ब्रेकिंग न्यूज़
  • गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में सख्त पहरा, बढ़ाई गई सुरक्षा व्यवस्था
  • 10वीं की परीक्षाएं 15 अप्रैल और 12वीं की 3 मई से, पहली बार अपने ही स्कूल में पर्चे हल करेंगे छात्र
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मना रहा देश, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ने किया याद

देश

  • अमित शाह ने PM मोदी के बांग्लादेश दौरे का किया जिक्र, ममता को जवाब देते हुए बोले...

    अमित शाह ने PM मोदी के बांग्लादेश दौरे का किया जिक्र, ममता को जवाब देते हुए बोले...

    केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि असम और पश्चिम बंगाल में मतदान शांतिपूर्ण और सकारात्मक हुआ है। एक व्यक्ति की भी मृत्यु नहीं हुई है। मुझे लगता है कि पश्चिम बंगाल में हमारी सरकार 30 में से 26 से भी ज्यादा सीटें जीत रही है। हम असम में भी 47 सीटों में से 37 से ज्यादा सीटें जीतेंगे। उन्होंने कहा कि दहशत थी कि हर बार की तरह गुंडे इस बार भी चुनाव को प्रभावित करेंगे। बंगाल में चुनाव आयोग को सफलतापूर्वक चुनाव कराने में सफलता मिली है। बंगाल के चुनाव में हिंसा आम बात हो गई थी। कई सालों के बाद यह पहला चुनाव है जब एक भी बम नहीं फटा है, एक भी गोली नहीं चली है।

    मुझे विश्वास है कि भाजपा 200 से ज्यादा सीटों के साथ पश्चिम बंगाल में सरकार बनाएगी। असम में भी हम पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे। राज्य में आठ चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं। शाह ने कहा कि सोनार बांग्ला की अपनी परिकल्पना के साथ भाजपा ने राज्य के लोगों के बीच एक बेहतर पश्चिम बंगाल की उम्मीद जगाई है। उन्होंने बंगाल में प्रथम चरण के चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से कराने को लेकर चुनाव आयोग का आभार जताते हुए कहा कि मैं हिंसाग्रस्त पश्चिम बंगाल में शांतिपूर्ण चुनाव कराने को लेकर निर्वाचन आयोग को धन्यवाद देना चाहता हूं।

    केंद्रीय गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दिवसीय बांग्लादेश दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि इससे दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध मजबूत होंगे और इसका चुनावों से कोई लेना-देना नहीं है। प्रधानमंत्री के बांग्लादेश दौरे पर उनके संबोधन की तृणमूल कांग्रेस द्वारा आलोचना किये जाने पर शाह ने यह कहा। भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि असम में जमीनी स्तर से प्राप्त जानकारी के मुताबिक राज्य में प्रथम चरण के चुनाव में 47 सीटों में से 37 पर भाजपा जीत दर्ज करेगी।

    और भी...

  • तिहाड़ जेल में बनाया गया कोरोना टीकाकरण केंद्र, जल्द शुरू होगा टीकाकरण

    तिहाड़ जेल में बनाया गया कोरोना टीकाकरण केंद्र, जल्द शुरू होगा टीकाकरण

    दिल्ली कारागार विभाग ने तिहाड़ जेल में रविवार को कोरोना टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। दिल्ली के कारागारों में 60 वर्ष से ज्यादा उम्र के 326 कैदी हैं। वहीं 45-59 आयु वर्ग के 300 से ज्यादा कैदी ऐसे हैं, जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं। राष्ट्रीय टीकाकरण अभियान के तहत फिलहाल ये दो वर्ग टीका लगवाने के दायरे में आते हैं। अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को जेल संख्या तीन में केंद्रीय कारागार अस्पताल में यह केंद्र स्थापित किया गया। जेल अधिकारियों ने बताया कि तिहाड़, रोहिणी और मंडोली जेलों के 70 से 80 कैदियों को अब तक टीके लगाए गए हैं।

    कैदियों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत 18 मार्च से हुई

    महानिदेशक (कारागार) संदीप गोयल ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो मंडोली जेल में भी टीकाकरण केंद्र खोला जाएगा। इससे पहले तिहाड़ जेल के कैदियों को टीकाकरण के लिए दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया जा रहा था। कैदियों के लिए टीकाकरण अभियान की शुरुआत 18 मार्च से हुई और पहले दिन 13 कैदियों को टीके की खुराक दी गई।

