ब्रेकिंग न्यूज़
  • कोरोना संक्रमण के मद्देनजर गृह मंत्री 6 अगस्त को नहीं मनाएंगे अपना जन्मदिन
  • जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एनकाउंटर के दौरान जैश का आतंकी ढेर
  • Delhi Air Pollution: दिल्ली में वायु प्रदूषण से मिली थोड़ी राहत, AQI में आई थोड़ी सी गिरावट
  • Breaking: गोवा में MiG-29K फाइटर एयरक्राफ्ट क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
  • भीमा कोरेगांव विवाद: पुणे कोर्ट से सभी आरोपियों को दिया बड़ा झटका, जमानत याचिका की खारिज
  • भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण

देश

  • शराब नहीं मिलने से पानी में सैनिटाइजर मिलाकर पी गए युवक, 9 लोगों की मौत

    शराब नहीं मिलने से पानी में सैनिटाइजर मिलाकर पी गए युवक, 9 लोगों की मौत

    प्रकाशम। आंध्र प्रदेश के प्रकाशम जिले में लॉकडाउन के कारण शराब के शौकीन परेशान हैं। जिले में कुछ लोगों ने शराब नहीं मिलने के कारण सैनिटाइजर को पानी में मिलाकर पी लिया था। जिसके बाद 9 लोगों की मौत हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोना वायरस की वजह से यहां लॉकडाउन लगा हुआ है। जिस कारण शहर व इसके आसपास के सभी गांवों में शराब की दुकानें पिछले दस दिनों से बंद हैं। ऐसे में शराब के शौकीनों ने सैनिटाइजर का ही सेवन करना शुरू कर दिया है।

    आपको बता दें की सैनिटाइजर पीने से तीन लोगों की बीते गुरुवार को ही मौत हो गई थी। जबकि 6 लोगों की मौत आज हुई है। इन मृतकों में तीन भिखारी भी शामिल हैं। सैनिटाइजर पीने के बाद इन भिखारियों के पेट में अचानक तेज जलन की समस्या शुरू हो गई थी। जिसके बाद एक की तुरंत मौत हो गई, जबकि दूसरे को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है। 

    वहीं बताया जा रहा है कि एक व्यक्ति ने देसी शराब में सैनिटाइजर मिला उसे पी गया। जिसके बाद वह अपने घर पर बेहोश होकर गिर पड़ा। अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी सांसे थम गई थी। पुलिस अब यह पता लगाने की कोशिश में जुटी है, कि क्या इसी तरह की शिकायतों के साथ और भी लोगों को अस्पताल में ले जाया गया है या नहीं।

    और भी...

  • राम मंदिर के स्थल पर जमीन के 2 हजार फीट नीचे डालेगा टाइम कैप्सूल, जानिए वजह...

    राम मंदिर के स्थल पर जमीन के 2 हजार फीट नीचे डालेगा टाइम कैप्सूल, जानिए वजह...

    अयोध्या। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने का कहना है कि उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर के स्थल पर जमीन के करीब 2 हजार फीट नीचे टाइम कैप्सूल रखा जाएगा। ताकि, जब कोई भी राम मंदिर के इतिहास का अध्ययन करना चाहे तो उसे केवल राम जन्मभूमि से संबंधित तथ्य ही मिलें।

    बता दें पीएम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। शिलान्यास समारोह के लिए अयोध्या में तैयारियां जोरों पर हैं। इस अवसर पर होने वाले कार्यक्रम की सरकारी चैनल दूरदर्शन पर लाइव स्ट्रीम भी की जाएगी।

    मिली जानकारी के मुताबिक, 5 अगस्त 2020 को राम मंदिर के 'भूमि पूजन' समारोह के लिए जिन लोगों को आमंत्रित किया जा रहा हैं। उनमें भाजपा के सीनियर नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और आरएसएस चीफ मोहन भागवत का नाम शामिल है।

    बीते रविवार को इस बात की जानकारी मंदिर के ट्रस्टी ने दी। बताया जा रहा है कि कुल मिलकर इस कार्यक्रम में 150 लोग शामिल होंगे। इस प्रोग्राम के दौरान सामाजिक दूरी का पालन किया जाएगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक सदस्य अनिल मिश्रा ने बताया कि आमंत्रित लोगों की सूची को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है।

    और भी...

  • केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी खरीद में बोली नहीं लगा पाएंगी चीन, जानिए पूरा मामला

    केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, सरकारी खरीद में बोली नहीं लगा पाएंगी चीन, जानिए पूरा मामला

    भारत और चीन के बीच पिछले कुछ दिनों से सीमा विवाद चल रहा है। इसी विवाद को देखते हुए केंद्र कि मोदी सरकार ने देश की रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा फैसला लिया है।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र के फैसले के अनुसार, चीन समेत भारतीय जमीन से जुड़े देशों की कंपनियां राष्ट्रीय सुरक्षा से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तौर से जुड़ी सरकारी खरीद में बोली नहीं लगा पाएंगी। इस संबंध में केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने विस्तृत आदेश भी जारी कर दिया है।

    केंद्रीय वित्त मंत्रालय के द्वारा जारी आदेश के अनुसार, यह फैसला भारत के साथ जमीन साझा करने वाले सभी देशों पर लागू होगा। आदेश के तहत अगर कोई देश सक्षम प्राधिकारी के साथ पंजीकृत होता है तो वह जमीन खरीद के लिए बोली लगा सकता है। अन्यथा कोई भी देश जमीन के लिए बोली नहीं लगा सकेगा।

    मिली जानकारी के अनुसार पंजीकरण के लिए सक्षम प्राधिकरण उद्योग और आंतरिक व्यापार को बढ़ावा देने के लिए विभाग की ओर से पंजीकरण समिति गठित की जाएगी। जानकारी मिली है कि जमीन की बोली लगाने के लिए कंपनियों को विदेश और केंद्रीय गृह मंत्रालय से राजनीतिक और सुरक्षा मंजूरी अनिवार्य रूप से लेनी होगी।

    रिपोर्ट के मुताबिक, इस आदेश के दायरे में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थान, स्वायत्त निकाय, केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों और सार्वजनिक प्राइवेट भागीदारी परियोजनाएं, सरकार या इसके उपक्रमों से वित्तीय सहायता प्राप्त इकाइयां आएंगी। आदेश में कहा गया है कि राज्य सरकारें भी भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं।

    और भी...

  • अस्पतालों ने गर्भवती महिला को भर्ती करने से किया इनकार, ऑटो में दिया बच्चे को जन्म, नवजात की मौत

    अस्पतालों ने गर्भवती महिला को भर्ती करने से किया इनकार, ऑटो में दिया बच्चे को जन्म, नवजात की मौत

    कोरोना संकट से जूझ रहे देश में एक बार फिर दुखद घटना सामने आई है। बेंगलुरु के केसी जनरल अस्पताल के बाहर इलाज नहीं मिलने के कारण एक नवजात बच्चे की मौत हो गई है। यहां पर एक गर्भवती महिला को इलाज के लिए ऑटो से लेकर उसके परिजन भटकते रहे, लेकिन तीन सरकारी अस्पतालों ने जगह नहीं होने की बात कहकर गर्भवती महिला को एडमिट नहीं किया। लेकिन प्रसव पीड़ा अधिक बढ़ती रही और महिला ने ऑटो में बच्चे का जन्म दे दिया। लेकिन इलाज नहीं मिलने की वजह से बच्चे की मौत हो गई।

    मीडिया से मिली रिपोर्ट के मुताबिक, गर्भवती महिला को श्रीरामपुरा सरकारी अस्पताल, विक्टोरिया अस्पताल और वनिविलास अस्पताल ने भर्ती करने से इनकार कर दिया। इन सभी अस्पतालों ने कहा कि उनके पास महिला को भर्ती करने के लिए बेड उपलब्ध नहीं है। बता दें कि विक्टोरिया अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल बनाया गया है। शहर में विल्सन गार्डन गर्भवती महिलाओं के लिए समर्पित एक अस्पताल है।

    खबरों की मानें तो महिला के परिजन कोरोना संकट से निपटने के लिए पहले से ही शहर में सुबह तीन बजे से अस्पताल में बेड की तलाश के लिए संघर्ष कर रहे थे। 6 घंटे के संघर्ष के बाद भी उन्हें बेड उपलब्ध नहीं हो पाया। तब महिला ने ऑटो में ही बच्चे को जन्म दे दिया। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ट्वीट कर मामले को प्रकाश में लाया और राज्य के सीएम बीएस येदियुरप्पा से अपील की कि वे इस मुद्दे पर उचित कार्रवाई करें।

    और भी...

