंग संचालन और आवास सर्वेक्षण 1 मई से 15 जून 2020 तक आयोजित किया जाएगा। उसके बाद पंजाब में 15 मई से 29 जून तक 45 दिनों तक चलेगा।

    और भी...

  • गुजरात में 68 छात्राओं के कपड़े उतरवाकर की गई ये जांच, मचा हड़कंप

    गुजरात में 68 छात्राओं के कपड़े उतरवाकर की गई ये जांच, मचा हड़कंप

    गुजरात के कच्छ जिले से एक ऐसी चौंकाने वाली खबर सामने आई है जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह जाएगा। यहां पर एक इंस्टीट्यूट में 68 लड़कियों के काथित तौर इनरवियर को उतरवाया गया। मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है।

    मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार भुज में श्री सहजानंद गर्ल्स इंस्टीट्यूट (एसएसजीआई) की 68 छात्राओं को कथित तौर पर इनरवियर को इसलिए उतरवाया गया है कि किसे मासिक धर्म हो रहा है। दरअसल किसी ने सैनेटरी पैड फेंक दिया था। प्रिंसिपल ने यही जानने के लिए 68 छात्राओं के इनरवियर उतार कर उनकी जांच की।

    डीन दर्शन ढोलकिया ने दी सफाई

    मामला सामने आने के बाद श्री सहजानंद गर्ल्स इंस्टीट्यूट की डीन दर्शन ढोलकिया ने सफाई पेश की। डीन दर्शन ढोलकिया का कहना है कि यह पूरा मामला हॉस्टल से संबंधित है। इसका यूनिवर्सिटी / कॉलेज से कोई लेना-देना नहीं है। जो कुछ हुआ है वो लड़कियों की अनुमति से हुआ है। इसके लिए किसी लड़की को मजबूर नहीं किया गया था।

    और भी...

  • महाराष्‍ट्र की 'शिव भोजन' थाली ने मचाया तहलका, गरीब परिवारों को 10 रुपये में मिल रहा भरपेट खाना

    महाराष्‍ट्र की 'शिव भोजन' थाली ने मचाया तहलका, गरीब परिवारों को 10 रुपये में मिल रहा भरपेट खाना

    महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे आम जनता के लिए नयी सौगात लेकर आए है। जहां आम जनता से लेकर उन सभी गरीब परिवारों को सस्ते में खाना खाने का मौका मिलेगा। दरअसल महाराष्ट्र सरकार ने 26 जनवरी को शिव भोजन योजना को लागू किया था। जिसके तहत लोग मात्र 10 रुपये में भरपेट खाना खा रहे हैं।

    बतां दें की यह भोजन सस्ते के साथ हेल्दी भी है। राज्य अधिकारी ने बताया कि इस योजना के तहत 139 वितरण केंद्र बनाये गये हैं। जहां प्रति दिन लगभग 13,750 भोजन बेचा जा रहा है। जिसके तहत 2,33,738 लोगों को लाभ मिल रहा है। हालांकि शुरुआती दौर के पहले दिन 11,300 प्लेटों का भोजन वितरित किया गया था, जो अब दोगुने से भी अधिक हो गया है।

    इस योजना के तहत जिला, सरकारी अस्पतालों, रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों, सरकारी कार्यालयों और बाजारों में गरीब और जरूरतमंदों के लिए 10 रुपए में भोजन दिया जा रहा है। 10 रुपए की थाली में एक कटोरी चावल, दाल, एक सब्जी, 2 रोटी और एक मिठाई होता है। हालांकि सरकार को एक थाली पर शहरी और ग्रामीण केंद्रों में 50 रुपये और 35 रुपये खर्च करना पड़ता है। जिससे कई गरीब लोगों के पास पैसे ना होने की वजह से भुखे रह जाते है। जिसके चलते सरकार गरीब लोगों के लिए 10 रुपये प्रति प्लेट में खाना खिलाने की शुरुआत की गई है।

    राज्य अधिकारी के अनुसार महाराष्ट्र सरकार इस योजना को खुद मॉनिटर कर रहे है। जिसके तहत लोगों को सस्ते में भोजन मिलने के साथ खाना की सर्वोत्तम गुणवत्ता बनाए रखने पर जोर दिया है। खुद सीएम उद्धव ठाकरे ने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कई लोगों से बात की, ताकि पता चले कि इस योजना से लोगों को कितना फायदा हो रहा है। साथ ही सीएम ने लोगों से इस योजना में कुछ और सुधार लाने के लिए अपने सुझाव व्यक्त करने को भी कहा।

    और भी...