    कैदियों के परिवार व्हाट्सऐप के जरिए भेजेंगे दस्तावेज

    जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि टीकाकरण के दायरे में आने वाले कैदियों के परिवारों को व्हाट्सऐप के जरिए जरूरी दस्तावेज भेजने को कहा गया था, ताकि टीकाकरण के लिए उनका पंजीकरण हो सके। अधिकारी ने बताया कि टीका लेने वाले किसी भी कैदी में प्रतिकूल प्रभाव देखने को नहीं मिले हैं। अधिकारी ने कहा कि कई ऐसे कैदी हैं जिनके पास टीकाकरण प्रक्रिया के लिए जरूरी कागजात नहीं हैं इसलिए उनका चयन टीकाकरण के लिए नहीं हो सका। फिलहाल अभी इसका हल खोजा रहा है।

    और भी...

  • अगर आपको भी है किसी से प्यार, तो आपके लिए भी है दिल्ली सरकार का तोहफा

    अगर आपको भी है किसी से प्यार, तो आपके लिए भी है दिल्ली सरकार का तोहफा

    दिल्ली सरकार ने अंतरजातीय या फिर गैर-मजहबी शादी करने वाले जोड़ों को बड़ी खुशखबरी दी है। किसी दूसरे धर्म में शादी करने वालों और ऐसे कुंवारे जोड़ों के लिए सेफ हाउस बनाने का निर्देश दिया है जिनके रिश्ते का विरोध उनका परिवार, स्थानीय समुदाय या खाप कर रहा है। सरकार के मुताबिक, अगर किसी अंतर-जातीय या फिर गैर-मजहबी शादी करने वाले जोड़ों को धमकियां दी जा रही हैं तो उनको सेफ हाउस में रखा जाएगा।

    ऐसे जोड़े मदद के लिए दिल्ली महिला आयोग के टोल फ्री नंबर 181 पर कॉल कर सकते हैं। दिल्ली सरकार कॉल करने वालों की गोपनीयता का ध्यान वैसे ही रखेगी जैसे संकट में पड़ी महिलाओं की गोपनीयता का रखा जाता है। हालांकि, कॉल आने के बाद सबसे पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि शिकायतकर्ता बालिग है या नहीं। इसके बाद इलाके के डिप्टी पुलिस कमिश्नर को सूचना दी जाएगी।

    इस संबंध में एसओपी यानी स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर भी जारी कर दी गई है। दिल्ली सरकार की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि जिन जोड़ों के रिश्ते का विरोध उनका परिवार, स्थानीय समुदाय या खाप कर रहा है, उन्हें सेफ हाउस मुहैया कराया जाएगा। इतना ही नहीं इन जोड़ों के लिए एक 24 घंटे काम करने वाला हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया जाएगा।

    डीसीपी ही स्पेशल सेल के प्रमुख के तौर पर काम करेंगे। डीसीपी पूरे मामले की जानकारी इलाके के जिलाधिकारी को देंगे और यह बताएंगे कि जोड़े को सेफ हाउस में रहना है की नहीं। जोड़े को पीएसओ के रूप में पर्याप्त सुरक्षा दी जाएगी और खतरे के बारे में बताया जायेगा और किसी भी सूरत में समस्या का समाधान होने से पहले उन्हें उजागर नहीं किया जाएगा।

    और भी...

  • 67 साल के शख्स के पेट से निकला 59 फीट का कीड़ा, प्राइवेट पार्ट से निकला गया

    67 साल के शख्स के पेट से निकला 59 फीट का कीड़ा, प्राइवेट पार्ट से निकला गया

    थाईलैंड से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक 67 साल के शख्स ने पेट में दर्द और पेट फूलने की शिकायत की। इसके बाद उसके पेट से 59 फीट कीड़ा (परजीवी) पाया गया, जिसे किसी तरह पीछे के रास्ते से निकाला गया। इस मामले को देख डॉक्टर्स भी हैरान रह गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह मामला थाईलैंड के नोंगखाई प्रांत का है, 'द सन' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स को काफी समय से दर्द की शिकायत थी। उसने अस्पताल में जाकर जब चेक कराया तो कुछ ऐसा हुआ जिसकी उम्मीद किसी ने नहीं की थी।