  • पीएम नरेंद्र मोदी 5 अगस्‍त को करेंगे अयोध्‍या में राम मंदिर का भूमि पूजन

    पीएम नरेंद्र मोदी 5 अगस्‍त को करेंगे अयोध्‍या में राम मंदिर का भूमि पूजन

    अयोध्‍या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्‍त को अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन में शामिल होंगे। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से प्रधानमंत्री कार्यालय को 3 और 5 अगस्‍त की तारीख भेजी गई थी। पीएमओ ने 5 अगस्‍त को चुन लिया है।

    मिली जानकारी के मुताबिक, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस भूमि पूजन में शिरकत करेंगे। शनिवार को राम मंदिर ट्रस्‍ट की बैठक के बाद दो तारीखें तय की गई थीं। शनिवार को सर्किट हाउस में हुई बैठक में चंपत राय के अलावा अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, कामेश्वर चौपाल, नृत्यगोपाल दास, गोविंद देव गिरी महाराज और दिनेंद्र दास समेत दूसरे ट्रस्टी मौजूद रहे।

    और भी...

  • एसा क्या हुआ की बहू को करनी पड़ी बुजुर्ग सास की हत्या, जैन मंदिर के बाहर भीख मांगती थी मृतक महिला

    एसा क्या हुआ की बहू को करनी पड़ी बुजुर्ग सास की हत्या, जैन मंदिर के बाहर भीख मांगती थी मृतक महिला

    महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां एक बुजुर्ग सास की बहू ने हत्या कर दी है। दोनों के बीच तनातनी रहा करती थी। वहीं दूसरी तरफ पुलिस का कहना है की बहू सास की संपत्ति हड़पना चाहती थी। मृतक महिला एक जैन मंदिर के बाहर भीख मांगती थी, जबकि मुंबई में उसने 3 फ्लैट किराए पर उठाए हुए थे।

    मुंबई के चेंबूर में झगड़े के बाद अपनी 70 वर्षीय सास की हत्या करने के आरोप में बहू को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मृतक महिला एक जैन मंदिर में भीख मांगने के बावजूद कई फ्लैट किराया लेती थी, जो कि उसके पास था।

    संपत्ति के लिए लालच और अक्सर झगड़े के चलते सास की हत्या चेंबूर के पेस्टम सागर कॉलोनी में हत्या कर दी। मृतक की पहचान संजना पाटिल के रूप में की गई। जिसे गंभीर चोटों के साथ राजावाड़ी अस्पताल लाया गया।

    हालांकि, रहस्यमय मौत की जांच करने पर पुलिस ने पाया कि संजना के दत्तक पुत्र दिनेश पाटिल की पत्नी अंजना दिनेश पाटिल ने उसकी हत्या कर दी थी। पीड़ित जैन मंदिर के बाहर भीख मांगता है पीड़िता के पति का कुछ साल पहले निधन हो गया था। इस दंपति की कोई संतान नहीं थी इसलिए उसने अपने पति के भाई के बेटे दिनेश को गोद लिया।

    उनके पास चार फ्लैट थे- दो चेम्बर में और दो वर्ली में थे। उसने तीन फ्लैट किराए पर लिए थे और चौथे में अपने दत्तक पुत्र और उसकी पत्नी के साथ रहती थी। संजना शहर के घाटकोपर इलाके में एक जैन मंदिर के बाहर भिक्षा मांगने के बावजूद फ्लैटों को किराए पर देती थी।

    और भी...

  • मुख्यमंत्री की करीबी स्वप्ना सुरेश और साथी संदीप के साथ NIA ने किया गिरफ्तार, जानिए क्या है मामला

    मुख्यमंत्री की करीबी स्वप्ना सुरेश और साथी संदीप के साथ NIA ने किया गिरफ्तार, जानिए क्या है मामला

    केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के करीबी मानें-जानें वाली स्वप्ना सुरेश और उसके साथी संदीप नायर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोना तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया है।