  • उमेश गोपीनाथ जाधव की 61 हजार KM की तीर्थयात्रा पूरी, पुलवामा पहुंचाई 40 शहीदों के घरों की मिट्टी

    उमेश गोपीनाथ जाधव की 61 हजार KM की तीर्थयात्रा पूरी, पुलवामा पहुंचाई 40 शहीदों के घरों की मिट्टी

    Pulwama Attack : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले को आज पूरा एक साल हो गया है। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की शहादत हो गई थी। शहीदों की याद में लेथपुरा कैंप में स्मारक बनाया गया है। जहां पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं महाराष्ट्र के उमेश गोपीनाथ जाधव ने हर शहीद के घर जाकर वहां की मिट्टी इकट्ठा कर पुलवामा पहुंचाई है। मिट्टी लेथपुरा कैंप स्मारक में रखी गई।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र के उमेश गोपीनाथ जाधव आज पुलवामा हमले के एक वर्ष के अवसर पर कश्मीर के लेथपुरा में सीआरपीएफ परिसर में पुष्पांजलि समारोह में विशेष अतिथि हैं। हमले में जान गंवाने वाले 40 जवानों के परिवारों से मिलने के लिए उन्होंने भारत भर में 61000 किलोमीटर लंबी यात्रा की है।

    उमेश गोपीनाथ जाधव ने शहीदों और उनके श्मशान घाटों से मिट्टी इकट्ठा की

    उन्होंने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि मुझे गर्व है कि मैंने पुलवामा शहीदों के सभी परिवारों से मुलाकात की, और उनका आशीर्वाद लिया है। जिन माता-पिता ने अपने बेटे को खो दिया, पत्नियों ने अपने पति को खो दिया, बच्चों ने अपने पिता को खो दिया, दोस्तों ने अपने दोस्तों को खो दिया। मैंने उनके घरों और उनके श्मशान घाटों से मिट्टी इकट्ठा की।

    एक हफ्ते पहले यात्रा हुई पूरी

    मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उमेश गोपीनाथ जाधव की 61 किलोमीटर की यात्रा एक हफ्ते पहले पूरी हुई थी। जाधव ने एक अंग्रजी अखबार के पत्रकार से बातचीत के दौरान कहा था कि उन्होंने हर शहीद जवान के घर के बाहर से मिट्टी इकट्ठा की है। इस मिट्टी से भरे कलश को लेकर वह पुलवामा लेकर जा रहे हैं। वे शहीदों की याद को जीवित रखने के लिए श्रीनगर में सीआरपीएफ को ये मिट्टी से भरा कलश देंगे।

    और भी...

  • Sushma Swaraj Birthday : पीएम मोदी और राजनाथ समेत इन नेताओं ने किया याद, पति ने लिखा भावुक संदेश

    Sushma Swaraj Birthday : पीएम मोदी और राजनाथ समेत इन नेताओं ने किया याद, पति ने लिखा भावुक संदेश

    Sushma Swaraj Birth Anniversary : पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) की दिगंवत नेता सुषमा स्वराज का आज जन्मदिन है। जन्मदिन के मौके पर उन्हें याद करने के लिए उनके पति स्वराज कौशल ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर अपलोड की। इस तस्वीर में सुषमा स्वराज हाथ में चाकू लिए केक के सामने दिख रही हैं। स्वराज कौशल ने ट्वीट कर लिखा कि हैप्पी बर्थडे सुषमा स्वराज- हमारी जिंदगी की खुशी।

    पीएम मोदी ने सुषमा स्वराज की जयंती पर उन्हें याद किया

    पीएम मोदी ने सुषमा स्वराज की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा कि सौम्यता और सादगी की प्रतिमूर्ति। दृढ़ता से भारतीय मूल्यों और लोकाचार में निहित, हमारे देश के लिए सुषमा स्वराज के महान सपने थे। वह एक असाधारण सहयोगी और एक उत्कृष्ट मंत्री थीं।

    राजनाथ सिंह सुषमा स्वराज की जयंती पर उन्हें याद किया

    रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्विट करते हुए लिखा कि पूर्व विदेश मंत्री एवं भारतीय राजनीति की सशक्त हस्ताक्षर, सुषमा स्वराज जी की जयंती के दिन मैं उन्हें स्मरण एवं नमन करता हूं। उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में शुचिता का पालन किया और मूल्यों की राजनीति के प्रति उनकी प्रतिबद्धता रही। उनके योगदान के लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा।