    थाईलैंड के नोंगखाई प्रांत में पैरासिटिक डिजीज रिसर्च सेंटर में उन्होंने इसकी जांच कराई। जांच के दौरान शख्स के प्राइवेट पार्ट में परजीवी पाया गया। रिसर्च सेंटर के प्रवक्ता ने बताया कि 18 मीटर से अधिक लंबा परजीवी पाया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, डॉक्टरों ने बताया कि यह परजीवी कच्चा मांस खाने से पेट में पहुंच जाता है और ये 30 से अधिक वर्षों तक मनुष्यों में रह सकते हैं। हालांकि वर्तमान में वे बहुत लंबे समय तक जीवित नहीं रहते हैं क्योंकि बेहतर दवा उपलब्ध है।

    फिलहाल यह परजीवी बहुत लंबा निकला है। इसकी लंबाई 59 फीट बताई गई है। इसे निकालने में डॉक्टर्स को समय लगा। पहले मरीज को जांच के बाद दवा दी गई। फिर इसे पीछे के रास्ते से बाहर निकाला गया। डॉक्टर्स ने बताया कि हमें इसे निकालने में समय लगा क्योंकि यह बहुत लंबा था। फिलहाल मरीज की हालत बेहतर बताई जा रही है। मरीज को खानपान को लेकर भी सलाह दी गई है।

    और भी...

  • दिल्ली पुलिस ने एनकाउंटर में कुख्यात अपराधी कुलदीप फज्जा को मार गिराया, 2 लाख का था इनाम

    दिल्ली पुलिस ने एनकाउंटर में कुख्यात अपराधी कुलदीप फज्जा को मार गिराया, 2 लाख का था इनाम

    दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हाथ एक बड़ी कामयाबी लगी है। दिल्ली पुलिस ने कुख्यात अपराधी कुलदीप फज्जा को एनकाउंटर में मार गिरया है। आपको बता दें कि स्पेशल सेल ने दिल्ली के रोहिणी में कुलदीप फज्जा और उसके साथियों को स्पॉट किया था। पुलिस टीम ने जब फज्जा को रोका तो उसने पुलिस पर गोली चला दी जिसके बाद जवाबी फायरिंग में फज्जा को पुलिस ने मार गिराया। एनकाउंटर के दौरान दोनों तरफ से कई राउंड फायरिंग हुई। इस दौरान दिल्ली पुलिस स्पेशल के अफसर बाल-बाल बच गए। पुलिस के कुछ जवानों को बुलेटप्रूफ जैकेट में गोली लगी।

    जानकारी के मुताबिक, कुलदीप फज्जा पिछले दो दिन से रोहिणी सेक्टर-14 के तुलसी अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर डी-9 में छिपा हुआ था। उसके साथ उसके दो साथी योगेंद्र और भूपेंद्र भी मौजूद थे जो उसकी मदद कर रहे थे। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल टीम ने इन दोनों को मौके से गिरफ्तार किया है।

    पेशी के दौरान हुआ था फरार बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन की टीम कुलदीप को जेल से जीटीबी अस्पताल लेकर आई थी। वहां उसका मेडिकल होना था। तभी वहां एक स्कोर्पियो कार और बाइक पर सवार होकर आधा दर्जन के करीब बदमाश पहुंचे थे। इन बदमाशों ने पुलिस बटालियन के इंचार्ज पर मिर्ची पाउडर फेंक दिया था। इससे पहले पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते ठीक उसी वक्त बदमाशों ने कुलदीप को छुड़ाने के लिए पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी और गोलीबारी का फायदा उठाकर शातिर बदमाश कुलदीप वहां से लेकर भाग निकले थे।

    पेशी के दौरान हुआ था फरार बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन की टीम कुलदीप को जेल से जीटीबी अस्पताल लेकर आई थी। वहां उसका मेडिकल होना था। तभी वहां एक स्कोर्पियो कार और बाइक पर सवार होकर आधा दर्जन के करीब बदमाश पहुंचे थे। इन बदमाशों ने पुलिस बटालियन के इंचार्ज पर मिर्ची पाउडर फेंक दिया था। इससे पहले पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते ठीक उसी वक्त बदमाशों ने कुलदीप को छुड़ाने के लिए पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी और गोलीबारी का फायदा उठाकर शातिर बदमाश कुलदीप वहां से लेकर भाग निकले थे।

    दिल्ली पुलिस की जवाबी फायरिंग के दौरान कुलदीप को छुड़ाने आए बदमाशों में एक पुलिस की गोली का शिकार हुआ जिसके चलते उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कुलदीप, कुख्यात बदमाश जितेंद्र गोगी गैंग का सदस्य था। उस पर हत्या जैसे 70 से अधिक केस दर्ज थे। वो दिल्ली और हरियाणा से वांटेड था। दिल्ली पुलिस ने उस पर 2 लाख का इनाम रखा था।

    और भी...