    मिली रिपोर्ट के मुताबिक स्वप्ना सुरेश के परिवार के सदस्यों को भी जांच एजेंसी ने हिरासत में लिया गया है। अधिकारियों का कहना है कि स्वप्ना सुरेश और उसके साथी को आज ट्रांजिट रिमांड पर तिरुवनंतरपुरम लाया जाएगा। यहां पर दोनों की लोकल कोर्ट में पेश किया जाएगा। सोना तस्करी में नाम सामने आने के बाद दिनों आरोपी फरार चल रहे थे।

    आपको बता दें की सोना तस्करी मामले में दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी से कुछ ही समय पहले केरल के पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहेरा ने एनआईए और सीमा शुल्क विभाग की मदद के लिए विशेष टीम का गठन किया था।

    गौरतलब है कि सीमा शुल्क विभाग ने बीपी 5 जुलाई को केरल के तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर 30 किलो सोना सेट किया गया था। इस सोने कि कीमत 15 करोड़ रुपये आंकी गई थी। इसे राजनयिक कंसाइनमेंट में छिपाकर रखा गया था। इस मामले के संबंध में कस्टम ने दुबई की एक पूर्व वाणिज्य अधिकारी स्वप्रा सुरेश को मुख्य आरोपी बताया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कस्टम का कहना है कि सोने की तस्करी के तार दुबई के महावाणिज्य दूतावास संबंधित एक राजनीतिक खेल से जुड़े हैं।

    और भी...

  • देश की बढ़ती जनसंख्या को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री का बड़ा बयान, कहा- लाना होगा जनसंख्या नियंत्रण कानून

    देश की बढ़ती जनसंख्या को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री का बड़ा बयान, कहा- लाना होगा जनसंख्या नियंत्रण कानून

    केंद्रीय गृह मंत्री गिरिराज सिंह ने आज देश की बढ़ती जनसंख्या को लेकर बड़ा बयान दिया है। केंद्रीय गृह मंत्री गिरिराज सिंह का कहना है कि बढ़ती जनसंख्या हमारे लिए एक चुनौती बन गई है। 

    मिली जानकारी के मुताबिक, उनका कहना है कि यदि हम विकसित देशों के साथ खड़े होना चाहते हैं तो हमें जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना होगा। उनका कहना है कि देश में एक सख्त अधिनियम सभी के लिए लिए लागू होना चाहिए, चाहे वे किसी भी धर्म जाति हो।

    आपकी जानकरी के लिए आपको बता दें कि गिरिराज सिंह का बयान ऐसे समय पर सामने आया है जब आज विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जा रहा है। बता दें कि विश्व जनसंख्या दिवस सबसे पहले 11 जुलाई 1989 को मनाया गया था। उस समय विश्व की आबादी 5 बिलियन के करीब थी। इस जनसंख्या दिवस को मनाने का उद्देश्य भी जनसंख्या संबंधी समस्याओं व चुनौतियों से निपटने के लिए कारगर नीतियां व उपायों को क्रियान्वित करना है।

    और भी...

  • मुख्यमंत्री आवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

    मुख्यमंत्री आवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

    जयपुर। राजस्थान में शुक्रवार को एक आरोपी की वजह से पूरे पुलिस कंट्रोल रूम में खलबली मच गई है। आरोपी ने राजस्थान की राजधानी जयपुर में मुख्यमंत्री आवास को बम से उड़ाने की धमकी दी थी। हालांकि धमकी देने के कुछ ही देर बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन गिरफ्तारी से पहले उसने पुलिस की परेशानी जरूर बढ़ा दी थी। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है और राजस्थान सीएम हाउस की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है।

    आपको बता दें की पुलिस कंट्रोल रूम में सीएम हाउस को बम से उड़ाने को लेकर धमकी भरा फोन आया था। इसके बाद से ही जयपुर पुलिस एक्शन में आ गई और फौरन आरोपी को अरेस्ट कर लिया गया। पुलिस ने आरोपी को जमवा रामगढ़ के पापड़ गांव से गिरफ्तार किया है। फिलहाल आरोपी को विधायकपुरी थाना में रखा गया है।

    जिस समय जयपुर में सीएम हाउस को बम से उड़ाने की धमकी भरा फोन उस समय आनंदपाल एनकाउंटर को लेकर जांच की मांग की जा रही है। 6 जुलाई को राजपूत महासभा ने आनंदपाल एनकाउंटर की सीबीआई जांच को नकारते हुए दोबारा निष्पक्ष जांच की मांग की गई है। इस मौके पर राजपूत नेताओं ने बीजेपी के विधायकों को चेताया भी कि उनकी चुप्पी आगे आने वाले चुनाव में भारी पड़ेगी।

    बता दें की राजपूत महासभा ने चेतावनी दी है कि अगर आनंदपाल एनकाउंटर की निष्पक्ष जांच नहीं होती है और उसके बाद हुई हिंसा में राजपूत नेताओं पर दर्ज मुकदमों को खत्म नहीं किया जाता है तो राजपूत समाज फिर से आंदोलन करेगा।

    और भी...