    पीएम मोदी और राजनाथ सिंह के अलावा इन नेताओं ने सुषमा स्वराज को किया याद

    * लोकसभा स्पीकर ओम विरला ने लिखा कि उत्कृष्ट सांसद,ओजस्वी वक्ता, पद्म विभूषण,पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय श्रीमती सुषमा स्वराज जी की जयंती पर उन्हें शत-शत नमन।राजनीतिक जगत में सुषमा जी ने अमिट छाप छोड़ी है। हमें उनके जीवन से प्रेरणा लेते हुए समाज व राष्ट्र की सेवा में तत्पर रहना है। सुषमा जी को विनम्र श्रद्धांजलि।

    * शिवराज सिंह चौहान ने लिखा कि जनसेवा के माध्यम से भारत के साथ विश्व को अपना बना लेने वाली, असाधारण वक्ता, बहन स्व. सुषमा स्वराज जी के जन्मदिवस पर कोटि-कोटि नमन! जनकल्याण और राष्ट्र उत्थान के अपने सर्वोत्तम कार्यों और श्रेष्ठतम प्रयासों के लिए आप याद आयेंगी। हमारी स्मृतियों में अनंत काल तक जिंदा रहेंगी।

    * हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने लिखा कि विदेश मंत्री के रूप में अपने सौम्य व्यवहार व असाधारण कार्य से देश-विदेश के लोगों के दिलों में विशेष स्थान बनाने वाली भाजपा की वरिष्ठ नेता रहीं स्व. श्रीमती सुषमा स्वराज जी को उनकी जयंती पर सादर नमन।

    * नीतिन गडकरनी ने अपने ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करते हुए लिखा कि सुषमा स्वराज जी की जयंती पर विनम्र अभिवादन।

    * कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा कि सरलता और सादगी की मूरत एवं पूर्व विदेश मंत्री 'पद्मविभूषण' श्रीमती सुषमा स्वराज जी की जयंती पर सादर नमन।

    बता दें कि गुरुवार की शाम में केंद्र सरकार ने दुनियाभर में फैले भारतीय समुदाय से संपर्क के प्रमुख सांस्कृतिक केंद्र 'प्रवासी भारतीय केंद्र' का नामकरण 'सुषमा स्वराज भवन' करने का फैसला लिया। विदेश मंत्रालय ने 13 फरवरी यानी सुषमा स्वराज के जन्मदिन से एक दिन पहले यह जानकारी दी।

    और भी...

  • Pulwama Attack: पीएम मोदी, राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि, देखें जवानों की पूरी लिस्ट

    Pulwama Attack: पीएम मोदी, राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने दी श्रद्धांजलि, देखें जवानों की पूरी लिस्ट

    Pulwama Attack : पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी देश शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहा है। आज ही के दिन 14 फरवरी को 40 केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की आतंकी हमले में शहादत हो गई थी। देश भर में सीआरपीएफ के बहादुरों जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरे दिन कई आयोजन किए जाएंगे। सीआरपीएफ ने भी ट्वीट कर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है। सीआरपीएफ ने ट्वीट कर लिखा कि उन शहीदों को श्रद्धांजलि दी जिन्होंने राष्ट्र के लिए अपना बलिदान दिया।

    पीएम नरेंद्र मोदी ने शहीदों दी श्रद्धांजलि

    पीएम मोदी ने कहा कि पिछले साल भीषण पुलवामा हमले में जान गंवाने वाले बहादुर शहीदों को श्रद्धांजलि। वे असाधारण व्यक्ति थे जिन्होंने हमारे राष्ट्र की सेवा और रक्षा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत उनकी शहादत को कभी नहीं भूलेगा।

    गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं 

    सीआरपीएफ ने ट्वीट कर लिखा कि तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं। हम नहीं भूले, हमने नहीं भुलाया : हम अपने उन भाइयों को सलाम करते हैं जिन्होंने पुलवामा में राष्ट्र की सेवा में अपने जीवन का बलिदान दिया। प्रेरित, हम अपने बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं।

    राजनाथ सिंह ने जवानों को दी श्रद्धांजलि 

    राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि 2019 में आज के दिन पुलवामा में सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गये थे। भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट है और हम इस खतरे के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं। भारत हमेशा हमारे बहादुरों और उनके परिवारों का आभारी रहेगा जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता और अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया।

    राहुल गांधी ने उठाया सवाल 

    आज जैसा कि हमें पुलवामा हमले में हमारे 40 सीआरपीएफ शहीदों को याद करते हैं, हमें पूछें: 

    1. हमले से सबसे ज्यादा किसे फायदा हुआ? 