  • शराब पिलाकर 14 साल की नाबालिग मासूम से किया गैंगरेप, मामले में जांच कर रही पुलिस

    शराब पिलाकर 14 साल की नाबालिग मासूम से किया गैंगरेप, मामले में जांच कर रही पुलिस

    जोधपुर। राजस्थान में रेप के मामले कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। प्रदेश में एक के बाद एक घिनौनी घटनाएं दरिंदे अंजाम देते जा रहे हैं। अब ऐसी ही एक घिनौनी और शर्मसार कर देनेवाली घटना जोधपुर से सामने आ रही है। यहां दरिंदों ने एक 14 साल की नाबालिग मासूम को पहले शराब पिलाई और फिर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। जोधपुर जिले के बालेसर थाना क्षेत्र में हुई इस घटना ने सभी को शर्मसार कर दिया है। गैंगरेप के बाद बच्ची की तबियत बिगड़ गई, जिसके बाद शहर के उम्मेद अस्पताल में उसे भर्ती करवाया गया है। इस बीच बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष ने गैंग रेप मामले पर संज्ञान लेकर पुलिस से जवाब तलब किया है। पुलिस मामले में जांच कर रही है।

    पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया

    दरसअल, जोधपुर ग्रामीण पुलिस के बालेसर थाना क्षेत्र स्थित उताम्बर गांव मे एक 14 साल की नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई है। अतिरिक्त पुलिस अधिकारी सुनील ने बताया कि शिकायत मिली कि दो युवकों ने बच्ची को अगवा कर एक ज्वेलर्स की दुकान में नाबालिग बच्ची को शराब पिलाकर गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया है। उटाम्बर के श्रवण व प्रकाश नाम के दो युवकों ने बीते शुक्रवार की शाम 4 बजे नाबालिग बच्ची के साथ गैंगरेप किया है। घटना के बाद नाबालिग बच्ची की तबियत बिगड़ गई। जिनके बाद पुलिस ने एक आरोपी को हिरासत में ले लिया है।

    मामले में जांच तेज करने के निर्देश

    इस बीच गैंगरेप की घटना की जानकारी मिलने के तुरंत बाद बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल भी मौके पर पहुंची। बच्ची से मुलाकात के बाद उन्होंने पुलिस प्रशासन से मामले की जानकारी मांगी। उन्होंने कहा कि गैंगरेप की सूचना पर वो जयपुर से सीधे अस्पताल पहंचे है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार जल्द से जल्द काम पूरा कर लीजिए।

    और भी...

  • गोपालगंज में भीषण सड़क दुर्घटना, एक ही परिवार के 4 लोगों की दर्दनाक मौत

    गोपालगंज में भीषण सड़क दुर्घटना, एक ही परिवार के 4 लोगों की दर्दनाक मौत

    बिहार के गोपालगंज जिले के महम्मदपुर थाना क्षेत्र स्थित डुमरियाघाट महासेतु पर भीषण सड़क दुर्घटना हो गई है। जिसमें एक ही परिवार के 4 लोगों की दर्दनाक मौतें हो गई हैं। डुमरियाघाट महासेतु पर शुक्रवार की देर रात को यह भीषण सड़क दुर्घटना हुई है। यहां एक मिर्ची से लदा ट्रक और कार आमने-सामने से एक-दूसरे से टक्करा गया है। बताया जा रहा है कि यह परिवार देश की राजधानी दिल्ली से बिहार के सहरसा जिले में स्थित घर पर होली का त्योहार मनाने के लिए लौट रहा था। मरने वालों में पति-पत्नी और एक बेटी और बेटा शामिल हैं।

    इस दुर्घटना के बारे में जानकारी मिल रही है कि देश की राजधानी दिल्ली से एक परिवार कार में सवार होकर डुमरियाघाट महासेतु से गुजरकर सहरसा के लिए जा रहा था। इस दौरान सामने से आ रहे मिर्ची लदे एक अनियंत्रित ट्रक ने कार में टक्कर मार दी। इस भीषण सड़क हादसे में दो लोगों ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। जबकि इस हादसे के बाद अस्पताल ले जाने के क्रम में गंभीर रूप से जख्मी दो लोगों ने दम तोड़ दिया।

    महम्मदपुर थाना अध्यक्ष मिथिलेश कुमार पांडेय के अनुसार दुर्घटनाग्रस्त ट्रक और कार को पुलिस द्वारा जब्त कर लिया गया है। पुलिस शवों को घटनास्थल से अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गोपालगंज भिजवाने की तैयारी कर रही है। इस हादसे के संबंध में अभी प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा सकी है।

    और भी...