  • जानिए क्यों महेंद्रगढ़ वासियों ने लगाया जानलेवा सड़क का होर्डिंग, आखिर क्या है इसके पीछे का राज

    जानिए क्यों महेंद्रगढ़ वासियों ने लगाया जानलेवा सड़क का होर्डिंग, आखिर क्या है इसके पीछे का राज

    महेंद्रगढ़। शहर से होकर गुजरने वाला नेशनल हाईवे नंबर 148 बी अब जानलेवा बन गया है। यह बात अब महेंद्रगढ़ की जनता भी कहने लगी है। कुछ इसी को इशारा करता हुआ एक बड़ा होर्डिंग भी महेंद्रगढ़वासियों ने फ्लाइओवर के पास लगवा दिया है। जिसमें लिखा है कि यह सड़क गत आठ-दस महीनों में 20 लोगों की जान ले चुकी है, अपनी जिम्मेदारी पर चलें। सड़क में गड्ढे नहीं, लगता है गड्ढों में सड़क है।

    आपको बता दें की शहर से गुजरने वाला नेशनल हाईवे नंबर 148 बी महज 7 मीटर ही चौड़ा है। इस हाइवे पर नारनौल बाईपास से दादरी के पास तक की लंबाई करीब 40 किलोमीटर है, जो बिल्कुल टूट गया है। दादरी की ओर से महेंद्रगढ़ आते समय जहां से टूटा रोड शुरू हो जाए तथा गाड़ी में बैठे लोगों को झटके लगने शुरू हो जाए, समझो की महेंद्रगढ़ आ गया। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। करीब दो साल से इस 40 किलोमीटर लंबे नेशनल हाईवे की ओर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। न तो पीडब्ल्यूडी विभाग इसको ठीक कर रहा है व न ही नेशनल हाईवे अथॉरिटी इस ओर कोई ध्यान दे रही है।

    पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यह नेशनल हाईवे अथॉरिटी के अंडर में आ गया है। इसलिए इसका काम भी नेशनल हाईवे अथॉरिटी ही करेगा। करीब 6 साल पहले 2014 में हुड्डा सरकार में ही खरक बौंद से पनिहाला मोड़ तक नेशनल हाइवे बनाने की घोषणा की गई थी। जिसका नाम नेशनल हाइवे नंबर 148 बी रखा गया था। जिसके लिए जमीन अधिग्रहण का काम भी उसी सरकार में शुरू हो गया था। यह काम भाजपा सरकार में भी जारी था। इसके चलते नांगल चौधरी से महेंद्रगढ़ तक जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया था। वहीं महेंद्रगढ़ से दादरी तक की जमीन का भी अधिग्रहण बाद में किया गया है। मगर 5 साल गुजर जाने के बाद भी यह नेशनल हाईवे बन नहीं पाया है। मौजूदा भाजपा सरकार ने इस हाइवे के प्रारुप में कुछ बदलाव भी किया, मगर इसके बनाने की प्रक्रिया बहुत ही धीमी गति से चलती रही है। इस हाईवे पर नांगल चौधरी से नारनौल तक केवल नया रोड बनाने का काम हुआ है। वहीं दादरी से बधवाना के पास तक भी इसको चौड़ा करने का काम किया गया है। इसके अलावा अन्य जगह पर इस पर काम ही नहीं हुआ है।

    ग्रीन काॅरिडोर के कारण अटक गया काम

    जानकाराें की माने तो इस हाईवे का काम अब सरकार द्वारा घोषित नए ग्रीन काॅरिडोर के कारण भी अटक गया है। सरकार का कहना है कि जब जींद से लेकर नारनौल तक नया ग्रीन काॅरिडोर बनाया जा रहा है तो इस हाईवे का क्या काम। जिसके बाद से इस पर काम नहीं हो पाया।

    टूट गया है नेशनल हाईवे

    यह नेशनल हाईवे पूरा टूट गया है। जिसके कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। शहर महेंद्रगढ़ में भी यह रोड सतनाली मोड, बिजली विभाग के कार्यालय, फ्लाइओवर के पास टूट गया है। जिसके कारण यहां के लोग पूरा दिन धूल फांकते रहते हैं। यहां रोड पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। जिसके कारण वाहन चालकों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है।

    और भी...