    2. हमले में जांच का परिणाम क्या है? 

    3. बीजेपी सरकार में से किसने अभी तक हमले की अनुमति देने वाली सुरक्षा चूक के लिए जवाबदेह ठहराया है?

    शहीद सीआरपीएफ जवानों की पूरी लिस्ट 

    * हेड कांस्टेबल नसीर अहमद (जम्मू और कश्मीर) 

    * कांस्टेबल सुखजिंदर सिंह (पंजाब) 

    * हेड कांस्टेबल जयमल सिंह (पंजाब) 

    * कांस्टेबल रोहिताश लांबा (राजस्थान) 

    * कांस्टेबल तिलक राज (हिमाचल प्रदेश) 

    * हेड कांस्टेबल विजय सोरेंग (झारखंड) 

    * कांस्टेबल वसंत कुमार वीवी (केरल) 

    * कांस्टेबल सुब्रमण्यम जी (तमिलनाडु) 

    * कांस्टेबल मनोज कुमार बेहरा (ओडिशा) 

    * कांस्टेबल जीडी गुरु एच (कर्नाटक) 

    * हेड कांस्टेबल नारायण लाल गुर्जर (राजस्थान) 

    * कांस्टेबल महेश कुमार (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल प्रदीप कुमार (उत्तर प्रदेश) 

    * हेड कांस्टेबल हेमराज मीणा (राजस्थान) 

    * हेड कांस्टेबल पीके साहू (ओडिशा) 

    * कांस्टेबल रमेश यादव (उत्तर प्रदेश) 

    * हेड कांस्टेबल संजय राजपूत (महाराष्ट्र) 

    * कांस्टेबल कौशल कुमार रावत (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल प्रदीप सिंह (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल श्याम बाबू (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल अजीत कुमार आजाद (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल मनिंदर सिंह अत्री (पंजाब) 

    * हेड कांस्टेबल बबलू संतरा (पश्चिम बंगाल) 

    * कांस्टेबल अश्वनी कुमार काओची (मध्य प्रदेश) 

    * कांस्टेबल राठौड़ नितिन शिवाजी (महाराष्ट्र) 

    * कांस्टेबल भागीरथ सिंह (राजस्थान) 

    * कांस्टेबल वीरेंद्र सिंह (उत्तराखंड) 

    * हेड कांस्टेबल अवधेश कुमार यादव (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल रतन कुमार ठाकुर (बिहार) 

    * कांस्टेबल पंकज कुमार त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल जीत राम (राजस्थान) 

    * कांस्टेबल अमित कुमार (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल विजय कृ। मौर्य (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल कुलविंदर सिंह (पंजाब) 

    * हेड कांस्टेबल मनेश्वर तलवार (असम) 

    * सहायक उप निरीक्षक मोहन लाल (उत्तराखंड) 

    * हेड कांस्टेबल संजय कुमार सिन्हा (बिहार) 

    * हेड कांस्टेबल राम वेकेल (उत्तर प्रदेश) 

    * कांस्टेबल सुदीप विश्वास (पश्चिम बंगाल) 

    * कांस्टेबल शिवचंद्रन (तमिलनाडु)

    सीआरपीएफ काफिले को आतंकियों ने विस्फोटक से लदी एसयूवी निशाना बनाया 

    बता दें कि 14 फरवरी 2019 को लगभग दोपहर तीन बजे 70 वाहनों के सीआरपीएफ के काफिले को विस्फोटक से लदी एसयूवी से निशाना बनाया था। विस्फोटक से भरी एसयूवी से जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी ने सीआरपीएफ के वाहन को टक्कर मार दी थी।

    जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। बाद में हमलावर की पहचान आदिल अहमद डार के रूप में हुई थी। आदिल अहमद के तार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े थे। हमले की जिम्मेदारी भी जैश-ए-मोहम्मद ने ही ली थी।

    और भी...