  • अचानक बिगड़ी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तबीयत, आर्मी अस्पताल में किया गया भर्ती

    अचानक बिगड़ी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की तबीयत, आर्मी अस्पताल में किया गया भर्ती

    नई दिल्ली। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की अचानक शुक्रवार को तबीयत बिगड़ गई है। राष्ट्रपति को सीने में दर्द की शिकायत हुई जिसको बाद उन्हें आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें की आर्मी अस्पताल की ओर से एक बयान जारी किया गया है जिसके मुताबिक, राष्ट्रपति कोविंद की हालत अभी स्थिर है। 

    आपको बात दें की राष्ट्रपति का रूटीन चेकअप किया गया है। एक बयान में शुक्रवार को नई दिल्ली में सेना के अनुसंधान और रेफरल (R&R) अस्पताल ने कहा कि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को सीने में तकलीफ की शिकायत के बाद भर्ती कराया गया था। राष्ट्रपति का नियमित परीक्षण किया गया और अब वह निगरानी में हैं। 

    प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) से जानकारी दी गई, कि राष्ट्रपति कोविंद के अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी पाकर पीएम मोदी ने उनके बेटे से फोन पर बात की है और राष्ट्रपति का हाल-चाल जाना है। पीएम ने राष्ट्रपति के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की है।

    और भी...

  • स्कूल में कोविड प्रोटोकॉल की अवहेलना पर SDM ने स्कूल को किया सिल

    स्कूल में कोविड प्रोटोकॉल की अवहेलना पर SDM ने स्कूल को किया सिल

    करनाल। गांव रांवर के ग्रीनवुड पब्लिक स्कूल में कोविड-19 प्रोटोकॉल की अवहेलना किए जाने पर करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा ने स्कूल को सील कर दिया है। इतना ही नहीं स्कूल संचालकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत तथा डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 की धारा 51 से 60 के अंतर्गत दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

    गत दिवस एसडीएम कोविड-19 के संबंध में निरीक्षण के लिए ग्रीनवुड पब्लिक स्कूल रांवर में पहुंचे तो वहां न तो बच्चों ने और न ही अध्यापकों ने मास्क पहना हुआ था और कोविड-19 प्रोटोकॉल की अवहेलना की जा रही थी। ऐसा करके स्कूल के छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य को खतरे में डाला जा रहा है। ड्यूटी मैजिस्ट्रेट की रिपोर्ट के आधार पर उपायुक्त ने करनाल के एसडीएम को तुरंत प्रभाव से ग्रीनवुड पब्लिक स्कूल को सील करने के निर्देश जारी किए। कोरोना के बढ़ते केसों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन द्वारा स्कूलों की चैकिंग निरंतर जारी है, स्कूलों पर कड़ी नजर रहेगी, जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

    और भी...

  • हिमाचल प्रदेश में 4 अप्रैल तक स्कूल-कॉलेज बंद, होली के कार्यक्रमों पर भी लगी रोक

    हिमाचल प्रदेश में 4 अप्रैल तक स्कूल-कॉलेज बंद, होली के कार्यक्रमों पर भी लगी रोक

    हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने स्कूल, कॉलेज और तकनीकी संस्थान को चार अप्रैल तक बंद कर दिया है। आपको बता दें कि प्रदेश में आज कोरोना के 315 नए मामले सामने आए हैं। वहीं स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षक और अन्य स्टाफ आएगा। सीएम जयराम ठाकुर ने आज को आपदा प्रबंधन के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में यह निर्णय लिया। आपको बता दें कि सोलन जिसे में कोरोना के 47 मामले सामने आए हैं वहीं सिरमौर में 37, हमीरपुर में 23, बिलासपुर 17, शिमला में 12, चंबा में 5, कुल्लू 4, मंडी 3, और किन्नौर में एक संक्रमित मरीज मिला है।

    ये स्कूल खुलेंगे

    वहीं उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों और कॉलेजों में परीक्षाएं चल रही हैं उनमें भी छात्र और स्टाफ आएगा। बोर्डिंग स्कूलों में होस्टल सुविधा जारी रहेगी। होली को लेकर कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाएंगे। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपील करते हुए कहा कि लोग घरों में ही अपने परिवार के साथ होली मनाएं। होली के सार्वजनिक कार्यक्रम भी नहीं होंगे।