  • लगातार बढ़ रहा है कोरोना, पिछले 24 घंटे में सामने आए 25 हजार से ज्यादा नए मामले

    लगातार बढ़ रहा है कोरोना, पिछले 24 घंटे में सामने आए 25 हजार से ज्यादा नए मामले

    Coronavirus India: भारत में लगातार कोरोना के मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा हैं। बीते गुरुवार यानी कल 1 दिन में 25000 नए मामले सामने आए है। जिन्होंने एक नया रिकॉर्ड खड़ा कर दिया है। covid19india.org के मुताबिक, भारत में बीते गुरुवार को 25000 से ज्यादा नए मामले सामने आए यह पहली बार है। जब देश में एक नया रिकॉर्ड सामने आया है। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने 3 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर दी है।

    मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे ज्यादा खराब हालत महाराष्ट्र और तमिलनाडु की है। महाराष्ट्र में गुरुवार को 6875 और तमिलनाडु में 4231 नए केस सामने आए है। जबकि भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 7 लाख 94 हजार 196 हो गई है।

    हालांकि, रिकवर होने वाले लोगों की संख्या अब तक 495909 हो चुके हैं। बीते गुरुवार को 19356 लोग ठीक हुए है। वहीं दूसरी तरफ अब तक 21622 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरी तरफ देश में अब तक एक्टिव मामलों की संख्या 276564 हो गई है, जिसमें से बीते 24 घंटे में 478 लोगों की मौत हो चुकी है।

    नया रिकॉर्ड बनने के दौरान केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दावा किया है कि देश में कोरोना वायरस का अभी कमिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है। लेकिन वहीं दूसरी तरफ अब लगातार जो लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हो रहे हैं। वह अपना प्लाज्मा डोनेट कर रहे हैं। इसमें बीजेपी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल हो गए हैं।

    आपको बता दें की गुजरात में 7,581 कोरोना वायरस के मामले, 277 की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने प्रेस वार्ता में कहा कि सक्रिय मामलों और भारत में संक्रमण से उबरने वालों के बीच का अंतर उत्तरोत्तर बढ़ रहा है। देश में पुनर्प्राप्त मामले सक्रिय मामलों की तुलना में लगभग 2 गुना अधिक हैं।

    गुजरात के सूरत में सबसे अधिक 307 कोविद मामलों की एक दिवसीय स्पाइक दर्ज की गई है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि गुजरात के सूरत जिले में 307 कोरोनावायरस मामलों में सबसे अधिक एक दिन का स्पाइक दर्ज किया गया, जिसमें संक्रमण बढ़कर 7,581 हो गया, जबकि मरने वालों की संख्या छह से 277 हो गई।

    जबकि अमेरिका ने 55,000 से अधिक नए मामले दर्ज किए गए है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने आर्थिक संबंधों को ताज़ा करने और यूएस-मैक्सिको-कनाडा व्यापार समझौते को शुरू करने के लिए, आंशिक रूप से अमेरिका में हिस्पैनिक प्रवासी से वोट हासिल करने के लिए बोली लगाने के लिए मेक्सिको के आंद्रेस मैनुअल लोपेज़ ओब्रेडोर की मेजबानी की। टेक्सास में रिपब्लिकन कन्वेंशन भी राज्य में बढ़ते मामलों के कारण रद्द कर दिया गया था।

    और भी...

  • एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे, कानपुर मुठभेड़ केस का मुख्य आरोपी था विकास

    एनकाउंटर में मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे, कानपुर मुठभेड़ केस का मुख्य आरोपी था विकास

    कानपुर। कानपुर मुठभेड़ केस का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है। इस खबर की आधिकारिक पुष्टि हो चुकी है। यूपी एसटीएफ की टीम विकास दुबे को लेकर जैसे ही कानपुर पहुंची, वह गाड़ी में सुरक्षाकर्मियों के पिस्टौल छीनने लगा। इसी बीच बैलेंस बिगड़ने के बाद गाड़ी पलट गई। गाड़ी पलटते ही विकास दुबे भागने लगा और पुलिस पर फायरिंग भी की। सुरक्षाकर्मियों ने भी अपने बचाव में गोलियां चलाईं, जिसके बाद विकास दुबे गंभीर रूप से घायल हो गया। सुरक्षाकर्मी उसे लेकर जल्दी अस्पताल पहुंचे। थोड़ी देर बाद डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया। इससे पहले कानपुर में टोल प्लाजा पर जैसे ही यूपी एसटीएफ की गाड़ियों का काफिला विकास दुबे को लेकर पहुंचा था, अन्य गाड़ियों के आवागमन को रोक दिया गया था।

    आपको बता दें कि देर रात 3:13 बजे झांसी के रक्सा टोल प्लाजा पर एसटीएफ टीम की गाड़ियों का काफिला पहुंचा और तेज गति से आगे के लिए रवाना हो गया। काफिले के पहुंचते ही झांसी पुलिस अलर्ट हो गई और टोल प्लाजा पर ट्रैफिक को रोक दिया। झांसी के रक्सा टोल पर एसपी सिटी राहुल श्रीवास्तव, एसपी ग्रामीण राहुल मिठास सहित कई थानों का पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा। माना जा रहा है कि एसटीएफ की सुरक्षा को देखते हुए ट्रैफिक को टोल पर ही रोका गया था।
     
    'काल' से बचने के लिए महाकाल की शरण में पहुंचा विकास दुबे? 

    आपको बता दें की गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन में कानपुर मुठभेड़ केस का आरोपी विकास दुबे को गिरफ्तार किया गया था, एसटीएफ सड़क मार्ग से लेकर उसे कानपुर के लिए रवाना हो गई थी। कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में विकास दुबे मुख्य आरोपी था जो कई दिनों से फरार चल रहा था।

    और भी...

  • फरीदाबाद में कुछ रिश्तेदारों के यहां छिपा है विकास दुबे, पकड़ा गया गैंगस्टर का साथी

    फरीदाबाद में कुछ रिश्तेदारों के यहां छिपा है विकास दुबे, पकड़ा गया गैंगस्टर का साथी

    फरीदाबाद। विकास दुबे की तलाश में STF और पुलिस जुटी हुई है। पुख्ता सूत्रों के मुताबिक विकास दुबे के फरीदाबाद में होने की जानकारी मिली है। पुलिस के सूत्रों के अनुसार विकास फरीदाबाद में अपने किसी रिश्तेदार के घर रूका हुआ था। विकास दुबे के साथ उसका दोस्त प्रभात मिश्रा भी था। विकास के साथ फरीदाबाद में प्रभात मिश्रा भी था। प्रभात मिश्रा विकास दुबे का करीबी है। वहीं अंकुर गिरफ्तार हो गया है।

    आपको बता दें की विकास दुबे फरीदाबाद में 2-3 दिन रुका हुआ था। Oyo होटल के अलावा नहर पार की न्यू इंदिरा कॉलोनी में अपने कुछ दूर के रिश्तेदारों के यहां भी विकास दुबे रुका था। फरीदाबाद की स्पेशल क्राइम टीम में अब तक 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 

    कार्तिकेय उर्फ प्रभात की भी गिरफ्तारी हुई है। कार्तिकेय उर्फ प्रभात भी गोलीकांड में विकास दुबे के साथ था। प्रभात से 4 हथियार भी बरामद हुए हैं। जिनमें से 2 सरकारी पिस्टल यूपी पुलिस की हैं। पुख्ता सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक फरीदाबाद पुलिस आज दोपहर 12 बजे के करीब प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी और इसकी पूरी जानकारी देगी।

    और भी...