    सार्वजनिक कार्यक्रमों पर भी रहेगी रोक

    सरकार ने सांस्कृतिक-धार्मिक कार्यक्रमों और सार्वजनिक लंगरों पर भी रोक लगा दी गई है। निजी कार्यक्रमों में 200 से ज्यादा लोग शिरकत नहीं करेंगे या इंडोर कार्यक्रमों में क्षमता के 50 प्रतिशत लोग ही आ सकेंगे। वहीं सीएम ने लोगों से अपील की कि लोग अपने घरों में ही रहें तथा घरों से बाहर निकलकर होली खेलने से बचें। जिससे कोरोना को हराया जा सके। इससे आगे सीएम ने कहा कि कोरोना एक बार फिर से पकड़ बना रहा है। घरों से बार निकलते समय मास्क पहनकर जाएं।

    और भी...

  • मोस्ट वांटेड आरोपी को गिरफ्तार करने में मिली सफलता, एनडीपीएस एक्ट मामलों में था शामिल

    मोस्ट वांटेड आरोपी को गिरफ्तार करने में मिली सफलता, एनडीपीएस एक्ट मामलों में था शामिल

    सीआईए डबवाली पुलिस टीम ने महत्वपूर्ण सुराग जुटाते हुए एनडीपीएस एक्ट मामलें में मोस्ट वांटेड आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इस संबंध में जानकारी देते हुए सीआईए डबवाली प्रभारी सब इंस्पेक्टर अजय कुमार ने बताया कि पकड़े गए आरोपी की पहचान दीप सिंह उर्फ बब्बी पुत्र सुखमंदर सिंह निवासी पन्नीवाला मोरिकां जिला सिरसा के रुप में हुई है।

    उन्होंने बताया कि सीआईए डबवाली के सहायक उप निरीक्षक अमित कुमार के नेतृत्व में एक पुलिस टीम ने महत्वपूर्ण सूचना के आधार पर राजस्थान के रायला क्षेत्र में दबिश देकर आरोपी दीप सिंह उर्फ बब्बी को काबू किया। डबवाली सीआईए प्रभारी ने बताया कि बीती 21 अप्रैल 2020 को जिला की सीआईए डबवाली पुलिस ने शहर डबवाली क्षेत्र से स्कोर्पियो व बुलेरो गाड़ियों से पांच क्विंटल 18 किलो चूरापोस्त बरामद किया था और इस संबंध में आरोपियों के खिलाफ शहर डबवाली में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर जांच शुरू की गई थी।

    उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपी दीप सिंह उर्फ बब्बी के खिलाफ चार मामले मादक पदार्थ अधिनियम व एक मामला जानलेवा हमला करने सहित पांच मामले दर्ज है जिसमें से तीन मामले शहर डबवाली व दो मामले सदर डबवाली में दर्ज है। सीआईए डबवाली प्रभारी ने बताया कि पकड़े गए आरोपी को अदालत में पेश कर रिमांड पुलिस हिरासत हासिल किया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान आरोपी दीप सिंह उर्फ बब्बी से चूरापोस्त तस्करी के इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालूम कर उन्हे भी गिरफ्तार किया जाएगा।

    और भी...

  • सौतेली मां और भाइयों ने दिल दहलाने देने वाली घटना को दिया अंजाम, दो मासूमों के साथ किया ये काम

    सौतेली मां और भाइयों ने दिल दहलाने देने वाली घटना को दिया अंजाम, दो मासूमों के साथ किया ये काम

    राजधानी पटना से सटे दानापुर से एक बड़ी ही दर्दनाक खबर सामने आई है। जहां संपत्ति विवाद के चलते दो मासूम भाइयों की निर्मम हत्या कर दी गई है। जानकारी के अनुसार नेउरा थाना क्षेत्र के मखदुमपुर से 3 दिन पहले दो मासूम भाइयों अनीश कुमार और शिवम कुमार का अपहरण कर लिया गया। जिनके शुक्रवार को शव बरामद हुए है। अपहरण करने के बाद मासूमों की हत्या करने का आरोप उनके दो सौतेले भाई गुलशन और सौरभ पर लगा है। पुलिस ने इस मामले में दोनों सौतेले भाइयों समेत अपहरण और हत्या की साजिश रचने वाली सौतेली मां को अरेस्ट कर लिया है।

    जानकारी मिल रही है कि बदमाशों ने अपहरण के बाद ही दोनों मासूमों की हत्या कर दी थी। बदमाशों ने एक मासूम की लाश को बोरी में बंद करके पुनपुन नदी के पास सोन केनाल में फेंक दिया। वहीं दूसरे मासूम के शव को जानीपुर थाना क्षेत्र के धराई चक में रोड किनारे फेंक दिया गया था। पुलिस ने दोनों मासूमों शवों को बरामद कर अपने कब्जे में ले लिया है और दानापुर अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। अपहरणकर्ताओं की गिरफ्तारी के बाद दोनों बच्चों की लाशें बरामद की गई हैं।

    पुलिस जानकारी के अनुसार विनोद सिंह ने दूसरी शादी भी रचा ली। जिसके बाद दोनों पत्नियों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद छिड़ गया। पुलिस ने अपहरण और हत्या में शामिल विनोद कुमार की पहली पत्नी सुनीता देवी व उसके दोनों बेटों गुलशन कुमार और सौरभ कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पुलिस इस वारदात में शामिल रहे अन्य आरोपियों की खोज में जुटी है।

    दोनों मासूमों की हत्या कर दिए जाने की सूचना मिलते ही परिजनों में चीख-पुकार मच गई है। मृतकों के पिता विनोद का आरोप है कि उनकी पहली पत्नी व उसके दोनों बेटों ने मिलकर गांव के ही हरेन्द्र सिंह के सहयोग से दोनों मासूम बेटों की हत्या को अंजाम दिया है। परिजनों ने पुलिस की लापरवाही के चलते भी अगवा दोनों मासूमों की निर्मम हत्या हो जाने के आरोप लगाए हैं। परिजनों ने इस दर्दनाक वारदात को अंजाम देने वाले दोषियों को फांसी की सजा दिलवाए जाने की मांग उठाई है।

    और भी...

  • बन्दूक की नोक पर डेढ़ किलो सोना और 25 लाख रुपये नकद की लूट, आरोपी फरार

    बन्दूक की नोक पर डेढ़ किलो सोना और 25 लाख रुपये नकद की लूट, आरोपी फरार

    बरवाला थाना एरिया के गांव सरसौद के पास बृहस्पतिवार की रात बदमाशों ने बन्दूक के बल पर डेढ़ किलो सोना तथा 25 लाख रुपये की नकदी लूट ली और फरार हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस टीम मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस की कई टीमें लुटेरों की तलाश में जुट गई है। 

    जानकारी के अनुसार पंजाब के मोगा में रहने वाले ज्वेलर्स गुलशन गर्ग सोना लेने के लिए हिसार की राजगुरु मार्केट में आए हुए थे इस दौरान उनके साथ कार चालक और उनके यहां काम करने वाली महिला सहकर्मी भी साथ थी। राजगुरु मार्केट से डेढ़ किलो सोना लेकर वापस लौट रहे थे। अभी भी वे हिसार से निकलकर नेशनल हाईवे 52 पर बिचपड़ी सरसोद गांव के पास ही पहुंचे तो पीछे से आ रही एक फॉर्च्यूनर गाड़ी ने उन्हें रास्ते में रोक लिया। उसमें से चार बदमाश निकले जो पिस्तौल लिए हुए थे। उन्होंने ज्वेलर्स गुलशन गर्ग की गाड़ी का शीशा तोड़ दिया और पिस्तौल के बल पर गाड़ी के चालक व महिला सहकर्मी और गुलशन को पास में ले गए। जहां बदमाशों ने उन्हें डराया धमकाया। इसके बाद बदमाशों ने गाड़ी की डिग्गी में रखें डेढ़ किलो सोने तथा 25 लाख रुपये की नकदी लूट ली।

    वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए। ज्वेलर्स ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए सीआईए तथा बरवाला थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। इसी बीच डीएसपी रोहताश कुमार भी पहुंच गए और मामले की जानकारी ली।

    डीएसपी ने बताया कि पुलिस ने चार अज्ञात बदमाशों पर लूट की इस वारदात को अंजाम देने का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है जल्द ही मामले का खुलासा भी कर देगी।

    और भी...