  • विद्यानंद कालोनी स्थित फैक्टरी में बिहार के प्रवासी मजदूर की मौत, फैक्टरी मालिक पर लगा आरोप

    विद्यानंद कालोनी स्थित फैक्टरी में बिहार के प्रवासी मजदूर की मौत, फैक्टरी मालिक पर लगा आरोप

    पानीपत। पानीपत की विद्यानंद कालोनी स्थित फैक्टरी में बिहार प्रवासी मजदूर की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। वहीं मृतक के साढू की शिकायत पर पुलिस ने फैक्टरी मालिक पर मंगलवार को गैर इरादन हत्या के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

    जानकारी के अनुसार थाना चांदनी बाग पुलिस को दी शिकायत में अर्जुन कुमार ने बताया कि उदय कुमार पानीपत की विद्यानंद कालोनी स्थित एक फैक्टरी में मजदूर के रूप में कार्यरत था। वहीं अर्जुन के पास बिहार से मोबाइल फोन पर उदय की फैक्टरी के अंदर मौत हो जाने की जानकारी आई। अर्जुन जब फैक्टरी पहुंचा तो उदय का शव फैक्टरी के बाहर पड़ा हुआ था। फैक्टरी मालिक ने बताया कि उदय की बिजली का करंट लगने से मौत हो गई है।

    अर्जुन ने थाना चांदनी बाग पुलिस को दी शिकायत में बताया कि फैक्टरी मालिक ने उदय की हत्या की और शव को फैक्टरी से बाहर फैंकते हुए इसे बिजली करंट का मामला बना दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि छाजपुर फीडर से कोई कट विद्यानंद कालोनी क्षेत्र में नहीं लगा था। जबकि फैक्टरी मालिक का कहना है कि ट्रांसफार्मर से बिजली कट लगा था। अर्जुन का आरोप है कि उदय बिजली संबंधी काम नहीं जानता था, फिर वह ट्रांसफार्मर पर क्यों जाएगा।

    इधर, घटना की सूचना मिलने पर थाना चांदनी बाग पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। पुलिस ने उदय के एक हाथ से तांबे का तार व दूसरे हाथ से प्लास बरामद किया। पुलिस का भी यही मानना है कि उदय की मौत बिजली का करंट लगने से हुई है, वहीं पुलिस ने जांच पूरी कर उदय के शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए पानीपत के सिविल अस्पताल भिजवा दिया।

    जबकि अर्जुन की शिकायत पर उदय की मौत के मामले में फैक्टरी मालिक पर गैर इरादन हत्या के आरोप में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने बताया कि उदय की मौत की जांच शुरू कर दी गई है, वहीं इस मामले में फैक्टरी मालिक पर केस दर्ज है, पुलिस की जांच में आरोपित के दोषी पाए जाने पर उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

    और भी...

  • 10 पुलिसकर्मियों का चौबेपुर थाने किया ट्रांसफर, सौ घंटे बाद भी पुलिसवालों का हत्यारा विकास दुबे फरार

    10 पुलिसकर्मियों का चौबेपुर थाने किया ट्रांसफर, सौ घंटे बाद भी पुलिसवालों का हत्यारा विकास दुबे फरार

    कानपुर एनकाउंटर के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। जिसके बाद पुलिसलाइन से 10 पुलिसकर्मियों का चौबेपुर थाने में ट्रांसफर किया है। वहीं दूसरी तरफ 100 घंटे के बाद भी पुलिस के हाथ से पुलिस वालों का हत्यारा विकास दुबे फरार है।

    मीडिया से मिली रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के कानुपर देहात में 8 पुलिस जवानों की हत्या का दोषी 100 घंटे के बाद भी फरार हो गया है। अभी भी पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। विकास दुबे अबतक फरार है।

    आपकी जानवकारी के लिए बता दें कि पुलिस प्रशासन ने चौबेपुर थाने में बड़ा बदलाव किया है। यहां पर पुलिसलाइन से 10 पुलिसकर्मियों को थाने के अंदर तैनात किया है। साथ ही आने वाले दिनों में थाने से कोई बड़ी जानकारी सामने आ सकती है। 2001 में कानपुर देहात के शिवली पुलिस स्टेशन के अंदर भाजपा नेता संतोष शुक्ला की हत्या के चार महीने बाद भगोड़े गैंगस्टर विकास दुबे ने उनके साथ कई राजनेताओं के साथ अदालत में आत्मसमर्पण किया था। 

    राजनेताओं ने आत्मसमर्पण के समय अदालत में उसका साथ दिया था। उनका इशारा यह सुनिश्चित करना था कि वह पुलिस की पकड़ में ना आए। लेकिन मनोज शुक्ला ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पुलिस अधिकारियों पर पूरा भरोसा है। जो अब आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के लिए विकास दुबे को दोषी मानते हैं। जो उसे सजा देंगे।

    और भी...