  • एक झटके में कबाड़ी की पत्नी बनी 1 करोड़ रुपये की मालकिन, जानिए पूरी खबर

    एक झटके में कबाड़ी की पत्नी बनी 1 करोड़ रुपये की मालकिन, जानिए पूरी खबर

    नई दिल्ली। कहते हैं ऊपर वाला जब किसी पर मेहरबान होता है तो उसकी किस्मत बदलने में ज्यादा समय नहीं लगता है। वो कहावत है ना 'ऊपर वाला जब भी देता है छप्पर फाड़ के देता है'। यह कहावत चंडीगढ़ में रहने वाली एक महिला के लिए बिल्कुल फिट बैठती है। दरअसल, पंजाब के बाघापुराना में कबाड़ी का काम करने वाला एक परिवार रातों रात करोड़पति बन गया। परिवार में रहने वाली आशा ने पंजाब स्टेट डियर की मात्र 100 रुपये की लॉटरी में अपनी किस्मत आजमाई। उनकी किस्मत इतनी धनी निकली और जो इनाम उन्हें मिला शायद वो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा। आशा ने 100 रुपये में लॉटरी की टिकट खरीदी थी।

    इनाम की राशि लॉटरी विभाग ने एक करोड़ रुपये निर्धारित की

    विभाग के अधिकारियों के पास टिकट और अन्य जरूरी दस्तावेज जमा करवाए लॉटरी की विजेता आशा ने बुधवार को चंडीगढ़ में विभाग के अधिकारियों के पास टिकट और अन्य जरूरी दस्तावेज जमा करवा दिए हैं। इस दौरान आशा रानी ने कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी यह नहीं सोचा था कि वे एक दिन करोड़पति बन जाएंगी। उनके और परिवार के लिए यह सपने के साकार होने जैसा है। उनके पति बाघापुराना में कबाड़ की दुकान करते हैं। दोनों बेटे दुकान में काम करते हैं।

    इनामी राशि से अपन घर बनवाएंगी आशा

    आशा रानी (61) ने कहा कि सबसे पहले वे इनामी राशि से अपना नया घर बनवाएंगी क्योंकि उनका मौजूदा मकान उनके बड़े परिवार के लिए बहुत छोटा है। बाकी रकम का इस्तेमाल पारिवारिक कारोबार के विस्तार में करूंगी। उन्होंने कहा कि यह बड़ी इनामी राशि उनकी आर्थिक तंगी दूर करने में अहम साबित होगी। पंजाब राज लॉटरीज विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि टिकट सी-74263 की विजेता आशा रानी ने बुधवार को दस्तावेज जमा करवा दिए हैं। विभाग के अधिकारियों ने विजेता को भरोसा दिया कि जल्द ही इनामी राशि उनके खाते में डाल दी जाएगी।

    और भी...

  • मुंबई के ड्रीम मॉल में लगी भीषण आग, आग की चपेट में आया तीसरे मंजिल पर बना अस्पताल

    मुंबई के ड्रीम मॉल में लगी भीषण आग, आग की चपेट में आया तीसरे मंजिल पर बना अस्पताल

    मुंबई के भांडुप इलाके में स्थित ड्रीम मॉल में भीषण आग लग गई। इस मॉल की तीसरे मंजिल पर एक अस्पताल भी है जोकि आग की चपेट में आ गया है। इस आग में झुलस कर दो लोगों की मौत हो गई है। कई घायल भी बताएं जा रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सनराइज अस्पताल में करीब 70 मरीज भर्ती थे, जिनमें अधिकतर मरीज कोरोना वायरस से सक्रमित हैं।

    अस्पताल में आग लगने की सूचना मिलने पर तुरंत पुलिस और फायर बिग्रेड की कई गाड़ियां मौके पर पहुंच गईं। फायर ब्रिगेड की सहायता से अस्पताल के भीतर से सभी मरीजों को निकाल कर दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है। घंटों की मशक्कत के बाद आग पर भी काबू पा लिया गया।

    बीती रात लगी आग की जांच की जा रही है। साथ ही अस्पताल के अंदर देखा जा रहा है कि कहीं कोई मरीज तो फंसा नहीं है। जानकारी के अनुसार, डीसीपी प्रशांत कदम ने कहा कि 90 से 95 प्रतिशत मरीजों को बचा लिया गया है। जबकि दो लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

    वहीं मुंबई मेयर ने कहा है कि मैंने पहली बार मॉल के भीतर अस्पताल देखा है। आग किस वजह से लगी है इसका पता लगाया जा रहा है। कोरोना मरीजों समेत अन्य मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

    जानकारी के लिए आपको बता दें कि इससे पहले महाराष्ट्र के भंडारा जिला अस्पताल में आग लगने से 10 शिशुओं की मौत हो गई थी। स्पेशल न्यूबॉर्न केयर यूनिट में आग लगने की वजह से ये हादसा हुआ था।

    और भी...